सुबह 8 बजे से वोटिंग शुरू, नोटा का नहीं है विकल्प, हर हाल में देना होगा वोट

Image
मेरठ  ( युरेशिया) । स्नातक एवं शिक्षक चुनाव के लिए आज 1 दिसंबर 2020 को वोट डाले जा रहे हैं। जिसके लिए विक्टोरिया पार्क से सोमवार को ही पोलिंग पार्टी रवाना हुई थीं। जनपद मेरठ में स्नातक के लिए 77 व शिक्षक के लिए 30 बूथ बनाए गए हैं। एक पोलिंग पार्टी में एक पीठासीन अधिकारी व 3 मतदान अधिकारी मौजूद हैं। सुबह आठ बजे से वोटिंग शुरू हो गई है। जो शाम पांच बजे तक चलेगी।अधिकारी भी लगातार बूथ पर निरीक्षण कर रहे हैं। जिलाधिकारी के. बालाजी ने बताया कि मेरठ खंड स्नातक निर्वाचन के लिए मेरठ व सहारनपुर मंडल के सभी नौ जनपदों में मिलाकर 113 मतदान केन्द्र व 372 मतदेय स्थल (सहायक बूथ सहित) बनाये गये हैं। मेरठ खंड शिक्षक निर्वाचन के लिए मेरठ व सहारनपुर मंडल के सभी नौ जनपदों में मिलाकर 111 मतदान केन्द्र व 116 मतदेय स्थल (सहायक बूथ सहित) बनाये गये हैं। मेरठ में स्नातक के लिए 77 बूथ व 31 मतदान केन्द्र तथा शिक्षक निर्वाचन के लिए 30 बूथ व 30 मतदान केन्द्र हैं। उन्होंने बताया कि मतदान प्रातः 8.00 बजे से शाम 5.00 बजे तक होगा। स्नातक के लिए 30 व शिक्षक निर्वाचन के लिए 15 प्रत्याशी चुनाव लड़ रहे हैं। मतपत्र में नोटा

दो नेपाली समेत पुलिस ने दबोचे दस शातिर ठग


फोटो परिचय: सहारनपुर में पुलिस द्वारा दबोचे गए ठगी करने के आरोपी व जानकारी देते एसएसपी।


