पत्रकार को धमकी देने वाले बिल्डर के खिलाफ केस दर्ज़,बिल्डर व गुर्गे फरार

युरेशिया नई दिल्ली। विश्व पत्रकार महासंघ दिल्ली प्रदेश ने मध्य जिला पुलिस उपायुक्त संजय भाटिया व एडिशनल डी सी पी रोहित कुमार मीणा को ज्ञापन व मांग पत्र सौंप कर पत्रकार मणि आर्य को धमकी देने वाले बिल्डर के खिलाफ मुकदमा दर्ज़ करके कार्रवाई की मांग की थी। पत्रकार मणि आर्य ने दिल्ली के पहाड़गंज में बाराही माता मंदिर में चल रहे अवैध निर्माण और निगम में फैले भ्रष्टाचार और भू - माफिया बिल्डर द्वारा सरकारी भूमि पर कब्जे को लेकर खबर को प्रकाशित की थी। जिसके बाद अब दिल्ली पुलिस ने सच दिखाकर प्रशासन को जगाने वाले स्थानीय पत्रकार मणि आर्य को धमकी देने वाले बिल्डर व उसके गुर्गों के खिलाफ नबी करीम थाना पुलिस भारतीय दंड सहिंता की धारा 506 के अंतर्गत रिपोर्ट संख्या 0013/2020 के तहत ने जान से मारने की धमकी देने का केस दर्ज़ कर लिया है। केस दर्ज़ होने की भनक लगते ही गिरफ्तारी के डर से आरोपी बिल्डर और उसके कई गुर्गे भूमिगत हो गए हैं। गौरतलब है की स्थनीय जनप्रतिनिधियों से सांठगांठ करके बिल्डर बड़े पैमाने पर अवैध निर्माण करने में माहिर माना जाता है इसलिए निगम पार्षद से लेकर महापौर तक मंदिर पर अवैध निर्माण को

पति नशा करके आया तो पत्नी ने गला घोंटकर मार दिया, 16 दिन पहले हुआ था निकाह


हरिद्वार के झबरेड़ा क्षेत्र में पति की हत्या के आरोप में पुलिस ने पत्नी को गिरफ्तार किया है। यही नहीं घर गला घोंटने के बाद पत्नी ने अपने पति का शव घसीट कर उसे घर के बाहर सड़क पर फेंक दिया और उसके उपर त्रिपाल भी डाल दी।
सीओ मंगलौर ने वारदात का खुलासा करते हुए बताया कि झबरेड़ा में शुक्रवार को शाहनवाज पुत्र शमशाद निवासी शेखपुरा कदीम​ जिला सहारनपुर का शव उसके घर के बाहर ही मिला था। मृतक पिछले दो माह से अपने बहनोई अहसान के घर नूरबस्ती झबरेड़ा में रह रहा था और पिछली 18 अक्टूबर को ही उसकी शादी कांधला, शामली निवासी मुस्कान के साथ हुई थी। शाहनवाज बेरोजगार था और नशे का आदी भी था। ये बात मुस्कान को पता नहीं थी और मुस्कान शादी के बाद से ही अपने पति के नशे की लत से परेशान थी।गुरुवार रात शाहनवाज नशा करके घर लौटा और मुस्कान ने जब ऐतराज किया को शाहनवाज ने मुस्कान को बुरी तरह पीटा। इसके बाद शाहनवाज सो गया और इसी बीच मुस्कान ने नींद में अपने पति का गला घोंट कर उसे मार दिया। इसके बाद उसका शव घसीट कर बाहर फेंक दिया। पुलिस को पहला लगा था कि घटना शाहनवाज के किसी दोस्त ने की है। लेकिन जांच में पत्नी की भूमिका संदिग्ध ​रही और कडाई से पूछताछ करने पर पत्नी ने अपने जुर्म का इकबाल कर लिया।


Popular posts from this blog

परीक्षितगढ़ क्षेत्र के ग्राम सिखैड़ा में महिला मिली कोरोना पॉजिटिव

मवाना में अवैध मीट कटान रोकने गई पुलिस टीम पर हमला 

माछरा गांव में खुलेआम उड़ाई जा रही हैं लॉक डाउन की धज्जियां