अब 22, 28 व 29 जनवरी को होगा वैक्सीनेशन

Image
वैक्सीनेशन अभियान में महिलाओं ने दिखाई सबसे ज्यादा हिम्मत  वैक्सीनेशन में डर के आगे आधी आबादी की जीत, लिखी नई इबारत युरेशिया संवाददाता मेरठ,। वैक्सीनेशन के साथ 16 जनवरी को कोरोना से अंतिम युद्ध का शंखनाद शुरू करने के बाद अब इस लड़ाई का पहला चरण 22 जनवरी शुक्रवार से शुरू होगा। इस संबंध में शासन की ओर से निर्देश जारी कर दिए गए हैं। 22 जनवरी के बाद वैक्सीनेशन की अगली तारीख 28 व 29 जनवरी तय की गयी है। जिले में 16 जनवरी को पहला वैक्सीनेशन किया गया। सबसे अच्छी बात यह रही कि जिले में वैक्सीनेशन करवाने वाले किसी भी लाभार्थी में साइड इफेक्ट के गंभीर लक्ष्ण नहीं मिले। 16 जनवरी को स्वास्थ्य विभाग से जुड़े चिकित्सकों, निजी चिकित्सकों व हेल्थ वर्कर्स का टीकाकरण किया गया। जिले में उस दिन टारगेट 694 में से 562 स्वास्थ्य कर्मियों का वैक्सीनेशन किया गया। जनपद में प्रथम चरण के लिए 19533 स्वास्थ्य कर्मियों को चयनित किया गया है। इसमें 9000 सरकारी और 10533 प्राइवेट लाभार्थी हैं। कोरोना वैक्सीनेशन कराने में महिला स्वास्थ्य कर्मियों का जिले में प्रतिशत 41.21 रहा। महिलाओं ने हर क्षेत्र में अपनी प्रतिभा और दम

पड़ोसी ने डीजे बजाकर किया किशोरी से दुष्कर्म, ग्रामीणों ने घेरा एसएसपी कार्यालय


सोनू युरेशिया

मेरठ। इंचौली थाना क्षेत्र में एक किशोरी के साथ पड़ोसी द्वारा दुष्कर्म का सनसनीखेज मामला सामने आया है। पीड़िता के परिजनों का आरोप है कि पुलिस ने आरोपी के खिलापफ कार्यवाही करने की जगह उल्टा उनके बेटे को थाने में बैठा लिया। बुध्वार को दर्जनों ग्रामीणों ने एसएसपी कार्यालय पर जमकर हंगामा किया। जिसके बाद एसपी देहात केशव मिश्रा ने आरोपी की गिरफ्रतारी के आदेश दिए हैं। 

प्राप्त जानकारी के अनुसार क्षेत्रा का रहने वाला सम्प्रदाय विशेष का एक व्यक्ति मजदूरी करता है। ग्रामीण के मुताबिक मंगलवार को वह अपनी पत्नी के साथ खेत में मजदूरी करने गया था। इसी दौरान उसके पड़ोस में रहने वाले वीशु नाम के युवक ने अपने घर में तेज आवाज में ट्रैक्टर पर डीजे बजा दिया। इसके बाद आरोपी दीवार कूदकर उसके घर में दाखिल हुआ और घर में मौजूद ग्रामीण की 16 वर्षीय बेटी के साथ दुष्कर्म किया। डीजे की आवाज में किशोरी की चीखें दबकर रह गई। पीड़ित के मुताबिक घर लौटने पर उसकी बेटी ने रोते-बिलखते हुए उसे पूरी घटना की जानकारी दी। जिसके बाद वह अपनी बेटी को लेकर थाने पहुंचा तो वहां मौजूद पुलिसकर्मियों ने उन्हें भगा दिया। पीड़ित का आरोप है कि रात से आरोपी के परिवार वाले उन्हें ध्मकियां दे रहे हैं। उध्र, सुबह को पीड़ित के घर पहुंची पुलिस उल्टा उसके बेटे को ही घर से उठाकर ले गई। घटना से गुस्साए परिजनों और दर्जनों ग्रामीणों ने एसएसपी कार्यालय का घेराव करते हुए जमकर हंगामा किया। 

Popular posts from this blog

मेरठ में महिला ने तीन बेटियों समेत खुद की गर्दन काटी, एक की मौत

मवाना में अवैध मीट कटान रोकने गई पुलिस टीम पर हमला 

परीक्षितगढ़ क्षेत्र के ग्राम सिखैड़ा में महिला मिली कोरोना पॉजिटिव