पत्रकार को धमकी देने वाले बिल्डर के खिलाफ केस दर्ज़,बिल्डर व गुर्गे फरार

युरेशिया नई दिल्ली। विश्व पत्रकार महासंघ दिल्ली प्रदेश ने मध्य जिला पुलिस उपायुक्त संजय भाटिया व एडिशनल डी सी पी रोहित कुमार मीणा को ज्ञापन व मांग पत्र सौंप कर पत्रकार मणि आर्य को धमकी देने वाले बिल्डर के खिलाफ मुकदमा दर्ज़ करके कार्रवाई की मांग की थी। पत्रकार मणि आर्य ने दिल्ली के पहाड़गंज में बाराही माता मंदिर में चल रहे अवैध निर्माण और निगम में फैले भ्रष्टाचार और भू - माफिया बिल्डर द्वारा सरकारी भूमि पर कब्जे को लेकर खबर को प्रकाशित की थी। जिसके बाद अब दिल्ली पुलिस ने सच दिखाकर प्रशासन को जगाने वाले स्थानीय पत्रकार मणि आर्य को धमकी देने वाले बिल्डर व उसके गुर्गों के खिलाफ नबी करीम थाना पुलिस भारतीय दंड सहिंता की धारा 506 के अंतर्गत रिपोर्ट संख्या 0013/2020 के तहत ने जान से मारने की धमकी देने का केस दर्ज़ कर लिया है। केस दर्ज़ होने की भनक लगते ही गिरफ्तारी के डर से आरोपी बिल्डर और उसके कई गुर्गे भूमिगत हो गए हैं। गौरतलब है की स्थनीय जनप्रतिनिधियों से सांठगांठ करके बिल्डर बड़े पैमाने पर अवैध निर्माण करने में माहिर माना जाता है इसलिए निगम पार्षद से लेकर महापौर तक मंदिर पर अवैध निर्माण को

आत्मविश्वास होगा तो हर परिस्थिति में जीत जाएंगी बेटियां


  •  विजय सिंह पथिक महाविद्यालय में मिशन शक्ति कार्यक्रम में पहुंचे एडिशनल एसपी

  • छात्राओं को आत्मरक्षा के लिए किया गया प्रेरित



इकबाल हसन/युरेशिया

कैराना। मिशन शक्ति अभियान के तहत आयोजित कार्यक्रम में एडिशनल एसपी राजेश कुमार श्रीवास्तव ने कहा कि किसी भी परिस्थिति में मुकाबला करने के लिए आत्मविश्वास और आत्मबल होना चाहिए। ये बेटियों के पास होगा, तो वह अवश्य ही जीत जाएंगी। उन्होंने छात्राओं को आत्मरक्षा के लिए प्रेरित किया।

   गुरूवार को नगर के विजय सिंह पथिक राजकीय स्नातकोत्तर महाविद्यालय में मिशन शक्ति अभियान के तहत कार्यक्रम का आयोजन किया गया। बतौर मुख्य अतिथि पहुंचे अपर पुलिस अधीक्षक राजेश कुमार श्रीवास्तव, अन्य पुलिस अधिकारियों व स्टाफ द्वारा मां सरस्वती के सम्मुख दीप प्रज्जवलित कर किया गया। कार्यक्रम में मार्शल आर्ट प्रशिक्षण प्राप्त कर रही स्वयंसेविकाओं ने आत्मरक्षा कौशलों का प्रदर्शन किया। इस अवसर पर एएसपी ने कहा कि बेटियों में इसी प्रकार ऊर्जा होनी चाहिए, जिससे वह किसी भी परिस्थिति में मुकाबला कर सके। उन्होंने कहा कि आत्मरक्षा और आत्मसम्मान के लिए आत्मविश्वास तथा आत्मबल का होना भी जरूरी है, जिससे बेटियां जीत हासिल कर सकें। उन्होंने कहा कि मित्र व रिश्तेदारों से भी सजग रहने की जरूरत है। उनके हाव-भाव से परख कर लेनी चाहिए। उन्होंने कहा कि मामूली चीजें भी एक दिन बड़ा रूप धारण कर लेती है, इसलिए किसी भी बात को छिपाना नहीं चाहिए। शामली महिला थाना प्रभारी निरीक्षक नीरज चौधरी ने कहा कि हमारा उद्देश्य सदैव सुरक्षा का बना रहना है। उन्होंने कहा कि समाज में बुराइयां बढ़ रही हैं, लेकिन हर आदमी बुरा न हीं हैं। अच्छे लोगों की संख्या अधिक हैं, जबकि बुरे कम हैं। उन्होंने कहा कि छात्राएं अपने मोबाइल फोन से अनावश्यक फोटो कहीं शेयर न करें। किसी भी आटो में बैठें, तो उसका फोटो और नंबर नोट कर लें तथा अपने परिवारजनों के साथ शेयर करें। उन्होंने कहा कि आत्मरक्षा के लिए किसी से भी भिड़ने से पहले माहौल को परख लें। दिमाग भी जागरूक होना चाहिए। कोतवाली प्रभारी निरीक्षक प्रेमवीर सिंह राणा ने कहा कि ​दिल और दिमाग का तालमेल बनाकर रखना चाहिए। उन्होंने कहा कि कोई भी बात अपने माता-पिता से छिपाना नहीं चाहिए। यदि ऐसा किया, तो फिर मानो कि उन्होंने अपनी मां से ममता और पिता से प्यार छीन लिया हो। उन्होंने कहा कि हम चाहते हैं कि कोई भी अपराध न हो। समाज के ही लोग अपराध करते हैं। समाज तब सभ्य बनेगा, जब झूठ बोलना छोड़ देंगे। यही भारतीय संस्कृति की पहचान भी हैं। कार्यक्रम के दौरान महाविद्यालय परिवार की ओर से पुलिस अधिकारियों को स्मृतिचिह्न देकर सम्मानित किया गया। प्राचार्य डॉ. चमनलाल व एनएसएस के जिला नोडल अधिकारी एवं प्रशिक्षण शिविर प्रभारी डॉ. अजय बाबू शर्मा ने आगंतुकों का धन्यवाद ज्ञापित किया। कार्यक्रम का संचालन एनसीसी अधिकारी डाॅ. रीनू ने किया। इस दौरान एसआई अंजू सिंह के अलावा शिवानी, गजाला, शिरीन, खुशी वर्मा, शमीना नाज, नाजिया आदि छात्राओं ने प्रतिभाग किया।

Popular posts from this blog

परीक्षितगढ़ क्षेत्र के ग्राम सिखैड़ा में महिला मिली कोरोना पॉजिटिव

मवाना में अवैध मीट कटान रोकने गई पुलिस टीम पर हमला 

माछरा गांव में खुलेआम उड़ाई जा रही हैं लॉक डाउन की धज्जियां