प्रदेश के पर्यावरण व जलमंत्री ने किया शिक्षिका डा.सुमन को सम्मानित

Image
युरेशिया संवाददाता हापुड़। गणतंत्र दिवस पर उ.प्र. सरकार में पर्यावरण व जल राज्य मंत्री में शिक्षा के प्रति जागरूक करनें के लिए शिवा प्राथमिक पाठशाला की प्रधानाध्यापिका डॉ.सुमन अग्रवाल को  स्मृति चिन्ह देकर सम्मानित किया गया।     हापुड़ के  बुलन्दशहर रोड़ स्थित जेएमएस वर्ड स्कूल में गणतंत्र दिवस पर विभिन्न क्षेत्रों में योगदान देनें वाली हस्तियों को सम्मानित किया गया।     इसी क्रम में शिक्षा के क्षेत्र में बच्चों व अभिभावकों को शिक्षा के प्रति जागरूक करनें पर उ.प्र. सरकार में पर्यावरण व जल राज्य मंत्री अनिल शर्मा ने हापुड़ नगर क्षेत्र की प्रधानाध्यापिका डॉ.सुमन अग्रवाल  को स्मृति चिन्ह देकर सम्मानित किया। इसके अलावा पूर्व चेयरमेन मालती भारती,उम्मीद एनजीओ संचालित गरिमा ,शिक्षिका श्वेता मनचंदा सहित अन्य हस्तियों को भी सम्मानित किया गया।

खैरनगर में पुरानी दीवारों पर अवैध् निर्माण कर डाला जा रहा लैंटर गिरा, बड़ा हादसा होते-होते बचा


सोनू/युरेशिया संवाददाता

मेरठ। एमडीए के क्षेत्र में अवैध् निर्माणों का ध्ड़ल्ले से काम होना जारी है, जिन पर फिलहाल कोई लगाम लगती नहीं दिख रही है। आनन-फानन में जल्दबाजी में डाले जा रहे लैंटरों के कारण कभी भी कोई बड़ा हादसा घटित हो सकता है, परंतु एमडीए के अवैध् निर्माणों को रोकने के लिए नियुक्त अध्किरी व कर्मचारी इस ओर से आंखें मूंदे बैठे हुए हैं, लगता है उन्होनें शायद किसी बड़े हादसे का इंतजार है। खैरनगर में भी आज सुबह पुरानी दीवार व पिलरों व डाला जा रहा लैंटर का काफी हिस्सा बराबर वाली सम्पत्ति पर गिर गया, गनीमत रही कि कोई बड़ा हादसा नहीं हुआ, वहीं अवैध् निर्माणकर्ताओं द्वारा मामले को छुपाने के लिए मलबे को हटवा दिया गया। 

बताते चलें कि खैरनगर स्थित फिलिमस्तान सिनेमा के निकट चमन पेंटस की दुकान वाली सम्पत्ति में अवैध् निर्माण कर पुरानी दीवारों पर नई पिलरों के साथ एक के बाद एक लगातार दो नये लैंटर डाले दिये गये जबकि दो लैंटर पुरानी सम्पत्ति में पहले से ही मौजूद थे और तेजी से अवैध् निर्माण को निर्माणकर्ता पूरा कराने में जुटे हुए थे, लेकिन आज सुबह पिलरों पर अध्कि वजन होने के कारण एक लैंटर का अध्किंश हिस्सा बराबर वाली सम्पत्ति व गली में भरभरा कर गिर गया, गनीमत रही कि कोई इसकी चपेट में नहीं आया वरना बड़ा हादसा घटित हो सकता था। निर्माणकर्ताओं ने मामले को छुपाने के लिए मलबे को शीघ्र ही वहां से हटवा दिया और अब गिरे हुए लैंटर को दोबारा से पूरा कराने की जुगत में जुट गये हैं। अब देखना यह है कि एमडीए के क्षेत्र में तैनात अध्किरियों की नींद कब तक इस अवैध् निर्माण पर खुलती है और इस अवैध् निर्माण पर सील व ध्वस्तीकरण की कार्रवाई होती है।

Popular posts from this blog

मेरठ में महिला ने तीन बेटियों समेत खुद की गर्दन काटी, एक की मौत

मवाना में अवैध मीट कटान रोकने गई पुलिस टीम पर हमला 

परीक्षितगढ़ क्षेत्र के ग्राम सिखैड़ा में महिला मिली कोरोना पॉजिटिव