’पराक्रम दिवस (नेताजी सुभाषचन्द्र बोस जयन्ती 23 जनवरी) की पूर्व संध्या पर वेंक्टेश्वरा में ’’नेताजी एक वैचारिक क्रान्ति’’ विषय पर सेमीनार एवं उनके स्वतन्त्रता संघर्ष पर ’’विशाल पोस्टर प्रर्दशनी’’

Image
नेताजी के संघर्ष से मिली अनमोल आजादी को व्यर्थ ना जाने दे युवा- डाॅ0 सुधीर गिरि  आजादी की जंग में निर्विवाद रुप से नेता जी से बड़ा कोई पराक्रमी नहीं- कर्नल अमरदीप त्यागी देश की आजादी के लिए नेताजी का संघर्ष एवं पराक्रम समूचे भारत के लिए वन्दनीय- डाॅ0 बी0एन0 पाराशर युवाओ/छात्रो को नेताजी के जीवन दर्शन एवं संघर्ष गाथा बताने के लिए संस्थान ने अपने पुस्कालय में किया 500 से अधिक पुस्तको का संग्राहलय- डाॅ0 राजीव त्यागी  अनीस खान/ युरेशिया  मेरठ।आज राष्ट्रीय राजमार्ग बाईपास स्थित वेंक्टेश्वरा विश्वविद्यालय/संस्थान में नेताजी सुभाषचन्द्र बोस जयन्ती (पराक्रम दिवस 23 जनवरी) की पूर्व संध्या पर देश की आजादी के सबसे बड़े महानायक आजाद हिन्द फौज के संस्थापक नेताजी के बलिदान को याद करते हुए ’’नेताजी एक वैचारिक क्रान्ति’’ विषय पर सेमीनार का आयोजन हुआ, जिसमें वक्ताओ ने आजादी के लिए नेताजी की संघर्ष गाथा पर सिलसिलेवार प्रकाश डालते हुए इस महान योद्धा की पराक्रम गाथा से उपस्थित स्टाॅफ एवं छात्र-छात्राओ को रुबरु कराया। इसके साथ ही विख्यात शिक्षाविद् एवं आजाद हिन्द सेना मंच से जुड़े डाॅ0 बी0एन0 पाराशर के निर्दे

योगी का विपक्ष पर बड़ा हमला, बोले-किसानों के कंधे पर बंदूक रखकर देश के खिलाफ षड्यंत्र बर्दाश्‍त नहीं




