शुल्क प्रतिपूर्तिं की मांग को लेकर छात्रों ने बजाया संघर्ष का बिगुल


सहारनपुर में धरना स्थल पर नारेबाजी करते एजुकेशन फ्रीडम फोर्स के कार्यकर्ता।


युरेशिया संवाददाता


सहारनपुर। एजुकेशन फ्रीडम फोर्स के बैनर तले विभिन्न कालेजों के छात्रों ने छात्रवृत्ति  व शुल्क प्रतिपूर्ति की मांग को लेकर संस्था डा. संजीव दुर्जन के नेतृत्व में जिला मुख्यालय पर नारेबाजी कर धरना दिया तथा केंद्र सरकार से इस सत्र में 60 प्रतिशत अंक हासिल करने वाले छात्रों को छात्रवृत्ति व शुल्क प्रतिपूर्ति देने के फैसले को वापस लिए जाने की मांग की। पूर्व निर्धारित कार्यक्रम के तहत एजुकेशन फ्रीडम फोर्स के कार्यकर्ता चौ. चरणसिंह विश्वविद्यालय छात्र संघ के पूर्व अध्यक्ष डा. संजीव दुर्जन के नेतृत्व में हकीकत नगर स्थित धरना स्थल पर एकत्र हुए तथा अपनी मांगों के समर्थन में धरने पर बैठ गए। धरने को सम्बोधित करते हुए वक्ताओं ने कहा कि धरने का उद्देश्य छात्र शिक्षा व राष्ट्र सेवा है। उन्होंने कहा कि अभी तक सरकार द्वारा 2019-20 सत्र की छात्रवृत्ति एवं शुल्क प्रतिपूर्ति नहीं दी गई है। उन्होंने छात्रवृत्ति और शुल्क प्रतिपूर्ति बिना किसी देरी के छात्रों को प्रदान किए जाने की मांग की। वक्ताओं ने कहा कि सरकार ने इस वर्ष 60 प्रतिशत अंक प्राप्त करने वाले छात्रों को छात्रवृत्ति व शुल्क प्रतिपूर्ति देने का निर्णय लिया है। इस आदेश को निरस्त किया जाए तथा पूर्व की भांति गरीब छात्रों को विद्यालय में प्रवेश दिया जाए। उन्होंने कहा कि जिन भर्तियों में परीक्षा परिणाम आ चुका है, सरकार उनमें नियुक्ति दे तथा जिन भर्तियों की परीक्षा शेष है, उनकी परीक्षा कराई जाए। उन्होंने कहा कि जब तक मांगें  पूरी नहीं की जाती तब तक धरना इसी प्रकार जारी रहेगा। धरने में छात्र संघ के पूर्व अध्यक्ष डा. संजीव दुर्जन, रोबिन सहगल, विवेक कुमार, सोनित, किरण पाल, प्रमिंद्र, वीरसेन, वासिल तोमर, सूफियान, सुमित कुमार, रवि प्रसाद, मैनपाल सिंह आदि छात्र मौजूद रहे।


Comments

Popular posts from this blog

यूपी पंचायत चुनाव : मेरठ में ग्राम प्रधान पदों की आरक्षण सूची जारी, देखें ब्लॉकवार आरक्षण की सूची

मेरठ में महिला ने तीन बेटियों समेत खुद की गर्दन काटी, एक की मौत

मुरादनगर में दर्दनाक हादसा, अंतिम संस्कार में गए लोगों पर गिरने से 23 की मौत, CM ने मांगी रिपोर्ट