विरेन्द्र सिंह/युरेशिया


सहारनपुर। थाना साइबर क्राइम व थाना नगर कोतवाली की संयुक्त टीम ने चौकी नुकाइश कैम्प क्षेत्र में एक मकान में छापा मारकर पेटीएम के नाम पर ठगी करने वाले गिरोह के एक महिला समेत दस आरोपियों को दबोचने में सफलता हासिल कर ली। पुलिस ने आरोपियों के कब्जे से कम्प्यूटर, थम स्केनर, पेटीएम, पेटीएम डिवाइस व लाखों रूपए की नगदी बरामद करने में सफलता हासिल कर ली। वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक डा. एस. चन्नपा ने पुलिस लाईन सभागार में पत्रकारों को जानकारी देते हुए बताया कि थाना साइबर क्राइम परिक्षेत्र सहारनपुर द्वारा यूनुस पुत्र फजलुर्रहमान के प्रार्थना पत्र की जांच की जा रही है। इस दौरान मुखबिर की सूचना पर थाना नगर कोतवाली पुलिस व थाना साइबर क्राइम की संयुक्त टीम ने चौकी नुकाइश कैम्प से ठगी करने वाले गिरोह के दस शातिर बदमाशों को गिरफ्तार कर लिया। दबोचे गए आरोपियों में हरदीप सिंह उर्फ गौरव बेदी, अर्शदीप उर्फ हन्नी बेदी पुत्रगण कुलदीप सिंह बेदी निवासीगण राधा विहार नुमाइश कैम्प, अमन पोपली पुत्र मदनलाल पोपली निवासी न्यू गोपाल नगर नुमाइश कैम्प थाना कोतवाली, गौरव गुम्बर उर्फ काकू पुत्र नाथूराम निवासी राधा विहार निकट काली मंदिर थाना कोतवाली नगर, अमन गर्ग पुत्र प्रदीप गर्ग निवासी भूतेश्वर मंदिर रोड माधव विहार कालोनी थाना मंडी, सन्नी उर्फ तेजेंद्र सिंह पुत्र जसवीर सिंह निवासी पंजाबी बाग हकीकत नगर थाना सदर बाजार, अंकित त्यागी पुत्र संजय त्यागी निवासी गौशाला रोड थाना मंडी, भानू भक्त पोडले पुत्र ठगेश्वर पोडले निवासी अरघातोष जिला अरघाखाची राज्य लुम्बनी नेपाल हाल निवासी फ्लैट नम्बर-606 सिल्वर आर्च अपार्टमेंट 22 नम्बर फिरोजशाह रोड थाना बाराखम्भा दिल्ली, पदमराज सुबेदी पुत्र चेतनारायण सुबेदी निवासी गांव हुंगा थाना सरंगा जिला लुम्बनी नेपाल हाल निवासी  फ्लैट नम्बर-606 सिल्वर आर्च अपार्टमेंट 22 नम्बर फिरोजशाह रोड थाना बाराखम्भा दिल्ली, मुमताज उर्फ छम्मकछल्लो निवासी रमजानपुरा थाना कोतवाली देहात शामिल हैं। पुलिस ने आरोपियों के कब्जे से एक कम्प्यूटर मय सीपीयू, एक थम्ब स्केनर, एक प्रिंटर, 24 मोबाइल फोन, 664 सिम कार्ड, 2 रजिस्टर मय सिम चिपके हुए, 4 लाख 50 हजार रूपए, 19 आधार कार्ड, 16 आधार कार्ड की छायाप्रति, 4 पेटीएम डिवाइस, 20 बार कोड, एक मोहर, तीन बैग बरामद कर लिए। एसएसपी ने बताया कि पूछताछ में आरोपियों ने खुलासा किया कि वे जनता के भोलेभाले व्यक्तियों को विभिन्न स्कीमों का लालच देकर उनके आधार कार्ड व फोटो ले लेते हैं। आधार कार्ड लेने के लिए एक महिला मुमताज उर्फ छम्मकछल्लो को भी गैंग में शामिल किया हुआ है। वह गरीब व भोलेभाले लोगों से बताई गई स्कीमों का लालच देकर तथा कुछ पैसे देकर उनके आधार कार्ड, पेन कार्ड व फोटो रोजाना लेकर आती है। एक आधार कार्ड व एक आदमी के हिसाब से 1000 रूपए देते हैं और उस आदमी को इन स्कीमों के लालच देकर उनके आधार कार्ड, फोटो व पेन कार्ड पर सिम लेकर तथा उस सिम पर पेटीएम का केवाईसी अपडेट करके सिम को अपने पास रख लेते हैं तथा उन सिमों को दिल्ली में अपने गैंग के अन्य सदस्यों को देकर आते हैं तथा एक सिम के हिसाब से 5800 रूपए मिलते हैं। यह गैंग कम्प्यूटर की सहायता से आधार कार्डों से नाम व आधार नम्बर बदलकर फर्जी आधार कार्ड भी तैयार करते हैं जिन्हें अन्य फर्जी कामों में लाते हैं। एसएसपी डा. चन्नपा ने बताया कि जांच के दौरान 1400 पेटीएम एकाउंट ब्लॉक कराए गए जिनमें लगभग 53 लाख रूपए फ्रिज कराए गए। उन्होंने बताया कि इस गैंग से जुड़े सभी व्यक्तियों के बारे में जांच पड़ताल की जा रही है तथा गैंग में शामिल अपराधियों की गिरफ्तारी के लिए टीमें गठित की गई हैं जिन्हें शीघ्र ही गिरफ्तार कर लिया जाएगा।


Popular posts from this blog

परीक्षितगढ़ क्षेत्र के ग्राम सिखैड़ा में महिला मिली कोरोना पॉजिटिव

मवाना में अवैध मीट कटान रोकने गई पुलिस टीम पर हमला 

माछरा गांव में खुलेआम उड़ाई जा रही हैं लॉक डाउन की धज्जियां