सुबह 8 बजे से वोटिंग शुरू, नोटा का नहीं है विकल्प, हर हाल में देना होगा वोट

Image
मेरठ  ( युरेशिया) । स्नातक एवं शिक्षक चुनाव के लिए आज 1 दिसंबर 2020 को वोट डाले जा रहे हैं। जिसके लिए विक्टोरिया पार्क से सोमवार को ही पोलिंग पार्टी रवाना हुई थीं। जनपद मेरठ में स्नातक के लिए 77 व शिक्षक के लिए 30 बूथ बनाए गए हैं। एक पोलिंग पार्टी में एक पीठासीन अधिकारी व 3 मतदान अधिकारी मौजूद हैं। सुबह आठ बजे से वोटिंग शुरू हो गई है। जो शाम पांच बजे तक चलेगी।अधिकारी भी लगातार बूथ पर निरीक्षण कर रहे हैं। जिलाधिकारी के. बालाजी ने बताया कि मेरठ खंड स्नातक निर्वाचन के लिए मेरठ व सहारनपुर मंडल के सभी नौ जनपदों में मिलाकर 113 मतदान केन्द्र व 372 मतदेय स्थल (सहायक बूथ सहित) बनाये गये हैं। मेरठ खंड शिक्षक निर्वाचन के लिए मेरठ व सहारनपुर मंडल के सभी नौ जनपदों में मिलाकर 111 मतदान केन्द्र व 116 मतदेय स्थल (सहायक बूथ सहित) बनाये गये हैं। मेरठ में स्नातक के लिए 77 बूथ व 31 मतदान केन्द्र तथा शिक्षक निर्वाचन के लिए 30 बूथ व 30 मतदान केन्द्र हैं। उन्होंने बताया कि मतदान प्रातः 8.00 बजे से शाम 5.00 बजे तक होगा। स्नातक के लिए 30 व शिक्षक निर्वाचन के लिए 15 प्रत्याशी चुनाव लड़ रहे हैं। मतपत्र में नोटा

विश्व हिपेटाईटिस दिवस पर वेंक्टेश्वरा में ’’रक्तदान शिविर’’ एवं जागरुकता सेमीनार


  • रक्तदान से हर व्यक्ति तीसरे माह दे सकता है एक नया जीवन- डाॅ0 सुधीर गिरी, चेयरमैन वेंक्टेश्वरा

  • एक वर्ष में पाँच रक्तदान शिविर लगाकर अभी तक कर चुके है 415 यूनिट रक्त संचय- डाॅ0 राजीव त्यागी, प्रतिकुलाधिपति श्री वेंक्टेश्वरा विश्वविद्यालय।



यूरेशिया संवाददाता


मेरठ।’’आज ’विश्व हिपेटाईटिस दिवस’ पर दिल्ली रूडकी बाईपास स्थित वेंक्टेश्वरा संस्थान मेरठ में ’विम्स’ मल्टीस्पेशियलिटी हाॅस्पिटल गजरौला के संयुक्त तत्वाधान में संक्रामक/संचारी रोग विभाग की ओर से जागरुकता सेमीनार का आयोजन कर इस जानलेवा बिमारी की रोकथाम, बचाव के उपाय एवं प्रभावी उपचार पर विस्तार से मंथन किया गया। इसके अलावा संस्थान परिसर में ’’रक्तदान शिविर’’ लगाकर 84 यूनिट रक्त का संचय भी किया गया।
’’विश्व हिपेटाईटिस दिवस पर आयोजित जागरुकता सेमीनार एवं ’’रक्तदान शिविर’’ का शुभारम्भ वेंक्टेश्वरा समूह के चेयरमैन डाॅ0 सुधीर गिरि, प्रतिकुलाधिपति डाॅ0 राजीव त्यागी, मुख्य वक्ता डाॅ0 अतुल अग्रवाल, मुख्य चिकित्सा अधीक्षक डाॅ0 सुशील शर्मा ने सरस्वती माँ की प्रतिमा के सन्मुख दीप प्रज्जवलित करके किया।
अपने सम्बोधन में मुख्य वक्ता डाॅ0 अतुल अग्रवाल ने कहा कि हिपेटाईटिस बहुत ही घातक एवं जानलेवा लीवर संक्रमण है, जिसमे यदि समय रहते सही उपचार संक्रमित रोगी को ना मिले, तो ’’लीवर सिरोयसिस’’ एवं ’’लीवर कैन्सर’’ से उसकी जान जा सकती है। अच्छी बात यह है कि इसका प्रभावी उपचार एवं टीका/वैक्सीन उपलब्ध है। लेकिन फिर भी सामान्य लीवर संक्रमण एवं पीलिया को भी नजरअंदाज नहीं करना चाहिये।
 ’’समूह चेयरमैन डाॅ0 सुधीर गिरि ने कहा कि रक्तदान विश्व में सबसे बडा दान है। हम में से प्रत्येक व्यक्ति हर तीन माह मे रक्तदान कर एक जीवन बचा सकता है। इस तरह वो अपने पूरे जीवन में सैकडो लोगो को रक्तदान द्वारा नया जीवन दे सकता है। प्रतिकुलाधिपति डाॅ0 राजीव त्यागी ने बताया कि एक वर्ष में पाँच बार ’’रक्तदान शिविर’’ लगाकर संस्थान ने अभी तक 415 यूनिट रक्त का संचय किया है। आगामी वर्ष में हम जुलाई 2021 तक 1000 यूनिट ’’रक्तदान’’ का लक्ष्य लेकर चलेगे।
इस अवसर पर डारेक्टर एकेडेमिक प्रो0 (डाॅ0) प्रभात श्रीवास्तव, उपनिदेशक दूरस्थ शिक्षा अलका सिंह, संयुक्त कुलसचिव डाॅ0 राजेश सिंह, डाॅ0 (प्रो0) प्रेम साहनी, डाॅ0 अम्बरी अग्रवाल, डाॅ0 होल्कर, डाॅ0 स्मृति श्रीवास्तव, मारूफ चैधरी, मोहित झा, अरूण गोस्वामी, आनन्द नागर, शिवी वत्स, निशा एवं मीडिया प्रभारी विश्वास राणा आदि लोग उपस्थित रहे।


Popular posts from this blog

परीक्षितगढ़ क्षेत्र के ग्राम सिखैड़ा में महिला मिली कोरोना पॉजिटिव

मवाना में अवैध मीट कटान रोकने गई पुलिस टीम पर हमला 

माछरा गांव में खुलेआम उड़ाई जा रही हैं लॉक डाउन की धज्जियां