पत्रकार को धमकी देने वाले बिल्डर के खिलाफ केस दर्ज़,बिल्डर व गुर्गे फरार

युरेशिया नई दिल्ली। विश्व पत्रकार महासंघ दिल्ली प्रदेश ने मध्य जिला पुलिस उपायुक्त संजय भाटिया व एडिशनल डी सी पी रोहित कुमार मीणा को ज्ञापन व मांग पत्र सौंप कर पत्रकार मणि आर्य को धमकी देने वाले बिल्डर के खिलाफ मुकदमा दर्ज़ करके कार्रवाई की मांग की थी। पत्रकार मणि आर्य ने दिल्ली के पहाड़गंज में बाराही माता मंदिर में चल रहे अवैध निर्माण और निगम में फैले भ्रष्टाचार और भू - माफिया बिल्डर द्वारा सरकारी भूमि पर कब्जे को लेकर खबर को प्रकाशित की थी। जिसके बाद अब दिल्ली पुलिस ने सच दिखाकर प्रशासन को जगाने वाले स्थानीय पत्रकार मणि आर्य को धमकी देने वाले बिल्डर व उसके गुर्गों के खिलाफ नबी करीम थाना पुलिस भारतीय दंड सहिंता की धारा 506 के अंतर्गत रिपोर्ट संख्या 0013/2020 के तहत ने जान से मारने की धमकी देने का केस दर्ज़ कर लिया है। केस दर्ज़ होने की भनक लगते ही गिरफ्तारी के डर से आरोपी बिल्डर और उसके कई गुर्गे भूमिगत हो गए हैं। गौरतलब है की स्थनीय जनप्रतिनिधियों से सांठगांठ करके बिल्डर बड़े पैमाने पर अवैध निर्माण करने में माहिर माना जाता है इसलिए निगम पार्षद से लेकर महापौर तक मंदिर पर अवैध निर्माण को

मौहल्लेवालों का आरोप: टॉवर लगने का विरोध करने पर धमका रहीं है एसआई, दे रही है फर्जी मुकदमें में फसाने की धमकी


यूरेशिया संवाददाता


हापुड। गली नंबर 13 अंबेडकर बिहार चमरी रोड लज्जा पुरी हापुड़ में दीपमाला के मकान में अवैध मोबाइल टावर लगाया जा रहा है। जिसकों लेकर आज मौहल्लावासियोंने विरोध करते हुए आरोप लगाया है कि टावर से निकलने वाली  रेडिएशन से कैंसर अपंगता जैसी बीमारी होने का खतरा है। लेकिन मकान मालकीन दीपमाला और एक  महिला जो एस0आई0 बतायी जा रही है और वर्तमान में मेरठ में तैनात है इससे पूर्व  वह हापुड़ कोतवाली में तैनात थी।  उक्त महिला एसआई गली वालों को अक्सर आकर धमकाती रहती है कि अगर टावर नहीं लगने दिया तो तुम लोगों को फर्जी मुकदमे में फंसा दूंगी।  जिससे यहां की गली मोहल्ले के लोगों में भय व्याप्त है और यह महिला एसआई कह रही है कि दीपमाला के घर टावर लगवा कर रहूंगी।
इसके बारे में मौहल्लेवासियों द्वारा उच्च अधिकारियों एसडीम हापुड़, जिलाधिकारी व  नगरपालिका हापुड़ को भी सूचना दी गई है।  कोतवाली हापुड़ में प्रार्थना पत्र दिया जा चुका है इन सभी अधिकारियों को सूचना दी गई है, लेकिन अभी तक कोई कार्यवाही नहीं की गई है। वहीं मौहल्लेवालों ने  एक वीडियो भी वायरल की है जिसमें  बताया गया है कि जींस और ब्लू शर्ट में दिखाई दे रही महिला एसआई है,  तथा मौहल्लेवालों की टावर को लेकर काफी गहमा गहमी नजर आ रही है। मौहल्ले वालों ने इस वीडियों को इसलिए वायरल किया है ताकि उन्हें न्याय मिल सके। 


Popular posts from this blog

परीक्षितगढ़ क्षेत्र के ग्राम सिखैड़ा में महिला मिली कोरोना पॉजिटिव

मवाना में अवैध मीट कटान रोकने गई पुलिस टीम पर हमला 

माछरा गांव में खुलेआम उड़ाई जा रही हैं लॉक डाउन की धज्जियां