आज से अधिकमास शुरू, 17 अक्टुबर से शुरू होंगे नवरात्र 


  • 18 सितंबर से 16 अक्टुबर तक रहेगा मलमास, विवाह, गृहप्रवेश पर रहेगी रोक


अरविन्द सिसौदिया/युरेशिया संवाददाता


नानौता (सहारनपुर) 17 सितंबर को सर्वपितृ अमावस्या पर श्राद्वपक्ष का समापन हो गया। लेकिन इस बार श्राद्व समापन के बाद अगले दिन से नवरात्र शुरू नहीं होंगे। जिसका कारण इस बीच अधिकमास (मलमास) का होना है। इसके चलते शारदीय नवरात्र एक महीने के अंतराल के बाद आगामी 17 अक्टुबर से शुरू होंगे। 
पं विरेन्द्र शर्मा ने बताया कि लगभग 160 वर्ष बाद ऐसा संयोग बन रहा है। जब आश्विन मास में अधिकमास (मलमास) लग रहा है और एक महीने के अंतराल पर नवरात्र का आरंभ होगा। अधिकमास के दौरान नामकरण, विवाह, गृहप्रवेश आदि को छोडकर अन्य कार्य के लिए मनाही नहीं है। तो वहीं इस वर्ष 2020 में अधिकमास की दो तिथियां कृष्णपक्ष की तृतीया का क्षय 18 अक्टुबर को है। 18 सिततंबर को अधिकमास के रूप में प्रथम आश्विन की शुरूआत होकर 16 अक्टुबर तक चलेगे। इसे पुरूषोत्तम मास भी कहा जाता है। इस बार अधिकमास में कोई बडा त्यौहार भी नहीं होगा। पंडित के अनुसार अधिकमास के दौरान 21 और 30 सितंबर तथा 1, 5, और 16 अक्टुबर को छोडकर शेष सभी दिन शुभ रहेंगे। कुल मिलाकर पूरे अधिकमास में 25 दिन खरीददारी के होंगे। 



  • अधिकमास में सामान खरीदने के शुभ मुहूर्त -


वाहन खरीदने के मुहूुर्त - सितंबर 19, 20, 27, 28, 29, अक्टुबर 4, 10 और 11 तारीख
आभूषण खरीदने के मुहूर्त - सितंबर 18, 19, 22, 26, अक्टुबर 2, 3, 7, 8 व 15 
नए कपडे खरीदने के मुहूर्त - सितंबर 18, 22, 26, अक्टुबर 2, 7, 8 व 15
सगाई के लिए मुहूर्त - सितंबर 18, 26, अक्टुबर 7 व 15
बडे व्यापारी सौदों के लिए मुहूर्त - सितंबर 19, 21 व 27, अक्टुबर 6 तारीख
इलेक्ट्रानिक सामान व मशीनरी के लिए मुहूर्त - सितंबर 19, 20, 27, 28, 29, अक्टुबर 4, 10, 11 तारीख 


Comments

Popular posts from this blog

यूपी पंचायत चुनाव : मेरठ में ग्राम प्रधान पदों की आरक्षण सूची जारी, देखें ब्लॉकवार आरक्षण की सूची

मेरठ में महिला ने तीन बेटियों समेत खुद की गर्दन काटी, एक की मौत

मुरादनगर में दर्दनाक हादसा, अंतिम संस्कार में गए लोगों पर गिरने से 23 की मौत, CM ने मांगी रिपोर्ट