’पराक्रम दिवस (नेताजी सुभाषचन्द्र बोस जयन्ती 23 जनवरी) की पूर्व संध्या पर वेंक्टेश्वरा में ’’नेताजी एक वैचारिक क्रान्ति’’ विषय पर सेमीनार एवं उनके स्वतन्त्रता संघर्ष पर ’’विशाल पोस्टर प्रर्दशनी’’

Image
नेताजी के संघर्ष से मिली अनमोल आजादी को व्यर्थ ना जाने दे युवा- डाॅ0 सुधीर गिरि  आजादी की जंग में निर्विवाद रुप से नेता जी से बड़ा कोई पराक्रमी नहीं- कर्नल अमरदीप त्यागी देश की आजादी के लिए नेताजी का संघर्ष एवं पराक्रम समूचे भारत के लिए वन्दनीय- डाॅ0 बी0एन0 पाराशर युवाओ/छात्रो को नेताजी के जीवन दर्शन एवं संघर्ष गाथा बताने के लिए संस्थान ने अपने पुस्कालय में किया 500 से अधिक पुस्तको का संग्राहलय- डाॅ0 राजीव त्यागी  अनीस खान/ युरेशिया  मेरठ।आज राष्ट्रीय राजमार्ग बाईपास स्थित वेंक्टेश्वरा विश्वविद्यालय/संस्थान में नेताजी सुभाषचन्द्र बोस जयन्ती (पराक्रम दिवस 23 जनवरी) की पूर्व संध्या पर देश की आजादी के सबसे बड़े महानायक आजाद हिन्द फौज के संस्थापक नेताजी के बलिदान को याद करते हुए ’’नेताजी एक वैचारिक क्रान्ति’’ विषय पर सेमीनार का आयोजन हुआ, जिसमें वक्ताओ ने आजादी के लिए नेताजी की संघर्ष गाथा पर सिलसिलेवार प्रकाश डालते हुए इस महान योद्धा की पराक्रम गाथा से उपस्थित स्टाॅफ एवं छात्र-छात्राओ को रुबरु कराया। इसके साथ ही विख्यात शिक्षाविद् एवं आजाद हिन्द सेना मंच से जुड़े डाॅ0 बी0एन0 पाराशर के निर्दे

बदमाशो ने सिपाही के पैर में मारी गोली

मेरठ में दिल्ली हाईवे पर क्राइम ब्रांच में तैनात सिपाही के पैर में गोली लग गई। गोली लगने के बाद घायल अवस्था में सिपाही को जिला अस्पताल लाया गया, जहां से जसवंत राय अस्पताल में रेफर कर दिया। बताया जाता है कि सिपाही थर्टी फस्ट की पार्टी से वापस लौट रहा था, जबकि सिपाही का कहना है कि हाईवे पर कार रोक कर नीचे उतरा और लघुशंका करने लगा था। तभी अचानक पैर में गोली लग गई। एसपी सिटी का कहना है कि दबिश के दौरान सिपाही कोगोली लग गई है। उपचार के बाद ही सिपाही से बातचीत की जाएगी।

बुलंदशहर का रहने वाला सिपाही सौरभ यादव क्राइम ब्रांच में तैनात है। सौरभ यादव दिल्ली हाईवे पर अपनी गाड़ी से जा रहा था। अचानक ही दिल्ली हाईवे पर सुभारती मेडिकल कालेज के समीप कार को रोक कर नीचे उतरकर लघुशंका करने लगा। तभी उसके पैर में गोली लग गई। सौरभ का कहना है कि उसे पता नहीं चल पाया की गोली किसने मारी है। गोली लगने के बाद शोर मचाया। उसके बाद कार में सवार उसके साथियों ने उसे जिला अस्पताल तक पहुंचाया। सिपाही को गोली लगने की घटना के बाद एसपी सिटी अखिलेश नारायण सिंह मौके पर पहुंचे। एसपी सिटी का कहना है कि सिपाही किसी दबिश में गया था, जहां पर उसे गोली लग गई है, जबकि पुलिस महकमे में चर्चा है कि सिपाही थर्टी फर्स्‍ट की पार्टी मनाकर दोस्तों के साथ वापस लौट रहा था। क्राइम ब्रांच में तैनात सिपाही भी दारोगा की पिस्टल लेकर रखते है। चर्चा यहां तक है कि सिपाही की पिस्टल से चली गोली उसके पैर में लग गई है, जिसके बाद पूरे घटनाक्रम को अफसर छिपा रहे है। हादसे को दबिश के दौरान गोली लगने में तफ्दील किया जा रहा है। देर रात तक सभी अफसर पूरे घटनाक्रम के बारे में अनभिज्ञता जाहिर करते रहे।

Popular posts from this blog

मेरठ में महिला ने तीन बेटियों समेत खुद की गर्दन काटी, एक की मौत

मवाना में अवैध मीट कटान रोकने गई पुलिस टीम पर हमला 

परीक्षितगढ़ क्षेत्र के ग्राम सिखैड़ा में महिला मिली कोरोना पॉजिटिव