वेंक्टेश्वरा में ’’राष्ट्रीय बालिका दिवस’’ पर ’मातृशक्ति सम्मान समाराह’ एवं ’बेटी बचाओ-बेटी पढाओ’’ शपथ समारोह

Image
जिस देश में कन्या को दुर्गा के रुप में पूजा जाता है, वहां कन्या भ्रूण हत्या सिर्फ एक कानूनी अपराध नहीं बल्कि एक राष्ट्रीय अभिशाप-डाॅ0 सुधीर गिरि  आज हम मातृशक्ति को सम्मानित करते हुए खुद को गौरान्वित महसूस कर रहे है- डाॅ0 राजीव त्यागी अनीस खान यूरेशिया ब्यूरो मेरठ। राष्ट्रीय बालिका दिवस पर राष्ट्रीय राजमार्ग बाईपास स्थित वेंक्टेश्वरा संस्थान में अलग-अलग क्षेत्रो में उल्लेखनीय/उत्कृष्ट कार्य करने वाली 22 छात्राओ एवं महिला शिक्षिकाओ को स्मृति चिन्ह एवं पुरस्कार देकर सम्मानित किया गया। इस अवसर पर प्रतिकुलाधिपति डाॅ0 राजीव त्यागी ने उपस्थित स्टाॅफ एवं छात्र-छात्राओ को ’’बेटी बचाओ-बेटी पढाओ’’ की शपथ दिलाकर सभी से ’’महिला सशक्तिकरण अभियान के महाकुम्भ में अपना सक्रिय योगदान देने की अपील की। राष्ट्रीय बालिका दिवस पर ’’वेंक्टेश्वरा संस्थान के अब्दुल कलाम आजाद सभागार में ’’मातृशक्ति सम्मान समारोह एवं ’’बेटी बचाओ-बेटी पढाओ शपथ समारोह का शुभारम्भ विश्वविद्यालय के चेयरमैन डाॅ0 सुधीर गिरि, प्रतिकुलाधिपति डाॅ0 राजीव त्यागी, कुलपति प्रो0 पी0 के0 भारती, नर्सिंग प्रिंसीपल डाॅ0 एना ब्राउन ने सरस्वती माँ

झारखंड सरकार ने 9 लाख किसानों का कर्ज माफ किया


रांची,  (एजेंसी) झारखंड सरकार ने करीब नौ लाख किसानों के पचास हजार रुपये तक की कर्ज राशि माफ करने का फैसला किया है। इसके लिए वर्तमान वित्तीय वर्ष में बजटीय आवंटन के अनुरूप दो हजार करोड़ रुपये खर्च किये जायेंगे। झामुमो-कांग्रेस-राजद गठबंधन की सरकार के 29 दिसंबर को सत्ता में एक साल पूरा होने के पहले यह निर्णय किया गया है। मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन की अध्यक्षता में बुधवार को हुई मंत्रिमंडल की बैठक में इस आशय पर निर्णय लिया गया। राज्य के वित्त मंत्री और कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष डॉ. रामेश्वर उरांव ने कहा, ‘‘सरकार ने सबसे पहले छोटे किसानों को कर्ज माफी का लाभ देने का फैसला किया है और आगे दूसरे और तीसरे चरणों में एक लाख रुपये और दो लाख रुपये तक के ऋण लेने वाले किसानों के भी कर्ज माफ करने का प्रयास किया जाएगा।' मंत्रिमंडल ने किसानों की ऋण माफी के लिए 2,000 करोड़ रुपये के आवंटन को स्वीकृति प्रदान की है। इस राशि से राज्य के सभी किसानों एवं मजदूरों के किसी भी बैंक से लिये गये 50 हजार रुपये तक के कृषि ऋण माफ होंगे। मंत्रिमंडल की बैठक में लिये गये फैसले के अनुसार राज्य सरकार फिलहाल 31 मार्च 2020 तक ऋण लेने वाले किसानों के ही कर्ज माफ करेगी। योजना के तहत एक परिवार से एक ही व्यक्ति का ऋण माफ किया जायेगा। कर्ज माफी के लिए आवेदन करने वाले किसानों से सांकेतिक रूप से एक रुपये का सेवा शुल्क लिया जाएगा। ऋण का पैसा डीबीटी के माध्यम से किसानों के बैंक खाते में सीधे हस्तांतरित किया जाएगा। झामुमो के मुख्य प्रवक्ता सुप्रियो भट्टाचार्य ने राज्य सरकार के इस फैसले का स्वागत करते हुए कहा, ‘कोविड-19 के चलते राज्य सरकार को यह फैसला करने में विलंब हुआ, लेकिन हमारी सरकार ने एक वर्ष पूरा होने से पूर्व यह कदम उठाकर किसानों की मदद करने की अपनी मंशा स्पष्ट कर दी है।'

Popular posts from this blog

मेरठ में महिला ने तीन बेटियों समेत खुद की गर्दन काटी, एक की मौत

मवाना में अवैध मीट कटान रोकने गई पुलिस टीम पर हमला 

परीक्षितगढ़ क्षेत्र के ग्राम सिखैड़ा में महिला मिली कोरोना पॉजिटिव