आल इण्डिया अरोड़ा खत्री पंजाबी कम्युनिटी का प्रथम वार्षिक अधिवेशन पवित्र नगरी वृंदावन में हर्षोउल्लास के साथ सम्पन्न

 


हिसार( राजेश सलूजा/युरेशिया)
गत 2-3 मार्च को आल इण्डिया अरोड़ा खत्री पंजाबी कम्युनिटी का प्रथम वार्षिक अधिवेशन पवित्र नगरी वृंदावन में हर्षोउल्लास के साथ सम्पन्न हुआ.2 मार्च को सुबह की चाय पर आपसी परिचय के साथ अधिवेशन की शुरुआत हुई.नाश्ते के उपरान्त सभी लोग श्री बांके बिहारी मन्दिर व इस्कॉन मन्दिर में राष्ट्रीय  अध्यक्ष सूर्यवंशी कमल हान्डा के नेतृत्व में नाचते गाते गए एवं श्री बांके बिहारी मन्दिर में बिरादरी की सुख सम्रिद्धी के लिए प्रार्थना की.दोपहर के खाने के बाद पहले सत्र की शुरुआत राष्ट्रीय महासचिव कृष्ण कामरा निराला ने बिरादरी के लिए स्वरचित गीत गाकर  की. इस सत्र को लोकसभा की तर्ज पर करवाया गया जिसके बारे में सभी को जानकारी दी. हान्डा जी ने स्पीकर के लिए बीकानेर से सूर्यवंशी प्रेम अनेजा के नाम का प्रस्ताव किया जिसे करतल ध्वनि के साथ पूरे सदन ने पारित कर दिया व मनीष मेहता को मंच संचालन की जिम्मेवारी दी गई.सत्र के दौरान सुरेश अरोड़ा के नेतृत्व में भिवानी से आई हुई टीम ने हान्डा जी को पगड़ी पहना कर ,कार्यक्रम संयोजक प्रदीप दुआ जी को व सहसंयोजक राज कुमार अरोड़ा जी को शॉल ओढ़ा कर सम्मानित किया गया.ये सत्र बहुत लम्बा चला जिसमें सभी ने अपने विचार प्रकट किये.विभिन्न प्रकल्पों में अच्छा कार्य करने वालों को सम्मानित किया गया.शाम को एक बार फिर से विभिन्न मंदिरों में पूजा अर्चना की. रात के खाने के बाद दूसरा सत्र सूर्यवंशी कमल हान्डा जी की अध्यक्षता में निराला जी के संचालन में हुआ.दिन का तीसरा व अन्तिम सत्र दस बजे के बाद शुरू हुआ .2 मार्च को संगठन के राष्ट्रीय अध्यक्ष सूर्यवंशी कमल हांडा जी का जन्मदिन भी होता है इसलिए सबसे पहले हान्डा जी के जन्मदिन का काटकर नाच गा कर खुशी मनाई.सत्र के अन्त में निराला जी ने अपने अंदाज में श्री राम कथा सुना कर मंत्रमुगध कर दिया व अपने साथ सभी को गाने पर मजबूर कर दिया.कथा के बाद सभी गुनगुनाते हुये अपने अपने शयनकक्ष में चले गये.

3 मार्च को सुबह 5-45 पर मंदिर में श्री कृष्ण जी की मंगला  आरती के साथ दिन की शुरुआत हुई.चाय-नाश्ते के बाद दो दिवसीय अधिवेशन के अन्तिम सत्र की शुरुआत हुई.जिसमें कृष्ण कृपा आश्रम के संचालक गीता मनीषी स्वामी ज्ञानानंद जी का अशीर्वाद भी मिला.उसके बाद अधिवेशन की मधुर यादों को समेटे हुये दुबारा फिर मिलने के वायदे के साथ सभी अपने गंतव्य की ओर रवाना हो गये.

Comments

Popular posts from this blog

यूपी पंचायत चुनाव : मेरठ में ग्राम प्रधान पदों की आरक्षण सूची जारी, देखें ब्लॉकवार आरक्षण की सूची

मेरठ में महिला ने तीन बेटियों समेत खुद की गर्दन काटी, एक की मौत

मुरादनगर में दर्दनाक हादसा, अंतिम संस्कार में गए लोगों पर गिरने से 23 की मौत, CM ने मांगी रिपोर्ट