मेरठ | 
मुख्यमंत्री जी उ0प्र0 ने सरदार वल्लभ भाई पटेल कृषि एवं प्रौद्योगिक विष्वविद्यालय मेरठ में आयोजित कार्यक्रम की अध्यक्षता करते हुये कहा कि सरदार पटेल का जीवन नई प्रेरणा प्रदान करता है। उन्होने कहा कि प्रदेष सरकार ने रू0 600 करोड से कांवड मार्ग की नई पटरी के निर्माण के लिए मंजूरी दी है। उन्होने कहा कि किसानो के चेहरे की खुषहाली व तरक्की ही देष की तरक्की का आधार बनेगा। मा0 मुख्यमंत्री जी ने रू0 402.69 करोड की 75 विकास परियोजनाओं व कृषि विष्वविद्यालय की 14 परियोजनाओं का लोकार्पण व षिलान्यास किया। इससे पूर्व उन्होने सरदार पटेल की प्रतिमा पर माल्यार्पण व कृषि प्रदर्षनी का उद्घाटन भी किया।
मा0 मुख्यमंत्री जी ने कहा कि खाद्यान्न आपूर्ति में देष को आत्मनिर्भर बनाने में देष के किसानों व पष्चिमी उ0प्र0 के किसानों का बहुत योगदान रहा है। उन्होने कहा कि प्रदेष सरकार ने रू0 600 करोड से कांवड मार्ग की नई पटरी के निर्माण के लिए मंजूरी दी है तथा इस नई पटरी को किसान नेता चै0 चरण सिंह जी की स्मृति व किसानों को समर्पित किया है। उन्होने कहा कि देष की एकता, अखंडता व संप्रभुता के लिए किसानों का योगदान हमेषा रहा है।
मुख्यमंत्री  ने कहा कि पहली सरकार ने कांवड यात्रा पर रोक लगा दी थी लेकिन उनकी वर्तमान सरकार ने इसको पुनः प्रारंभ किया। उन्होने कहा कि कांवड यात्रा के दौरान वह किसानों को भक्तिमय झूमते हुये देखते है तो अपने आप को रोक नहीं पाते है, इसके लिए उन्होने पूर्व में हैलीकाॅप्टर से भी कांवड यात्रा का निरीक्षण भी किया है। उन्होने कहा कि कांवड पटरी को हरिद्वार तक ले जाने पर भी कार्य चल रहा है जिसके लिए उत्तराखंड सरकार व केन्द्र सरकार की सहायता से इस कार्य को कराये जाने के प्रयास किये जायेंगे।
मुख्यमंत्री ने कहा कि मेरठ से दिल्ली 12 लेन का कार्य पूर्ण होने पर मेरठ से दिल्ली की दूरी 45 मिनट में पूर्ण हो जायेगी। उन्होने कहा कि अभी वह मेरठ गाजियाबाद से सडक मार्ग से आये है तथा अभी उन्हे गाजियाबाद से मेरठ आने में मात्र 01 घंटा लगा। उन्होने बताया कि मेरठ को दिल्ली से जोडने के लिए रू0 32 हजार करोड की आरआरटीएस की स्वीकृति दी गयी व उस पर कार्य चल रहा है। उन्होने कहा कि आरआरटीएस को मेरठ से मुजफ्फरनगर तक ले जाने का प्रस्ताव भी भेजा गया है।
मुख्यमंत्री नेे कहा कि केन्द्र व उ0प्र0 सरकार किसानों के लिए अनेको कार्य कर रही है, जिसका लाभ किसानों को सीधे मिल रहा है। उन्होने कहा कि विभिन्न योजनाओ से किसान लाभान्वित हो रहे है यह एक सकारात्मक बदलाव है। उन्होने कहा कि सरदार वल्लभ भाई पटेल कृषि विष्वविद्यालय भाजपा सरकार की ही देन है, जिससे अनेको छात्र लाभान्वित हो रहे है। उन्होने कहा कि गत वर्ष रू0 01 लाख 12 हजार करोड का गन्ना मूल्य का भुगतान कराया गया तथा बागपत की रमाला चीनी मिल का विस्तारीकरण किसान हित में कराया गया ।
मा0 मुख्यमंत्री जी ने कहा कि प्रदेष सरकार पष्चिमी उ0प्र0 के किसानों के हितो के हर प्रकार का संरक्षण करेगी। उन्होने कहा कि चीनी उत्पादन में प्रदेष तरक्की कर रहा है अब फाईन चीनी भी बनायी जा रही है तथा शेष गन्ने से ईथेनाल बनाया जा रहा है। उन्होने कहा कि प्रदेष में ईथेनाल के नये प्लान्ट लगाये गये है। उन्होने कहा कि ईथेनाल से टैªक्टर व गाडियों को चलाया जायेगा जिससे ईधन में देष व प्रदेष आत्मनिर्भर बनेगा तथा एक बडी धनराषि जो ईधन को क्रय करने पर की जाती थी उसकी भी बचत होगी।
उन्होने कहा कि प्रदेष में 300 से अधिक खांडसारी उद्योगो को लाईसेंस दिया गया है। उन्होने कहा कि कुछ लोगो को इस बात से परेषानी है कि प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना सहित अन्य लाभार्थीपरक योजनाओं से किसान लाभान्वित हो रहे है व योजनाओं की धनराषि सीधे उनके खाते मंे जा रही है ऐसे लोग किसानो को भ्रमित करने का प्रयास कर रहे है।
उन्होने कहा कि मा0 प्रधानमत्री जी भारत सरकार के नेतृत्व में देष तरक्की कर रहा है। सीमा पर सुरक्षा पुख्ता है। प्रधानमंत्री जी इस देष की 135 करोड जनता को अपना परिवार मानते है तथा जनता के कल्याण के लिए मा0 प्रधानमंत्री जी का जीवन समर्पित है। उन्होने कहा कि पूर्व प्रधानमंत्री राजीव गांधी कहा करते थे कि दिल्ली से 100 रू0 भेजते है तो दिल्ली से आते-आते रू0 10 रह जाते है। उन्होने कहा कि मोदी जी के नेतृत्व में देष ने इस व्यवस्था को बदला है व योजनाओ की धनराषि लाभार्थियों के सीधे बैंक खातें में जा रही है।
उन्होेने कहा कि मा0 प्रधानमंत्री जी ने देष को तकनीक से जोडा है। उन्होने कहा कि कष्मीर से धारा 370 खत्म होने से भी कुछ लोग परेषान है जो देष की तरक्की नहीं चाहते है। उन्होने कहा कि मा0 प्रधानमंत्री जी के आने के बाद किसानो व आमजन को योजनाओ को लाभ बिना भेदभाव के मिल रहा है तथा अनेको लोग लाभान्वित हो रहे है तथा देष व प्रदेष निरंतर प्रगति पथ पर अग्रसर है। इससे भी कुछ लोग परेषान हो रहे है और वह लोगो और किसानो को भ्रमित कर रहे है लेकिन इस देष का किसान व जनता बहुत समझदार है।
