थाना मवाना पुलिस द्वारा मात्र तीन घण्टे में घर से लापता बच्चा बरामद किया

Image
डॉ0 असलम/युरेशिया मवाना। धनवीर पुत्र विक्रम नि0 कौल थाना मवाना जनपद मेरठ द्वारा सूचना दी गयी कि उनका 14 वर्षीय पुत्र जो स्प्रिंग डेल स्कूल में पढता है घर से स्कूल गया था और वापस घर नही आया है तथा उसके मो0नं0 9528655319 से अपने छोटे भाई अमित के फोन पर व्हाटसअप मैसेज किया गया कि, मैं जा रहा हूँ अब कुछ बनकर ही घर वापस आऊँगा । मुझे तलाश करने की कोशिश मत करना । घर वालो ने किसी अनहोनी की आशंका प्रकट की है और बताया कि हमारा लड़का इस तरह से मैसेज नही कर सकता है । इस सूचना पर थाने से टीम गठित की गयी तथा सर्विलांस सैल की मदद ली गयी । प्राप्त मोबाइल नम्बर की लोकेशन से जो टॉवर लोकेशन मिली थी पुलिस द्वारा आसपास के गांव के जंगल व ट्यूबवैल तथा खाली पडे मकानो में टीम बनाकर ढूंढवाया गया । तो लगभग 3 घण्टे के अथक प्रयास के बाद लडके को कौल गांव के जंगल से सकुशल ढूंढ निकाला गया । पूछने पर लड़के ने बताया कि मेरे टीचर ने प्रोजेक्ट दिया था और मैं उसे पूरा नही कर पाया जिसके कारण मैं स्कूल न जाकर अपने घर से भाग गया था । मुझे डर था कि मेरे पिता मुझे मारेगें । इसलिए मैंने इस प्रकार के मैसेज किये थे ।

11वीं सदीं के बहादुर राजाओं में से एक थे राजा सुहेलदेव: गजेन्द्र सिंह

  • शिवा प्राथमिक पाठशाला में मनाई गई जंयती व बंसत पंचमी पर्व

युरेशिया संवाददाता

हापुड़। नगर क्षेत्र के कलेक्टर गंज स्थित शिवा प्राथमिक पाठशाला में राजा सुहेलदेव जंयती व बंसत पंचवी पर्व मनाया गया। नगर शिक्षाधिकारी , शिक्षकों, अभिभावकों ने दीप प्रज्वलित कर फूल चढ़ाकर शुभकामनाएं दी।

  नगर शिक्षाधिकारी गजेन्द्र सिंह ने कहा कि राजा सुहेलदेव 11वीं सदीं के  श्रावस्ती के बहादुर राजा थे। उन्होने अपनी प्रजा व संस्कृति को बचानें के लिए महत्वपूर्ण युद्ध कर आक्रामणकारियों को हराया था।

    उन्होंने कहा कि राजा सुहेलदेव सुहेलदेव देशभक्त थे,जिन्होंने अपनी संस्कृति व सभ्यता को बचानें के लिए जीवन पर्यन्त संघर्ष कर भारतीय संस्कृति की रक्षा की।

   प्रधानाध्यापिका डॉ.सुमन अग्रवाल ने कहा कि राजा सुहेलदेव अपनी प्रजा के प्रति काफी उदार ,धार्मिक व प्रजा के कल्याण के लिए सदैव तत्पर रहनें वाले शासक थे। उन्होंने अपने शासनकाल में बाहरी आक्रामणकारियों  से भारतीय संस्कृति की रक्षा की। 

   इस अवसर पर स्कूल में शिक्षकों व अभिभावकों ने  बंसत पंचवी पर्व मनाते हुए मां सरस्वती की प्रतिमा पर माल्यार्पण कर पूजन किया।

  इस अवसर पर शिक्षिका नीतू नांरग, लक्ष्मी शर्मा, सरला, सुदेश, रजनी,जानकी आदि उपस्थित थे।

Popular posts from this blog

मेरठ में महिला ने तीन बेटियों समेत खुद की गर्दन काटी, एक की मौत

मवाना में अवैध मीट कटान रोकने गई पुलिस टीम पर हमला 

परीक्षितगढ़ क्षेत्र के ग्राम सिखैड़ा में महिला मिली कोरोना पॉजिटिव