राष्ट्रगान में बदलाव के लिए सुब्रमण्यम स्वामी ने पीएम को लिखा पत्र, ट्विटर पर लिखा ये पोस्ट

नई दिल्लीः बीजेपी नेता सुब्रमण्यम स्वामी ने राष्ट्रगान में बदलाव के लिए पीएम मोदी को पत्र लिखा है. स्वामी ने पीएम मोदी को भेजे गए इस पत्र को ट्विटर पर भी शेयर किया है. उन्होंने खत में कहा है कि राष्ट्रगान 'जन गण मन...' को संविधान सभा में सदन का मत मानकर स्वीकार कर लिया गया था. उन्होंने आगे लिखा है, 26 नवंबर, 1949 को संविधान सभा के आखिरी दिन अध्यक्ष राजेंद्र प्रसाद ने बिना वोटिंग के ही 'जन गण मन...' को राष्ट्रगान के रूप में स्वीकार कर लिया था. हालांकि, उन्होंने माना था कि भविष्य में संसद इसके शब्दों में बदलाव कर सकती है. स्वामी ने लिखा है कि उस वक्त आम सहमति जरूरी थी क्योंकि कई सदस्यों का मानना था कि इस पर बहस होनी चाहिए, क्योंकि इसे 1912 में हुए कांग्रेस अधिवेशन में ब्रिटिश राजा के स्वागत में गाया गया था.

गंगा हाफ मैराथन दौड़ में बालिकाओं मे मेरठ की ज्योति व युवको में सहारनपुर के प्रिंस ने प्रथम स्थान प्राप्त किया