उन्होने कहा कि कष्मीर से धारा 370 हट जाने से मेरठ का नौजवान व किसान भी कष्मीर में जमीन खरीद सकता है। उन्होने कहा कि 05 अगस्त 2020 को मा0 प्रधानमंत्री जी ने राम मंदिर का षिलान्यास किया जिससे 500 वर्षों की समस्या का समाधान हुआ। उन्होने कहा कि किसान अपनी मर्जी से कहीं भी अपना उत्पाद बेच सकता है। किसान अपने उत्पाद व फसल का मालिक है उस पर कोई टैक्स न मंडी के अंदर न मंडी के बाहर लगाया जाये ऐसी व्यवस्था सरकार कर रही है।
उन्होने कहा कि खेत का मालिक किसान है तथा किसानो के चेहरे की खुषहाली व उनकी तरक्की ही देष की तरक्की का आधार बनेगा। उन्होने कहा कि वर्ष 2022 तक किसानों की आय दुगुनी हो इसके लिए केन्द्र व प्रदेष सरकार अनेको कदम उठा रही है जिसका सीधा लाभ किसानो को मिल रहा है। उन्होने कहा कि कोरोना काल में भी प्रधामंत्री किसान सम्मान निधि योजना के लाभार्थियों के खातो में धनराषि अंतरित की गयी।
उन्होने बताया कि प्रदेष में 06 कृषि विष्वविद्यालय है जिसमें 04 राजकीय, 01 निजी व 01 केन्द्र का है। उन्होने कहा कि प्रधानमंत्री ने झांसी में केन्द्रीय विष्वविद्यालय की नींव रखी। उन्होने कहा कि प्रदेष में 20 नये कृषि विज्ञान केन्द्र बनाये गये है। उन्होने कहा कि कुछ लोग किसानो की तरक्की से परेषान है वहीं नये कृषि विधेयक का विरोध कर रहे है व किसानो के कंधों पर बंदूक रखकर देष की सुरक्षा में सेंध लगाने का प्रयास कर रहे है, यह स्वीकार्य नहीं है। उन्होने कहा कि हमारे देष का किसान एक मेहनती व कर्मठ किसान है तथा किसान सम और विषम दोनो स्थितियों में देष के साथ रहा है।
उन्होने कहा कि समस्या का समाधान संवाद से होता है संघर्ष से नहीं। उन्होने कहा कि मा0 प्रधानमंत्री जी की दूरगामी सोच से 10 हजार कृषि उत्पाद संगठन (एफपीओ) का गठन होगा जो किसानो की आय दुगुनी करने में सहायक होगा। उन्होने कहा कि पष्चिमी उ0प्र0 के किसानों के लिए कोई कमी नहीं आने दी जायेगी तथा बहन, बेटियों की सुरक्षा प्रदेष सरकार की प्राथमिकताओं में है, उनकी सुरक्षा से किसी को खिलवाड नहीं करने दिया जायेगा। खिलवाड करने वाले व्यक्तियों को चिन्हित कर उनके विरूद्ध कडी कार्यवाही अमल में लायी जायेगी।
मा0 केन्द्रीय राज्यमंत्री पषुपालन, डेयरी एवं मत्स्य पालन, भारत सरकार डा0 संजीव बालियान ने कहा कि किसान पहले अपने खेत से मिटटी नहीं उठा सकता था उस पर पैनल्टी लगा दी जाती थी वर्तमान सरकार ने यह व्यवस्था बदली है। उन्होने मांग की कि गन्ने का भाव बढना चाहिए जिससे गन्ना किसानो को फायदा होगा। उन्होने कहा कि केन्द्र में प्रधानमंत्री के आने से व उ0प्र0 में   योगी  के मुख्यमंत्री बनने से किसान हित में जितने कार्य हुये है उतने पहले कभी नही हुये है। उन्होेने कहा कि कृषि विधेयक बिल किसान हित का है।
कृषि मंत्री श्री सूर्य प्रताप शाही ने कहा कि तपस्वी मुख्यमंत्री उ0प्र0 का स्वागत करकल ध्वनि से करें। उन्होने मुख्यमंत्री जी के अपने व्यस्तम समय से अमूल्य समय निकालकर इस कार्यक्रम में प्रतिभाग करने आने के लिए उनका आभार व्यक्त किया। मा0 मुख्यमंत्री जी के सफल नेतृत्व में किसानों के लिए अनेको कार्य किये जा रहे है। पूर्व सरकारो में किसानों द्वारा की जा रही आत्महत्या में वर्तमान सरकार के कार्यकाल मंे इस पर रोक लगी है। उन्होने कहा कि करीब रू0 33 हजार करोड का गन्ना भुगतान प्रतिवर्ष किया जा रहा है।
मा0 मंत्री कृषि, कृषि षिक्षा एवं अनुसंधान श्री सूर्य प्रताप शाही जी ने कहा कि कुछ लोग किसानो को गुमराह कर रहे है यह वहीं लोग है जो किसानो की तरक्की नहीं चाहते है तथा जिन्होने किसानो को कमजोर करके छोड दिया। उन्होने कहा कि प्रदेष सरकार किसानो की तरक्की के लिए कृत संकल्पित है। उन्होने कहा कि यूपीए सरकार में गेहूं का एमएसपी 1350 रू0 था वर्तमान सरकार में 1925 रू0 है। उन्होने कहा कि किसान अपनी मर्जी से अपना उत्पाद बेच सकता है तथा सरकार ने बिचैलिया प्रथा खत्म करने पर कार्य किया है।
इस अवसर पर मा0 राज्यमंत्री कृषि लाखन सिंह राजपूत, सांसद श्री राजेन्द्र अग्रवाल, सांसद श्रीमती कांता कर्दम व मा0 विधायकगणो ने अपने संबोधन में कहा कि प्रधानमंत्री के नेतृत्व में देष व मा0 मुख्यमंत्री जी के नेतृत्व में प्रदेष तरक्की कर रहा है। उन्होने कहा कि सरकारी योजनाओं का लाभ अनेको लाभार्थियों को मिल रहा है तथा प्रदेष सरकार किसानो के लिए ऋण माफी योजना लायी जिससे किसानो को फायदा हुआ।
