राष्ट्रगान में बदलाव के लिए सुब्रमण्यम स्वामी ने पीएम को लिखा पत्र, ट्विटर पर लिखा ये पोस्ट

नई दिल्लीः बीजेपी नेता सुब्रमण्यम स्वामी ने राष्ट्रगान में बदलाव के लिए पीएम मोदी को पत्र लिखा है. स्वामी ने पीएम मोदी को भेजे गए इस पत्र को ट्विटर पर भी शेयर किया है. उन्होंने खत में कहा है कि राष्ट्रगान 'जन गण मन...' को संविधान सभा में सदन का मत मानकर स्वीकार कर लिया गया था. उन्होंने आगे लिखा है, 26 नवंबर, 1949 को संविधान सभा के आखिरी दिन अध्यक्ष राजेंद्र प्रसाद ने बिना वोटिंग के ही 'जन गण मन...' को राष्ट्रगान के रूप में स्वीकार कर लिया था. हालांकि, उन्होंने माना था कि भविष्य में संसद इसके शब्दों में बदलाव कर सकती है. स्वामी ने लिखा है कि उस वक्त आम सहमति जरूरी थी क्योंकि कई सदस्यों का मानना था कि इस पर बहस होनी चाहिए, क्योंकि इसे 1912 में हुए कांग्रेस अधिवेशन में ब्रिटिश राजा के स्वागत में गाया गया था.

राशन न मिलने पर उबली महिलाए


  • जाम लगाकर आपूर्ति विभाग के खिलाफ की नारेबाजी



 यूरेशिया संवाददाता


मेरठ।  थाना नौचंदी क्षेत्र के शास्त्री नगर सैक्टर ११ में राशन न मिलने पर महिलाओं का गुस्सा गुरूवार को फूट गया। सैकडों महिलाओं ने नौंचरी थाने से शास्त्री नगर जाने वाली सडक पर जाम लगा दिया। इस दौरान महिलाओं ने आपूर्ति विभाग के खिलाफ जमकर नारेबाजी की। मौके पर पहुेंची पुलिस ने किसी तरह महिलाओं को राशन की एंजेसी खुलवा कर जाम को खुलवाया।
 दरअसल सैक्टर ९ में संजीव गुप्ता की राशन एंजेसी है। हंगामा कर रही महिलाओं का आरोप था। पिछले तीन माह से संजीव गुप्ता कार्ड होल्डरों को राशन नहीं दे रहा है। उपभोक्ताओं को पर्ची काट कर दे रखी है। आये दिन राशन एजंसी बंद रहती है। मोबाइल पर फोन पर करने पर बंद मिलता है। आखिरकार उन्हे राशन कैसे मिले। जाम लगने के कारण वाहनों की लंबी लाइन लग गयी। मौके पर आपूर्ति विभाग व नौचंदी थाना पुलिस मौके पर पहुंची। उन्होने महिलाओं की समस्या को सुनते हुए तत्काल राशन एंजेसी संचालक को फोन कर  बुलाया । एरिया चतुर्थ तारी देवी व थाना पुलिस की निगरानी में महिलाओं को राशन बटवाया गया है। तब जाकर महिलाओं की गुस्सा शांत हुआ।


 आधे से ज्यादा महिला पहले से ही राशन ले चुकी थी


राशन बंटने का जब नम्बर आया तो काफी संख्या में ऐसी महिलाए भी मिली। जो पहले से ही राशन ले चुकी थी। जब अधिकारियों ने उनसे हंगामे का कारण पूछा तो महिलाओं का कहना था वह तो सैक्टर तीन के नितिन गोयल उर्फ मोनू पतला व सनी सनी चौहान के कहने पर आयी थी। जब  अधिकारियों को वहां पर सोनू को तलाश किया वह वहां से गायब हो चुका था।


Popular posts from this blog

परीक्षितगढ़ क्षेत्र के ग्राम सिखैड़ा में महिला मिली कोरोना पॉजिटिव

मवाना में अवैध मीट कटान रोकने गई पुलिस टीम पर हमला 

माछरा गांव में खुलेआम उड़ाई जा रही हैं लॉक डाउन की धज्जियां