सुबह 8 बजे से वोटिंग शुरू, नोटा का नहीं है विकल्प, हर हाल में देना होगा वोट

Image
मेरठ  ( युरेशिया) । स्नातक एवं शिक्षक चुनाव के लिए आज 1 दिसंबर 2020 को वोट डाले जा रहे हैं। जिसके लिए विक्टोरिया पार्क से सोमवार को ही पोलिंग पार्टी रवाना हुई थीं। जनपद मेरठ में स्नातक के लिए 77 व शिक्षक के लिए 30 बूथ बनाए गए हैं। एक पोलिंग पार्टी में एक पीठासीन अधिकारी व 3 मतदान अधिकारी मौजूद हैं। सुबह आठ बजे से वोटिंग शुरू हो गई है। जो शाम पांच बजे तक चलेगी।अधिकारी भी लगातार बूथ पर निरीक्षण कर रहे हैं। जिलाधिकारी के. बालाजी ने बताया कि मेरठ खंड स्नातक निर्वाचन के लिए मेरठ व सहारनपुर मंडल के सभी नौ जनपदों में मिलाकर 113 मतदान केन्द्र व 372 मतदेय स्थल (सहायक बूथ सहित) बनाये गये हैं। मेरठ खंड शिक्षक निर्वाचन के लिए मेरठ व सहारनपुर मंडल के सभी नौ जनपदों में मिलाकर 111 मतदान केन्द्र व 116 मतदेय स्थल (सहायक बूथ सहित) बनाये गये हैं। मेरठ में स्नातक के लिए 77 बूथ व 31 मतदान केन्द्र तथा शिक्षक निर्वाचन के लिए 30 बूथ व 30 मतदान केन्द्र हैं। उन्होंने बताया कि मतदान प्रातः 8.00 बजे से शाम 5.00 बजे तक होगा। स्नातक के लिए 30 व शिक्षक निर्वाचन के लिए 15 प्रत्याशी चुनाव लड़ रहे हैं। मतपत्र में नोटा

जमील अहमद ने 51 कन्याओं को जिमाकर लिया आशीर्वाद


धर्मेस गुप्ता/युरेशिया
रामपुर मनिहारान (सहारनपुर) इस वर्ष भी वरिष्ठ समाजसेवी जमील अहमद फोरमैन ने अपने निवास पर 51 कन्याओं को भोजन कराकर उन्हें विधिवत दक्षिणा व उपहार भेंट कर आशीर्वाद प्राप्त किया।
किसी ने सच ही कहा है कि मन मे है आस्था तो बन्द में है रास्ता और इससे बड़ी आस्था क्या होगी शनिवार को अष्टमी के दिन को जमील अहमद फोरमैन इस बार भी नही भुला। अपने निवास पर तरतीब से आसन बिछाए कंजकों को तिलक किया फिर बड़े आदर व सम्मान के साथ सभी कन्याओ को भोजन कराकर बाद में सभी को  दक्षिणा व उपहार भेंट कर आशीर्वाद प्राप्त किया। बता दे जमील अहमद फोरमैन भैया दूज व रक्षा बंधन के त्यौहार को भी बड़ी शिद्दत के साथ मनाते है। इस दौरान क्षेत्र की नामचीन फैक्ट्री यूनीटेक मशीनस लिमिटेड के जीएम एसके सचान व एच आर एसएम पिल्लई भी मौजूद रहे।


Popular posts from this blog

परीक्षितगढ़ क्षेत्र के ग्राम सिखैड़ा में महिला मिली कोरोना पॉजिटिव

मवाना में अवैध मीट कटान रोकने गई पुलिस टीम पर हमला 

माछरा गांव में खुलेआम उड़ाई जा रही हैं लॉक डाउन की धज्जियां