मा0 मुख्यमंत्री जी ने जनपद की रू0 302.40 करोड की 75 विकास परियोजनाओं को लोकार्पण व षिलान्यास तथा कृषि विष्वविद्यालय के रू0 23.75 करोड के केन्द्रीय पुस्तकालय व रू0 49.14 करोड के कटाई उपरान्त प्रौद्योगिकी एवं खाद्य प्रसंस्करण महाविद्यालय का लोकार्पण तथा कृषि विष्वविद्यालय की रू0 27.4 करोड की अन्य 12 परियोजनाओ का षिलान्यास किया।मुख्यमंत्री ने मेरठ की विकासपरक 75 परियोजनाओं का लोकार्पण/षिलान्यास किया जिसमें 29 परियोजनाओं का षिलान्यास व 46 परियोजनाओं का लोकार्पण किया। मुख्यमंत्री जी ने पुलिस लाईन में रू0 47.73 करोड से बनाये जा रहे ट्रांजिस्ट हास्टल (4 टावर) का निर्माण कार्य, रू0 20.58 करोड से मवाना रोड से किला रोड को जोडने वाले 45 मीटर चैडे महायोजना मार्ग का निर्माण एवं प्रकाष व्यवस्था, रू0 11.80 करोड से छठी वाहिनी पीएसी मेरठ में बनाये जा रहे 200 क्षमता बैरक का निर्माण,
रू0 11.87 करोड  की लागत से 44वीं वाहिनी पीएसी मेरठ में बनाये जा रहे 200 क्षमता बैरक (जी़11) के निर्माण कार्य, रू0 10.70 करोड से मेरठ सरधना मार्ग का 02 लेन पैव्ड शोल्डर के साथ चैडीकरण/सुदृढीकरण का कार्य, रू0 1.88 करोड से ग्राम आलमपुर बुजुर्ग से बढला कैथवाडा (महादेव मंदिर) मार्ग का निर्माण कार्य, रू0 4.54 करोड से मेरठ पौडी राज्य मार्ग सं0-47 को 27 किमी में स्थित अनूपषहर शाखा गंगनहर पर नये सेतु एवं पहुंच मार्ग का निर्माण कार्य, रू0 8.94 करोड से ममता राजकीय मानसिक मंदित विद्यालय, मेरठ का निर्माण कार्य, रू0 7.99 करोड से मानसिक मंदित आश्रय ग्रह सहप्रषिक्षण केन्द्र (आवासीय) का कार्य तथा रू0 1.48 करोड से अमृत योजना के अंतर्गत गंगानगर ब्लाक सी पार्क नं0-02 का निर्माण एवं सौन्दर्यीकरण का कार्य सहित कुल रू0 154.26 करोड की 29 परियोजनाओ का षिलान्यास किया।
मुख्यमंत्री जी ने जनपद मेरठ में रू0 19.53 करोड से सोफीपुर लावड महलका मार्ग के चैडीकरण व सुदृढीकरण के कार्य तथा रू0 12.45 करोड से बडौत मार्ग के चै0 4.825 से 9.000 तक मेरठ शहर आबादी भाग में सी0सी0 मार्ग के निर्माण कार्य, रू0 4.69 करोड की लागत से बनाये जा रहे 67 हैल्थ एंड वेलनेस सेन्टर (आरोग्य केन्द्र), रू0 2.03 करोड से बनाये जा रहे राजकीय औद्योगिक प्रषिक्षण संस्थान, हस्तिनापुर मेरठ में निर्मित की गयी आई0टी0 लैब फिटर कार्यषाला व क्लास रूम, रू0 1.20 करोड से ग्राम आलमगीरपुर फरीदपुर विकास खंड सरधना में वृहद गौ संरक्षण केन्द्र के निर्माण कार्य, रू0 6.98 करोड से थाना रोहटा मेरठ का, रू0 05 करोड से पष्चिमांचल विद्युत वितरण निगम लि0 मेरठ भारत सरकार की आईपीडीएस योजना के अंतर्गत नवनिर्मित 33/11 के0वी0 विद्युत उपकेन्द्र मलियाना द्वितीय, रू0 3.32 करोड से लाला लाजपत राॅय स्मारक मेडिकल कालेज में रिसेप्षन हाॅल, रू0 4.31 करोड से जनपद मेरठ के ब्लाॅक जानी के ग्राम चन्दौरा में बनाये जा रहे राजकीय उच्चतर माध्यमिक विद्यालय के निर्माण कार्य, रू0 16.32 करोड से 50 शैय्या चिकित्सालय किठौर तथा रू0 5.28 करोड से सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र फलावदा का सहित कुल रू0 148.14 करोड की 46 परियोजनाओं का लोकार्पण किया।
मा0 मुख्यमंत्री जी ने सरदार वल्लभ भाई पटेल कृषि एवं प्रौद्योगिक विष्वविद्यालय मेरठ में रू0 23.75 करोड की लागत से बने केन्द्रीय पुस्तकालय व रू0 49.14 करोड की लागत से बने कटाई उपरान्त प्रौद्योगिक एवं खाद्य प्रसंस्करण महाविद्यालय का लोकार्पण किया तथा कृषि विष्वविद्यालय की 13 अन्य परियोजनाओ का षिलान्यास किया, जिसमें रू0 3.93 करोड की जैव प्रौद्योगिक महाविद्यालय में स्थापित सूक्ष्मजीवी विष एवं पर्यावरणीय प्रदूषण विष्लेषण प्रयोगाषाला, रू0 3.52 करोड की पषु चिकित्सा एवं पषु विज्ञान महाविद्यालय में पषु चिकित्सा नैदानिक परिसर में पषुधन और पालतू जानवरों के लिए स्थापित गहन चिकित्सा इकाई, रू0 2.05 करोड की कटाई उपरान्त तकनीकी महाविद्यालय मंे स्थापित कृषि प्रसंस्करण केन्द्र,रू0 1.41 करोड की पषु चिकित्सा एवं  पषु विज्ञान महाविद्यालय में बरबरी बकरी के बेहतर जननद्रव्य के संरक्षण और पुनरूद्धार के लिए स्थापित बकरी इकाई, रू0 2.91 करोड की पषु चिकित्सा एवं पषु विज्ञान महाविद्यालय में पष्चिमी उ0प्र0 में पषुधन रोगो की जांच हेतु स्थापित प्रयोगषाला तथा विष्वविद्यालय अधिकार क्षेत्र के अंतर्गत रू0 13.58 करोड से गौतमबुद्ध नगर, गाजियाबाद, रामपुर, मुरादाबाद, बंदायू, शाहजहांपुर व पीलीभीत के 07 कृषि विज्ञान केन्द्रो के सुदृढीकरण कार्यों का षिलान्यास भी किया। इस प्रकार मा0 मुख्यमंत्री जी ने कृषि विष्वविद्यालय की  रू0 100.29 करोड की 14 परियोजनाओं का लोकार्पण/षिलान्यास किया।
इस अवसर पर राज्यमंत्री कृषि लाखन सिंह राजपूत, मा0 सांसद राजेन्द्र अग्रवाल, सांसद श्रीमती कांता कर्दम,  विधायक सरधना संगीत सोम, कैंट सत्य प्रकाष अग्रवाल, सिवालखास  जितेन्द्र सतवई, मेरठ दक्षिण सोमेन्द्र तोमर, हस्तिनापुर दिनेष खटीक, किठौर सत्यवीर त्यागी, आयुक्त रितु माहेष्वरी, जिलाधिकारी के0 बालाजी, कुलपति कृषि विष्वविद्यालय आर0के0 मित्तल सहित अन्य जनप्रतिनिधिगण, किसान व आमजन उपस्थित रहे। 
----------------------------------------------------------------------------------------------------------

