केनरा बैंक(पूर्व सिंडिकेट) की ब्रांच का हुआ शुभारंभ

Image
फोटो परिचय:-शुभारंभ करते हुए रीजनल मैनेजर देवराज सिंह  डॉ असलम यूरेशिया बहसूमा। नगर के हसापुर रोड पर केनरा बैंक सिंडिकेट की ब्रांच स्थानांतरण करने के बाद शुभारंभ किया गया। शुभारंभ करने के बाद रीजनल मैनेजर देवराज सिंह ने कहा कि केनरा बैंक की नई जगह ब्रांच खोलने से ग्राहकों को परेशानी का सामना करना नहीं पड़ेगा। आसानी से अपना पैसा जमा या निकाल सकते हैं। अलग-अलग जमा करने एवं निकालने की डेक्स बनाई गई है। जिससे ग्राहकों को आसानी से पैसा जमा किया जाएगा। उन्होंने कहा कि 114 वर्ष पूर्व हमारे संस्थापक अंबेबल सुब्बाराव पई मंगलूर कर्नाटक में एक संस्थान की न्यू रखी गई जो कि आज भारत के प्रमुख वाणिज्यिक बैंकों में से एक है और 1910 में केनरा बैंक के रूप में पल्लवित हुआ। उन्होंने कहा कि सुब्बाराव पई एक महान मानव प्रेमी होने के साथ-साथ समाजसेवी भी थे। जिनके विचारों में एक अच्छा बैंक ने केवल समाज का वित्तीय हृदय होता है। उन्होंने कहा कि केनरा बैंक की 10403 शाखाएं और 13406 एटीएम जो 8.48.00.000 लोगों से ज्यादा बढ़ते आधार की सभी जरूरतों को पूरा कर रहे हैं। विदेश में बैंक की 8 शाखाएं हैं। डिविजनल मैनेजर अनुर

तालाब की भूमि पर हो रहे अतिक्रमण को ईओ ने रुकवाया


फोटो परिचय:-अतिक्रमण को रुकवा ते हुए अधिशासी अधिकारी व कर्मचारी


डॉ0 असलम/युरेशिया


मवाना।  नगर के मोहल्ला होली वाला चौक के बराबर में नागरिक द्वारा हो रहे अतिक्रमण को नागरिकों की शिकायत पर नगर पंचायत अधिशासी अधिकारी के नेतृत्व में मौके पर जाकर रुकवा दिया है। अधिशासी अधिकारी ने अतिक्रमण कर रहे नागरिकों को बताया कि जब तक तहसील के अधिकारियों द्वारा तालाब की पैमाइश नहीं की जाती तब तक कोई भी नागरिक कार्य नहीं करेगा। यदि उसके बाद भी अतिक्रमण नहीं रोका गया तो उनके विरुद्ध कठोर कार्रवाई की जाएगी। 


बताते चलें कि नगर के मोहल्ला होली चौक के बराबर में तालाब स्थित है। तालाब के चारों ओर नागरिकों ने मिट्टी डालकर अवैध कब्जा कर रखा है। जिसके बाद उसकी चारदीवारी कर ली गई है। रविवार को नागरिक द्वारा शिकायत करने के बाद नगर पंचायत के अधिशासी अधिकारी नवीन राय नगर पंचायत के कर्मचारियों को साथ लेकर मौके पर पहुंचे। जहां  नागरिकों द्वारा अतिक्रमण किया जा रहा था। अधिशासी अधिकारी ने जब नागरिकों से उसके अभिलेख मांगे तो वह मौके पर प्रस्तुत नहीं कर पाये। जिसके बाद अधिशासी अधिकारी ने कार्य को बंद करा दिया और हिदायत दी कि जब तक तहसील के अधिकारी तालाब की पैमाइश नहीं करेंगे तब तक कार्य नहीं किया जाएगा। यदि उसके बाद भी जमीन पर अवैध निर्माण किया जाएगा तो उसके खिलाफ कठोर कार्रवाई की जाएगी। अधिशासी अधिकारी ने पत्रकार वार्ता में बताया कि उन्हें उच्चाधिकारियों द्वारा निर्देश मिले की नगर पंचायत के तालाब पर अवैध निर्माण चल रहा है। जिस पर वह मौके पर जाकर जांच कर निर्माण को रुकवा दिया है। उन्होंने कहा कि नागरिकों द्वारा तालाब पर अतिक्रमण गैर कानूनी है। उन्होंने नागरिकों से अपील करते हुए कहा कि वह तालाब के बराबर में अतिक्रमण न करें। जिससे भूजल की कमी ना आये। हर नागरिक जिम्मेदारी बनती है कि वह नगर पंचायत का सहयोग करें। अतिक्रमण न करें यदि कोई नागरिक अतिक्रमण करता हुआ पाया गया तो उसके खिलाफ पुलिस विभाग द्वारा कार्रवाई की   
  दशहरे का पर्व सोशल डिस्टेंसिंग के साथ बड़ी धूमधाम के साथ मनाया


Popular posts from this blog

परीक्षितगढ़ क्षेत्र के ग्राम सिखैड़ा में महिला मिली कोरोना पॉजिटिव

मवाना में अवैध मीट कटान रोकने गई पुलिस टीम पर हमला 

माछरा गांव में खुलेआम उड़ाई जा रही हैं लॉक डाउन की धज्जियां