मुख्यमंत्री आरोग्य मेले में ३२३० लोगों ने उपचार का लाभ उठाया

युरेशिया संवाददाता    मेरठ। रविवार को जिले के ५७ प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्रों (पीएचसी) पर मुख्यमंत्री आरोग्य स्वास्थ्य मेले का आयोजन किया गया। पूरे जनपद में करीब ३२३० लोगों ने मेले का लाभ उठाया। आरोग्य मेले के लिये १०७ चिकित्सकों ४४३ पैरा मेडिकल स्टाफ की सेवाएं ली गयीं । इस दौरान ५०७ आयुष्मान कार्ड वितरित किये गये।  मुख्यमंत्री आरोग्य मेले में ११७६  पुरुष, ११६७ महिलाओं,  ३८७ बच्चों ने पंजीकरण कराया। मुख्यमंत्री आरोग्य मेले में १४९४ कोरोना (एंटीजन) जांच की गयी। कोविड हेल्प डेस्क पर २०४१ लोगों का परीक्षण किया गया। स्वास्थ्य मेले में सबसे ज्यादा मरीज ७४५ चर्म रोग के आये।  मेले में मौसमी बीमारियों की जांच के अलावा प्रजनन स्वास्थ्य संबंधी सेवाओं के साथ गर्भवती, बाल और किशोर स्वास्थ्य से जुड़ी जांच पर खास जोर रहा। नवदम्पति को परिवार नियोजन के प्रति जागरूक करते हुए उनकी पसंद के परिवार नियोजन के साधन उपलब्ध कराये गये। मेले में कोविड प्रोटोकाल का पूरी तरह से पालन किया गया।   मुख्य चिकित्सा अधिकारी डा अखिलेश मोहन ने बताया सभी पीएचसी पर आयोजित मेले में १२४६ पुरुषों, १४५४ महिलाओं व ४१९ बच्चों का पं

हार्ट अटैक से थाना इस्पेक्टर सरूरपुर अरविंद कुमार की मौत

  • काफी खुशमिजाज   थे थाना  सरूरपुर इंस्पेक्टर अरविंद कुमार

अनीस खान यूरेशिया ब्यूरो

मेरठ। सरूरपुर थाना इंस्पेक्टर अरविंद कुमार की शनिवार की देर शाम अचानक सीने में दर्द होने के  बाद मेरठ के मेट्रो हॉस्पिटल में हार्ट अटैक के कारण इस्पेक्टर अरविंद कुमार की मौत हो गई। खबर मिलते ही पुलिस विभाग में शोक की लहर दौड़ गई।


जानकारी के मुताबिक शुक्रवार देर शाम इंस्पेक्टर अरविंद कुमार थाने के कार्यालय में अपने स्टाफ से बात कर रहे थे, तभी अचनाक उनके सीने में तेज दर्द हुआ। और तेज दर्द होते ही एसएसआई योगेंद्र सिंह और उनके हमराह तत्काल इस्पेक्टर अरविंद कुमार को सीएचसी सरूरपुर लेकर दौड़े। लेकिन बताया गया है कि वहां के डॉक्टरों ने उनके ठीक होने का आश्वासन दिया था और दिल का दर्द बताकर उन्हें मेरठ रेफर कराया गया था

बताया जा रहा है कि जिसके बाद उन्हें थाने का स्टाफ मेरठ के मेट्रो हार्ट हॉस्पिटल में ले गया जहां जांच के बाद डॉक्टरों ने उन्हें मृत घोषित कर दिया। हालांकि बताया गया है कि यहां डॉक्टरों ने बचाने की भरपूर कोशिश की। मिलनसार और काफी हंसमुख स्वभाव के इंस्पेक्टर थे अरविंद कुमार और अरविंद कुमार की मौत की खबर पाकर पुलिस विभाग में शोक की लहर दौड़ गई और थाने में हड़कंप मच गया।

इंस्पेक्टर अरविंद कुमार मूल रूप से शामली के बाबरी थाने के बनती खेड़ा गांव के रहने वाले थे तथा लगभग 7 माह पहले सरूरपुर इंस्पेक्टर का चार्ज लिया था। इससे पूर्व वह मेरठ क्राइम ब्रांच और सरधना में पोस्टिंग रह चुके हैं। उनके दो बेटे व पत्नी उनके साथ थाने में ही रहते थे।

इंस्पेक्टर अरविंद कुमार काफी हंसमुख  और एक दूसरे से मिलन चलन के व्यक्ति थे शनिवार की देर शाम तक भी अरविंद कुमार इंस्पेक्टर ने डाहर गांव के चल रहे एक मामले में भी क्षेत्र के लोगों मीडियाकर्मियों से मुलाकात की थी। उनकी मौत की खबर पाकर क्षेत्र के लोग दंग रह गए। क्षेत्र के लोग कह रहे हैं कि ऐसा इस्पेक्टर कभी भी सरूरपुर थाने में नहीं आया है और वह बहुत ही अच्छे और एक दूसरे से मेलजोल वाले के व्यक्ति थे। सरूरपुर थाना क्षेत्र में भी इस्पेक्टर अरविंद कुमार की मौत का काफी दुख है।

Popular posts from this blog

यूपी पंचायत चुनाव : मेरठ में ग्राम प्रधान पदों की आरक्षण सूची जारी, देखें ब्लॉकवार आरक्षण की सूची

मेरठ में महिला ने तीन बेटियों समेत खुद की गर्दन काटी, एक की मौत

मुरादनगर में दर्दनाक हादसा, अंतिम संस्कार में गए लोगों पर गिरने से 23 की मौत, CM ने मांगी रिपोर्ट