  • मुख्यमंत्री ने कृषि विष्वविद्यालय मेें सरदार पटेल की प्रतिमा पर माल्यार्पण कर किया उनको नमन

  मुख्यमंत्री उ0प्र0  योगी आदित्य नाथ ने सरदार वल्लभ भाई पटेल कृषि एवं प्रौद्योगिक विष्वविद्यालय मेरठ में सरदार पटेल की प्रतिमा पर माल्यार्पण कर उनको शत-शत नमन किया। मुख्यमंत्री ने कहा कि लौह पुरूष सरदार पटेल का पूरा जीवन देष व समाज के लिए समर्पित रहा तथा अखंड भारत के निर्माण में उनके योगदान व दूरदर्षी सोच को कभी भूलाया नहीं जा सकता है। सरदार पटेल हम सभी की प्रेरणा के स्त्रोत है।
इस अवसर पर मा0 कृषि मंत्री श्री सूर्य प्रताप शाही सहित अन्य जनप्रतिनिधि आदि उपस्थित रहे।
--------------------------------------------------------------------------------------------------  

  • मुख्यमंत्री ने कृषि विष्वविद्यालय में फीता काटकर किया तीन दिवसीय कृषि प्रदर्षनी का उद्घाटन
  • भारत एक कृषि प्रधान देष, किसान इस देष की रीढ़- मुख्यमंत्री

