पत्रकार को धमकी देने वाले बिल्डर के खिलाफ केस दर्ज़,बिल्डर व गुर्गे फरार

युरेशिया नई दिल्ली। विश्व पत्रकार महासंघ दिल्ली प्रदेश ने मध्य जिला पुलिस उपायुक्त संजय भाटिया व एडिशनल डी सी पी रोहित कुमार मीणा को ज्ञापन व मांग पत्र सौंप कर पत्रकार मणि आर्य को धमकी देने वाले बिल्डर के खिलाफ मुकदमा दर्ज़ करके कार्रवाई की मांग की थी। पत्रकार मणि आर्य ने दिल्ली के पहाड़गंज में बाराही माता मंदिर में चल रहे अवैध निर्माण और निगम में फैले भ्रष्टाचार और भू - माफिया बिल्डर द्वारा सरकारी भूमि पर कब्जे को लेकर खबर को प्रकाशित की थी। जिसके बाद अब दिल्ली पुलिस ने सच दिखाकर प्रशासन को जगाने वाले स्थानीय पत्रकार मणि आर्य को धमकी देने वाले बिल्डर व उसके गुर्गों के खिलाफ नबी करीम थाना पुलिस भारतीय दंड सहिंता की धारा 506 के अंतर्गत रिपोर्ट संख्या 0013/2020 के तहत ने जान से मारने की धमकी देने का केस दर्ज़ कर लिया है। केस दर्ज़ होने की भनक लगते ही गिरफ्तारी के डर से आरोपी बिल्डर और उसके कई गुर्गे भूमिगत हो गए हैं। गौरतलब है की स्थनीय जनप्रतिनिधियों से सांठगांठ करके बिल्डर बड़े पैमाने पर अवैध निर्माण करने में माहिर माना जाता है इसलिए निगम पार्षद से लेकर महापौर तक मंदिर पर अवैध निर्माण को

सोशल यूथ डवलपमेंट फाउंडेशन ने कोरोना योद्धाओं को किया सम्मानित


रिहान आलम//युरेशिया ब्यूरो


सरधना। रविवार को सरधना ब्लॉक के गांव कैली में सोशल यूथ डवलपमेंट फाउंडेशन द्वारा कोविड-19 के दौरान अपनी जान जोखिम में डाल कर लोगों की उत्कृष्ट सेवा करने वाले कोरोना योद्धाओं को सम्मानित किया गया। इसमें चिकित्सक, आशा, आंगनबाड़ी, लैब टेक्नीशियन, सफाईकर्मी व समाज सेवी आदि शामिल रहे। इस दौरान वक्ताओं ने कोराना काल में सेवा करने पर कोरोना योद्धाओं के कार्य की सराहना की।
सोशल यूथ डवलपमेंट फाउंडेशन के तत्वावधान में आयोजित सम्मान समारोह में कोरोना योद्धाओं को प्रतीक चिन्ह व प्रमाण पत्र भेंट कर सम्मानित किया। इस अवसर पर मुख्य अतिथि महराज प्रधान व विशिष्ट अतिथि राहूल शर्मा ने कहा कि लॉक डाउन के दौरान पुलिसकर्मियों, सफाईकर्मियों, व स्वास्थ्यकर्मियों ने पूरी ईमानदारी के साथ अपनी जिम्मेदारी निभाई है। जबकि आशाओं व आगंनबाडी कार्यकत्रियों ने कोरोना संक्रमण काल में हॉटस्पॉट घोषित होने वाले गांव में पहुंचकर लोगों को संक्रमण के प्रति सावधान करने के साथ ही मरीजों की हौसला अफजाई भी की है। इनकी सेवा को कभी भी भुलाया नहीं जा सकता। इस दौरान फाउंडेशन की अध्यक्ष व राज्य सरकार द्वारा रानी लक्ष्मीबाई अवार्डी जैनब खान ने कहा कि कोरोना काल में सफाई कर्मियों से लेकर प्रशासनिक अधिकारी, आशा, आंगनबाड़ी, चिकित्सक, पुलिसकर्मी ने जो बेहतर कार्य किए हैं ऐसे कोरोना योद्धाओं के बलबूते ही भारत कोरोना को मात देने में आग्रणीय रहा है। और देश में रिकवरी रेट भी ज्यादा है। उन्होंने कहा कि कोरोना से बचाव हेतु जनता को और ज्यादा जागरूक करने की आवश्यकता है। इस दौरान उन्होंने सोशल डिस्टेंस का पालन, मास्क लगाने व सैनेटाइज का प्रयोग करने की अपील की। वहीं महासचिव महताब अली व सचिव राशिद अल्वी ने कहा कि लॉकडाउन में लोगाें तक हर संभव मदद पहुंचाने वाले कोरोना योद्धाओं को सम्मानित करके फाउंडेशन ने ऐसे लोगों के लिए एक प्रयास किया है जिन्होंने अपने कर्तव्यों के प्रति पूर्ण रूप से निष्ठा दिखाई है। उन्होंने कहा कि फाउंडेशन किसी भी क्षेत्र में समाज सेवा करने वाले व्यक्तियों को सम्मानित करती है।इस अवसर पर शाहरूख, शशी देवी, अली मोहम्मद, अतुल सोम, साकिब, सुमित सलावा, सत्यवती, सुमन, पिंकी आदि मौजूद रहें।


Popular posts from this blog

परीक्षितगढ़ क्षेत्र के ग्राम सिखैड़ा में महिला मिली कोरोना पॉजिटिव

मवाना में अवैध मीट कटान रोकने गई पुलिस टीम पर हमला 

माछरा गांव में खुलेआम उड़ाई जा रही हैं लॉक डाउन की धज्जियां