अंर्तराष्ट्रीय महिला दिवस: हमदर्द लैबोरेटरीज ने महिलाओं और डॉक्टरों को किया सलाम

महिलाओं ने निशुल्क परामर्श लेकर हमदर्द वेलनेस सेंटर्स का लाभ उठाया  युरेशिया संवाददाता   गाजियाबाद। महिलाओं और डॉक्टरों के निरंतर सहयोग को सम्मान देने के लिये हमदर्द लैबोरेटरीज वेलनेस कैम्पेन लॉन्च कर अंतराष्ट्रीय महिला दिवस मना रहा है। यह पहल कोविड-19 महामारी के विरुद्ध सुरक्षा की अग्रिम पंक्ति के तौर पर घर की महिलाओं और डॉक्टरों के निरंतर सहयोग और प्रयासों की प्रशंसा करती है। इस पहल पर अपनी बात रखते हुए हमदर्द लैबोरेटरीज (मेडिसिन डिविजन) के चेयरमैन अब्दुील मजीद ने कहा कि हमदर्द का इतिहास कई छोटी-छोटी कहानियों से भरा है। इस कैम्पेन के हिस्से के तौर पर हमदर्द की लोकप्रिय हेल्थस वैन्स पहल गाजियाबाद व मेरठ की महिलाओं को मुफ्त में स्वाथय संबंमधी परामर्श दे रही है। इस पहल के द्वारा हमदर्द की योजना हजारों महिलाओं तक पहुंचने की है। हमदर्द पीसीओ/पीसीओडी और निजी समस्याओं जैसे स्वास्थ्य संबंधी मामलों के इलाज के लिये सही जानकारी की जरूरत को ध्यान में रखकर देशभर में अपने प्रसिद्ध हमदर्द वेलनेस सेंटर्स पर महिलाओं को मुफ्त परामर्श भी देगा। महिला डॉक्टर्स ने सोमवार को इन सेंटर्स पर रेडियो में वीमन ए

वेंक्टेश्वरा संस्थान में बसंतपंचमी (बसन्तोत्सव) पर ’’माँ सरस्वती पूजन एवं सांस्कृतिक संध्या’’

  • "महाराजा सुहैल देव राजभर’’ की प्रतिमा पर पुष्प अर्पित कर महान वीर को नमन किया गया 
  • बसन्त पंचमी विद्या, बुद्धि, संगीत के साथ-2 जीवन में नये रंग एवं उल्लास भरने वाला सबसे बड़ा पर्व- डाॅ0 सुधीर गिरि
  • महाराजा सुहैलदेव राजभर महान पराक्रमी हिन्दू राष्ट्र रक्षक- डाॅ0 राजीव त्यागी


अनीस खान/युरेशिया

मेरठ। आज बसंत पंचमी के पावन पर्व पर श्री वेंक्टेश्वरा विश्वविद्यालय/संस्थान में सरस्वती पूजन एवं सांस्कृतिक संध्या का आयोजन किया गया, जिसमें संस्थान के छात्र-छात्राओ ने माँ शारदे को नमन करते हुए विभिन्न सांस्कृतिक प्रस्तुतियो दी। इसके साथ ही महान राष्ट्रभक्त महाराजा सुहैलदेव की जयन्ती पर उन्हें श्रद्धासुमन भी अर्पित किये गये। वेंक्टेश्वरा विश्वविद्यालय/संस्थान के टैगोर भवन में बसन्तोत्सव पर आयोजित कार्यक्रम का शुभारम्भ विश्वविद्यालय के प्रतिकुलाधिपति डाॅ0 राजीव त्यागी, कुलपति प्रो0 पी0के0 भारती, कुलसचिव डाॅ0 पीयूष पाण्डेय, मेरठ परिसर निदेशक डाॅ0 प्रभात श्रीवास्तव व आदि ने सरस्वती माँ की प्रतिमा पर पुष्प अर्पित करके किया। तत्पश्चात वेंक्टेश्वरा के कुलपुरोहित आचार्य रामनिवास शास्त्री एवं सहआचार्य पं0 अश्विनी शर्मा ने विधिवत माँ सरस्वती की पूजा अर्चना की। इसके बाद संस्थान की छात्राओ ने विद्या, बुद्धिदायिनी, माँ सरस्वती की वंदना प्रस्तुत की। तत्पश्चात् छात्र-छात्राओ ने विभिन्न प्रस्तुतियों देकर सभी को तांलिया बजाने पर मजबूर कर दिया। 

अपने सम्बोधन में प्रतिकुलाधिपति डाॅ0 राजीव त्यागी ने कहा कि आज शिक्षा एवं देश दोनो के लिए ऐतिहासिक दिन है। जहां एक और आज विद्या, बुद्धि एवं संगीत की आराध्य देवी माँ सरस्वती का पूजन दिवस बसन्तपंचमी है। वही दूसरी और महान राष्ट्रभक्त एवं पराक्रमी हिन्दू राष्ट्ररक्षक, महाराजा सुहैलदेव राजाभर जी की 112वीं जयन्ती है, जिन्होने हिन्दूविहीन भारत की बात करने वाले ’’गाजी’’ को मौत के घाट उतार दिया था। वेंक्टेश्वरा विश्वविद्यालय ऐसे महान हिन्द राष्ट्र रक्षक को शत्-शत् नमन करता है। 

बसन्तोत्सव पर आयोजित कार्यक्रम को कुलपति प्रो0 पी0के0 भारती, कुलसचिव डाॅ0 पीयूष पाण्डेय, मेरठ परिसर निदेशक डाॅ0 प्रभात श्रीवास्तव ने भी सम्बोधित किया। इस अवसर पर संयुक्त कुलसचिव डाॅ0 राजेश सिंह, उपनिदेशक दूरस्थ शिक्षा अलका सिंह, विकास कौशिक, अरुण गोस्वामी, डाॅ0 ऐना ब्राउन, डाॅ0 संजय तिवारी, ब्रजपाल, विश्वास त्यागी, दीपक, मीडिया प्रभारी विश्वास राणा आदि लोग उपस्थित रहे।

Popular posts from this blog

यूपी पंचायत चुनाव : मेरठ में ग्राम प्रधान पदों की आरक्षण सूची जारी, देखें ब्लॉकवार आरक्षण की सूची

मेरठ में महिला ने तीन बेटियों समेत खुद की गर्दन काटी, एक की मौत

मुरादनगर में दर्दनाक हादसा, अंतिम संस्कार में गए लोगों पर गिरने से 23 की मौत, CM ने मांगी रिपोर्ट