मेरठ में सेवा समाप्‍त करने पर महिला कर्मचारी को पड़ा अटैक, सफाई कर्मचारियों ने लगाया जाम


युरेशिया संवाददाता

मेरठ, । मेरठ में सेवा समाप्ति की कार्रवाई से आउटसोर्सिंग महिला सफाई कर्मचारी को मंगलवार की सुबह दिल का दौरा पड़ गया। परिजनों ने उसे फौरन ईव्ज चौराहे पर एक हॉस्पिटल में भर्ती कराया। जहां उसकी हालत गंभीर बनी हुई है। इससे गुस्साए सफाई कर्मचारी नेताओं की अगुवाई में सैकड़ों सफाई कर्मियों ने ईव्ज चौराहे पर चक्काजाम कर शहर की सफाई ठप कर दी। रास्ता जाम होने की सूचना पर सिटी मजिस्ट्रेट सत्येंद्र सिंह मौके पर पहुंचे। उन्‍होंने सफाई कर्मचारियों को समझाने की कोशिश की। लेकिन सफाई कर्मचारी सेवा समाप्ति की कार्रवाई वापस लेने की मांग पर अड़े हुए हैं।

शहर में वार्ड 47 में पदस्थ आउटसोर्सिंग महिला सफाई कर्मी निशा पुत्री मंगू समेत 12 आउटसोर्सिंग सफाई कर्मियों को 18 दिसम्बर को अपने ड्यूटी क्षेत्र से अनुपस्थित रहने पर नगर आयुक्त मनीष बंसल ने उनकी सेवा समाप्त करने का आदेश जारी कर दिया है। जिसके बाद महिला सफाई कर्मचारी की तबियत बिगड़ गई है। ईव्ज चौराहे पर चक्का जाम के दौरान सफाई कर्मचारी नेता कैलास चंदोला, विनेश विद्यार्थी समेत बड़ी संख्या में मौजूद सफाई कर्मचारियों का आरोप है कि नगर आयुक्त की कार्रवाई से महिला सफाई कर्मचारी को झटका लगा। जिससे मंगलवार की सुबह छह बजे उसे हार्टअटैक आ गया। परिजनों का रो-रोकर बुरा हाल है।

सफाई कर्मचारी नेताओं की अगुवाई में शहर में सफाई ठप कर दी गई है। सफाई कर्मचारी नेताओं की मांग है कि सभी आउट सोर्सिंग सफाई कर्मचारियों की सेवा समाप्ति की कार्रवाई वापस ली जाए। मौके पर मौजूद सिटी मजिस्ट्रेट सत्येंद्र सिंह से सफाई कर्मचारियों ने स्पष्ट कह दिया है कि जब तक नगर आयुक्त मौके पर आकर उनकी मांगें मान नहीं लेते तब तक वह चौराहे से नहीं हटेंगे।

Comments

Popular posts from this blog

यूपी पंचायत चुनाव : मेरठ में ग्राम प्रधान पदों की आरक्षण सूची जारी, देखें ब्लॉकवार आरक्षण की सूची

मेरठ में महिला ने तीन बेटियों समेत खुद की गर्दन काटी, एक की मौत

मुरादनगर में दर्दनाक हादसा, अंतिम संस्कार में गए लोगों पर गिरने से 23 की मौत, CM ने मांगी रिपोर्ट