मुख्यमंत्री आरोग्य मेले में ३२३० लोगों ने उपचार का लाभ उठाया

युरेशिया संवाददाता    मेरठ। रविवार को जिले के ५७ प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्रों (पीएचसी) पर मुख्यमंत्री आरोग्य स्वास्थ्य मेले का आयोजन किया गया। पूरे जनपद में करीब ३२३० लोगों ने मेले का लाभ उठाया। आरोग्य मेले के लिये १०७ चिकित्सकों ४४३ पैरा मेडिकल स्टाफ की सेवाएं ली गयीं । इस दौरान ५०७ आयुष्मान कार्ड वितरित किये गये।  मुख्यमंत्री आरोग्य मेले में ११७६  पुरुष, ११६७ महिलाओं,  ३८७ बच्चों ने पंजीकरण कराया। मुख्यमंत्री आरोग्य मेले में १४९४ कोरोना (एंटीजन) जांच की गयी। कोविड हेल्प डेस्क पर २०४१ लोगों का परीक्षण किया गया। स्वास्थ्य मेले में सबसे ज्यादा मरीज ७४५ चर्म रोग के आये।  मेले में मौसमी बीमारियों की जांच के अलावा प्रजनन स्वास्थ्य संबंधी सेवाओं के साथ गर्भवती, बाल और किशोर स्वास्थ्य से जुड़ी जांच पर खास जोर रहा। नवदम्पति को परिवार नियोजन के प्रति जागरूक करते हुए उनकी पसंद के परिवार नियोजन के साधन उपलब्ध कराये गये। मेले में कोविड प्रोटोकाल का पूरी तरह से पालन किया गया।   मुख्य चिकित्सा अधिकारी डा अखिलेश मोहन ने बताया सभी पीएचसी पर आयोजित मेले में १२४६ पुरुषों, १४५४ महिलाओं व ४१९ बच्चों का पं

शिक्षा के साथ-साथ छात्रों को संस्कार देना भी आवश्यक : विधायक सोम


 युरेशिया संवाददाता

फलावदा। उत्तम पब्लिक स्कूल रहावती में आयोजित वार्षिक कार्यक्रम में मुख्य अतिथि के रूप में शामिल हुए भाजपा के विधायक ठाकुर संगीत सोम ने कहा कि उत्तम पब्लिक स्कूल में छात्रों की प्रस्तुति देखकर लगता है कि ऐसे छात्र घर स्कूल व देश का नाम रोशन करेगा। उन्होंने अपने संबोधन में कहा कि ग्रामीण क्षेत्र में छात्रों को शिक्षित बनाने के साथ-साथ माता-पिता में अध्यापकों द्वारा  दिए गए संस्कार व देश की संस्कृति की भी पहचान  कराते है। छात्र पढ़ाई करके आईएएस, आईपीएस, डॉक्टर बन सकते है लेकिन देश का दिया हुआ संस्कार छात्रो की अलग पहचान बनाएगा। भाजपा विधायक ठाकुर संगीत सोम ने कहा कि विदेश में उनकी कई यात्राएं हुई है। विदेश तकनीकी के क्षेत्र में भले ही आगे बढे हो लेकिन भारत के संस्कार व सांस्कृतिक से विदेश 100 साल पीछे है। उन्होंने कहा कि बच्चे मां माता पिता परिवार गांव व स्कूल का अच्छी पढ़ाई करके नाम रोशन करे। विधायक ठाकुर संगीत सोम ने कहा कि ग्रामीण क्षेत्र का बच्चा शालीनता के साथ आगे बढ़ता रहता है। इसलिए ग्रामीण क्षेत्र के बच्चे शहरी क्षेत्र के बच्चों से शारीरिक व मानसिक विकास में भी मजबूत होते है। 

Popular posts from this blog

यूपी पंचायत चुनाव : मेरठ में ग्राम प्रधान पदों की आरक्षण सूची जारी, देखें ब्लॉकवार आरक्षण की सूची

मेरठ में महिला ने तीन बेटियों समेत खुद की गर्दन काटी, एक की मौत

मुरादनगर में दर्दनाक हादसा, अंतिम संस्कार में गए लोगों पर गिरने से 23 की मौत, CM ने मांगी रिपोर्ट