दिल्ली-एनसीआर सहित खराब वायु गुणवत्ता वाले सभी शहरों और कस्बों में पटाखों पर पूर्ण प्रतिबंध


  • जहां गुणवत्ता ठीक वहां 2 घंटे की छूट

  •  आज रात से 30 नंवबर तक न बेच सकेंगे और न जला सकेंगे



नयी दिल्ली/मुंबई,  (एजेंसी)।  राष्ट्रीय हरित प्राधिकरण (एनजीटी) ने दिल्ली और राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र (एनसीआर) में 9 नवंबर मध्यरात्रि से लेकर 30 नवंबर को आधी रात तक सभी प्रकार के पटाखों की बिक्री और इस्तेमाल पर पूर्णत: प्रतिबंध लगा दिया है। उधर, नगर निगम ने दिवाली से पहले सार्वजिनक, निजी स्थानों पर पटाखे जलाने और आतिशबाजी करने पर लगाया प्रतिबंध।
एनजीटी अध्यक्ष न्यायमूर्ति आदर्श कुमार गोयल के नेतृत्व वाली एक पीठ ने यह भी स्पष्ट कर दिया कि यह प्रतिबंध देश के हर उस शहर और कस्बे पर लागू होगा जहां नवंबर के महीने (पिछले साल के उपलब्ध आंकड़ों के अनुसार) में वायु गुणवत्ता 'खराबश् या उससे ऊपर की श्रेणियों में दर्ज की गई थी। पीठ ने कहा कि वैसे शहर या कस्बे जहां वायु गणवत्ता 'मध्यमÓया उसके नीचे दर्ज की गई, वहां सिर्फ हरित पटाखों की बिक्री हो सकती है और दिवाली, छठ, नया साल, क्रिसमस की पूर्व संध्या जैसे अन्य मौकों पर पटाखों के इस्तेमाल और उन्हें फोडऩे की समय सीमा को 2 घंटे तक ही सीमित रखी जा सकती है, जैसा कि संबंधित राज्य इसको तय कर सकते हैं।श् पीठ ने कहा कि वहीं अन्य स्थानों पर प्रतिबंधध्रोक अधिकारियों के लिए वैकल्पिक है और अगर अधिकारियों के आदेश में इस संबंध में कड़े कदम हैं, तो वे लागू होंगे। इसके अलावा एनजीटी ने सभी राज्यों/केंद्रशासित प्रदेशों को सभी स्रोतों से होने वाले वायु प्रदूषण को नियंत्रण में करने के लिए पहल शुरू करने का निर्देश दिया क्योंकि प्रदूषण से संभावित रूप से कोविड-19 के मामले बढ़ सकते हैं।  


Comments

Popular posts from this blog

यूपी पंचायत चुनाव : मेरठ में ग्राम प्रधान पदों की आरक्षण सूची जारी, देखें ब्लॉकवार आरक्षण की सूची

मेरठ में महिला ने तीन बेटियों समेत खुद की गर्दन काटी, एक की मौत

मुरादनगर में दर्दनाक हादसा, अंतिम संस्कार में गए लोगों पर गिरने से 23 की मौत, CM ने मांगी रिपोर्ट