अब 22, 28 व 29 जनवरी को होगा वैक्सीनेशन

Image
वैक्सीनेशन अभियान में महिलाओं ने दिखाई सबसे ज्यादा हिम्मत  वैक्सीनेशन में डर के आगे आधी आबादी की जीत, लिखी नई इबारत युरेशिया संवाददाता मेरठ,। वैक्सीनेशन के साथ 16 जनवरी को कोरोना से अंतिम युद्ध का शंखनाद शुरू करने के बाद अब इस लड़ाई का पहला चरण 22 जनवरी शुक्रवार से शुरू होगा। इस संबंध में शासन की ओर से निर्देश जारी कर दिए गए हैं। 22 जनवरी के बाद वैक्सीनेशन की अगली तारीख 28 व 29 जनवरी तय की गयी है। जिले में 16 जनवरी को पहला वैक्सीनेशन किया गया। सबसे अच्छी बात यह रही कि जिले में वैक्सीनेशन करवाने वाले किसी भी लाभार्थी में साइड इफेक्ट के गंभीर लक्ष्ण नहीं मिले। 16 जनवरी को स्वास्थ्य विभाग से जुड़े चिकित्सकों, निजी चिकित्सकों व हेल्थ वर्कर्स का टीकाकरण किया गया। जिले में उस दिन टारगेट 694 में से 562 स्वास्थ्य कर्मियों का वैक्सीनेशन किया गया। जनपद में प्रथम चरण के लिए 19533 स्वास्थ्य कर्मियों को चयनित किया गया है। इसमें 9000 सरकारी और 10533 प्राइवेट लाभार्थी हैं। कोरोना वैक्सीनेशन कराने में महिला स्वास्थ्य कर्मियों का जिले में प्रतिशत 41.21 रहा। महिलाओं ने हर क्षेत्र में अपनी प्रतिभा और दम

संदिग्ध अवस्था में युवक की मौत शरीर पर मिले चोटों के निशान


सतीश चन्द त्यागी/ युरेशिया

खरखौदा। थाना क्षेत्र के गांव पांची में शनिवार तड़के संदिग्ध अवस्था में युवक की video मौत हो गई सूचना पर पहुंची पुलिस ने शव का पंचनामा भर के पीएम के लिए मेरठ भेज दिया। वहीं परिजनों ने कोई भी कानूनी कार्रवाई करने से इंकार कर दिया।पांची निवासी सुनील उर्फ सन्टे उम्र करीब 23 वर्ष पुत्र हरपाल मजदूरी का कार्य करता था। शुक्रवार को वह मजदूरी पर गया था। लेकिन देर रात तक भी घर वापस न लोटने पर परिजनों ने उसकी तलाश शुरू की तो सुनील पांची -कैली संपर्क मार्ग पर कैली निवासी सतीश के गन्ने के खेत में बेहोशी की हालत में पड़ा हुआ मिला।तब परिजन सुनील को घर ले आए। सुनील के शरीर पर काफी चोटों के निशान भी लगे थे। शनिवार की सुबह गांव में मोजूद चिकित्सक के यहां इलाज के दौरान उसकी मौत हो गई। घटना की जानकारी पुलिस को मिली तो थाना प्रभारी निरीक्षक ऋषिपाल शर्मा पुलिस बल के साथ मौके पर पहुंच उच्चाधिकारियों को मामले की जानकारी दी जिस पर सीओ किठौर ब्रिजेश कुमार भी घटना स्थल पर पहुंच गए और मृतक के शव को कब्जे में लेकर पंचनामा भर पोस्टमार्टम के लिए मेरठ मैडिकल कॉलेज भेज दिया गया। वहीं परिजनों ने किसी भी प्रकार की कोई कानूनी कार्रवाई करने से इंकार कर दिया। इस मामले में थाना प्रभारी निरीक्षक ऋषिपाल शर्मा का कहना है कि शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया गया है पीएम रिपोर्ट आने पर उसी के अनुसार कार्रवाई की जाएगी।

Popular posts from this blog

मेरठ में महिला ने तीन बेटियों समेत खुद की गर्दन काटी, एक की मौत

मवाना में अवैध मीट कटान रोकने गई पुलिस टीम पर हमला 

परीक्षितगढ़ क्षेत्र के ग्राम सिखैड़ा में महिला मिली कोरोना पॉजिटिव