वासुदेव शर्मा/युरेशिया


मीरापुर। गंगा उत्सव के दौरान आयोजित गंगा हाफ मैराथन दौड़ मे बालिकाओं ने दौड़ से किया रोमांचित ग्रामीणों ने धावकों का तालिया बजा कर किया उत्साहवर्धन। गंगा हाफ मैराथन दौड़ में बालिकाओं मे मेरठ की ज्योति व युवको में सहारनपुर के प्रिंस ने प्रथम स्थान प्राप्त किया।
गंगा उत्सव के उपलक्ष में आयोजित गंगा हाफ मैराथन दौड़ का आयोजन युवको की दौड का शुभारम्भ सालारपुर से किया गया वहीं बालिकाओं की दौड का शुभारम्भ सिकरेडा के निकट कस्तूरबा गांधी विद्यालय के निकट डीआईजी उपेन्द्रनाथ अग्रवाल व मण्डलायुक्त ने हरी झंडी दिखाकर किया। कार्यक्रम का समापन गंगा बेराज गेस्ट हाउस पर किया गया। इस हाफ मेराथन दौड में प्रयागराज, लखनऊ, वाराणसी, मुजफ्फरनगर, मेरठ, फैजाबाद, 31 जिलों के 100 युवको व 92 बालिकाओं ने हिस्सा लिया। बालका धाविकाओं को दौड़ता देख सिकरेड़ा, शिवपुरी, कैलापुर व देवल में ग्रामीण महिलाएं व पुरुष सड़क किनारे एकत्र हो गए तथा तालिया बजाकर उनका उत्साहवर्धन किया। ग्राम सिकरेडा के निकट कस्तूरबा गांधी बालिका विद्यालय से बालिका धाविकों को साढे दस किलोमीटर दौड़ के लिए सहारनपुर मंडल आयुक्त संजय कुमार, सहारनपुर डीआईजी उपेंद्र अग्रवाल ने फीता काटकर व हरी झंडी दिखा कर रवाना किया। गंगा हाफ मैराथन में 92 महिला धावकों ने हिस्सा लिया। प्रथम विजेता जिला मेरठ के कस्बा मवाना निवासी ज्योति ने साहस का परिचय देते हुए 10.5 किलोमीटर की दौड़ को सिकरेडा से गंगा बैराज तक 35ः05 मिनट में पूरा किया। प्रयागराज के ग्राम झोसी सविता पाल ने 35ः07 में द्वितीय स्थान, मुजफ्फरनगर के कस्बा रोहना निवासी की अर्पिता सैनी ने 35ः08 मिनट में तृतीय स्थान प्राप्त किया। हाफ मैराथन मे आखिरी छोर पर 75 खिलाडी ही पहुंच पाई। जबकि 17 खिलाड़ी दौड़ के दौरान बाहर हो गई। चार महिला खिलाड़ी दौड़ के दौरान चक्कर आकर बेहोश हो गई। जिन्हे उपचार के लिये एम्बुलेंस द्वारा बिजनौर अस्पताल में भर्ती कराया गया। जानसठ क्षेत्र के जानसठ के सालारपुर से शुरू हुई पुरुष 21 किलोमीटर की मैराथन दौड़ में सहारनपुर के जगोता निवासी प्रिंस कुमार ने 1 घंटे 6.33 मे पहुँचकर प्रथम स्थान प्राप्त किया। वाराणसी के भदोही निवासी वासुदेव निशाद ने 1.33.42 में पहंुच कर द्वितीय स्थान व मुजफ्फरनगर के जाट कॉलोनी निवासी रीनू कुमार ने 1.33.44 मे पहुँचकर तीसरे स्थान प्राप्त किया। गंगा बैराज पर स्थित सिंचाई विभाग के गेस्ट हाउस में आयोजित कार्यक्रम का शुभारंभ सहारनपुर मंडल आयुक्त संजय कुमार, सहारनपुर डीआईजी उपेंद्र अग्रवाल, मुजफ्फरनगर जिलाधिकारी सेल्वा कुमारी जे, मुजफ्फरनगर एसएसपी अभिषेक यादव, डीएफओ सूरज कुमार ने संयुक्त रूप से दीप प्रज्वलित कर किया। कार्यक्रम में उपस्थित लोगों को सहारनपुर मंडल आयुक्त संजय कुमार ने गंगा को स्वच्छ व निर्मल रखने के लिए शपथ दिलाई। कार्यक्रम में पुरुष व महिला विंग मे प्रथम स्थान प्राप्त करने वाले धावकों को 51000 हजार रुपए का चेक व मेडल, द्वितीय स्थान प्राप्त करने वाले धावकों को 35000 हजार रुपये का चैक व मेंडल, तृतीय स्थान पाने वाले को 25000 रूपये का चेक में मेडल देकर सम्मानित किया गया। वहीं आखरी 10 धावकों को आखिरी छोर तक पहुंचने पर 10 हजार रूपये व शील्ड देकर हौसला अफजाई की गई। कार्यक्रम को दृष्टिगत रखते हुए गंगा मैराथन के दौरान यातायात का आगमन निम्न मार्गों पर पूर्ण वर्जित रहा। जानसठ फ्लाईओवर बाईपास के नीचे शेरनगर नगर से किसी भी प्रकार का वाहन का आगवामन जानसठ मीरापुर रामराज की ओर से नहीं किया गया। रामराज मेरठ बॉर्डर से किसी भी प्रकार का वाहन मीरापुर बिजनौर मुजफ्फरनगर की ओर नहीं जाने दिया गया। बिजनौर बॉर्डर से किसी भी प्रकार का वाहन मुजफ्फरनगर व मेरठ की ओर नहीं आया। कार्यक्रम के बाद लगभग 11 बजे हाईवे को खोल दिया गया।
कार्यक्रम में सहारनपुर मंडल संजय कुमार, सहारनपुर डीआईजी उपेंद्र अग्रवाल, जिला अधिकारी सेल्वा कुमारी जे, एसएसपी अभिषेक यादव, अमित सिंह अपर जिलाधिकारी मुजफ्फरनगर, विनोद कुमार एडीएम वित्त सहारनपुर, एसबी सिंह एडीएम प्रशासन सहारनपुर, अरविंद कुमार सिंह एडीएम शामली, काशी नरेश यादव क्रीड़ा अधिकारी सहारनपुर, हरफूल सिंह कीड़ा अधिकारी मुजफ्फरनगर, अशोक कुमार गुप्ता उपाध्यक्ष उत्तर प्रदेश एथेलेटिक्स, प्रेम कुमार क्षेत्रीय क्रीड़ा अधिकारी सहारनपुर, एसपी देहात नेपाल सिंह, सी ओ शकील अहमद, सीओ भोपा व अन्य समस्त अधिकारीगण मौजूद रहे।


Popular posts from this blog

परीक्षितगढ़ क्षेत्र के ग्राम सिखैड़ा में महिला मिली कोरोना पॉजिटिव

मवाना में अवैध मीट कटान रोकने गई पुलिस टीम पर हमला 

माछरा गांव में खुलेआम उड़ाई जा रही हैं लॉक डाउन की धज्जियां