अंर्तराष्ट्रीय महिला दिवस: हमदर्द लैबोरेटरीज ने महिलाओं और डॉक्टरों को किया सलाम

महिलाओं ने निशुल्क परामर्श लेकर हमदर्द वेलनेस सेंटर्स का लाभ उठाया  युरेशिया संवाददाता   गाजियाबाद। महिलाओं और डॉक्टरों के निरंतर सहयोग को सम्मान देने के लिये हमदर्द लैबोरेटरीज वेलनेस कैम्पेन लॉन्च कर अंतराष्ट्रीय महिला दिवस मना रहा है। यह पहल कोविड-19 महामारी के विरुद्ध सुरक्षा की अग्रिम पंक्ति के तौर पर घर की महिलाओं और डॉक्टरों के निरंतर सहयोग और प्रयासों की प्रशंसा करती है। इस पहल पर अपनी बात रखते हुए हमदर्द लैबोरेटरीज (मेडिसिन डिविजन) के चेयरमैन अब्दुील मजीद ने कहा कि हमदर्द का इतिहास कई छोटी-छोटी कहानियों से भरा है। इस कैम्पेन के हिस्से के तौर पर हमदर्द की लोकप्रिय हेल्थस वैन्स पहल गाजियाबाद व मेरठ की महिलाओं को मुफ्त में स्वाथय संबंमधी परामर्श दे रही है। इस पहल के द्वारा हमदर्द की योजना हजारों महिलाओं तक पहुंचने की है। हमदर्द पीसीओ/पीसीओडी और निजी समस्याओं जैसे स्वास्थ्य संबंधी मामलों के इलाज के लिये सही जानकारी की जरूरत को ध्यान में रखकर देशभर में अपने प्रसिद्ध हमदर्द वेलनेस सेंटर्स पर महिलाओं को मुफ्त परामर्श भी देगा। महिला डॉक्टर्स ने सोमवार को इन सेंटर्स पर रेडियो में वीमन ए

सिंघु बॉर्डर पर हुआ हंगामा, हालात संभालने को पुलिस ने लाठीचार्ज और आंसू गैस का सहारा लिया


नई दिल्ली। कृषि कानूनों के विरोध में सिंघु बॉर्डर पर जारी धरनास्थल पर शुक्रवार को भारी हंगामा जारी है। धरने पर बैठे किसानों को हटाने की मांग कर रहे लोगों ने किसानों के खिलाफ नारेबाजी करते हुए उन पर पथराव कर दिया। इसके बाद पुलिस स्थिति को संभालने के लिए लाठीचार्ज और आंसू गैस का सहारा ले रही है। स्थानीय होने का दावा करने वाले लोगों का समूह स्थल पर विरोध कर रहा है और मांग कर रहा है कि सिंघु बॉर्डर को जल्द खाली कराया जाए।

जानकारी के अनुसार, सिंघु बॉर्डर पर शुक्रवार सुबह से ही सुरक्षा के जबर्दस्त इंतजाम किए गए हैं। करीब 15 अतिरिक्त कंपनी अर्धसैनिक बलों के जवानों की तैनात हैं। स्थानीय पुलिस के साथ स्पेशल कमिश्नर लॉ एंड ऑर्डर संजय सिंह खुद मौके पर मौजूद हैं। वरिष्ठ पुलिस अधिकारी सुरक्षा व्यवस्था को लेकर लगातार ब्रीफिंग कर रहे हैं। दो दिनों से ज्यादातर समय स्पेशल कमिश्नर अलीपुर थाने में ही मौजूद रहते हैं।

इसके साथ ही सिंघु बॉर्डर और आसपास के इलाकों में आज भी इंटरनेट सेवा काम नहीं कर रही है। आसपास के लोग यह आशंका जता रहे हैं कि इलाके में मोबाइल जैमर लगा दिया गया है। हालांकि, सुरक्षा कर्मियों का कहना है कि एहतियातन इंटरनेट जरूर बंद हुआ था, लेकिन इसे खोल दिया गया है। हालांकि आसपास के करीब तीन किलोमीटर के दायरे के इलाके में इंटरनेट सेवा नहीं चल रही है। धरनास्थल से करीब पांच से छह किलोमीटर दूर आने पर इंटरनेट काम कर रहा है।

स्थानीय लोगों ने की किसानों से सिंघु बॉर्डर खाली कराने की मांग

दिल्ली में गुरुवार को भी स्थानीय होने का दावा करने वाले लोगों के एक समूह ने मांग की कि किसान सिंघु बॉर्डर पर धरनास्थल को खाली करें क्योंकि उन्होंने गणतंत्र दिवस पर ट्रैक्टर परेड के दौरान राष्ट्रीय ध्वज का अपमान किया था। लोग विरोध स्थल के पास सड़क पर एकत्र हुए और तिरंगे का अपमान करने के खिलाफ नारेबाजी की।

गणतंत्र दिवस पर राष्ट्रीय राजधानी में किसानों की ट्रैक्टर परेड के दौरान हुई हिंसा के बाद गुरुवार को दिल्ली सीमा के प्रवेश बिंदुओं पर पुलिस बलों को तैनात किया गया था। लाल किले पर भी सुरक्षा बलो की तैनाती की गई है। 

Popular posts from this blog

यूपी पंचायत चुनाव : मेरठ में ग्राम प्रधान पदों की आरक्षण सूची जारी, देखें ब्लॉकवार आरक्षण की सूची

मेरठ में महिला ने तीन बेटियों समेत खुद की गर्दन काटी, एक की मौत

मुरादनगर में दर्दनाक हादसा, अंतिम संस्कार में गए लोगों पर गिरने से 23 की मौत, CM ने मांगी रिपोर्ट