मुख्यमंत्री ने सरदार वल्लभ भाई पटेल कृषि एवं प्रौद्योगिक विष्वविद्यालय मेरठ में तीन दिवसीय कृषि प्रदर्षनी का फीता काटकर उद्घाटन किया तथा प्रदर्षनी के प्रत्येक स्टाल का अवलोकन कर उसकी प्रषंसा की तथा योजनान्तर्गत लाभार्थी किसानों को अनुदान पर मिले ट्रैक्टरों की चाबी सौंपी। मुख्यमंत्री  ने कहा कि भारत एक कृषि प्रधान देष है तथा किसान इस देष की रीढ़ है। उन्होने कहा कि केन्द्र व प्रदेष सरकार किसानों की आय वर्ष 2022 तक दुगुनी करने के लिए अनेको कदम उठा रही है।
मुख्यमंत्री ने कहा कि कृषि प्रदर्षनी से किसानों को नई तकनीक की जानकारी होगी तथा जैविक खेती के विभिन्न आयामों के बारे में भी जानकारी मिलेगी। उन्होने कहा कि किसानों को अधिक से अधिक संख्या में आकर इस कृषि प्रदर्षनी का लाभ लेना चाहिए। उन्होने कहा कि किसानों की तरक्की में ही देष की तरक्की है। उन्होने कहा कि देष को खाद्यान्न आत्मनिर्भर बनाने में देष के व विषेषकर पष्चिमी उ0प्र0 के किसानों का बहुत योगदान रहा है।
इस अवसर पर  कृषि मंत्री श्री सूर्य प्रताप शाही सहित अन्य जनप्रतिनिधि आदि उपस्थित रहे।

Popular posts from this blog

मेरठ में महिला ने तीन बेटियों समेत खुद की गर्दन काटी, एक की मौत

मवाना में अवैध मीट कटान रोकने गई पुलिस टीम पर हमला 

परीक्षितगढ़ क्षेत्र के ग्राम सिखैड़ा में महिला मिली कोरोना पॉजिटिव