पत्रकार को धमकी देने वाले बिल्डर के खिलाफ केस दर्ज़,बिल्डर व गुर्गे फरार

युरेशिया नई दिल्ली। विश्व पत्रकार महासंघ दिल्ली प्रदेश ने मध्य जिला पुलिस उपायुक्त संजय भाटिया व एडिशनल डी सी पी रोहित कुमार मीणा को ज्ञापन व मांग पत्र सौंप कर पत्रकार मणि आर्य को धमकी देने वाले बिल्डर के खिलाफ मुकदमा दर्ज़ करके कार्रवाई की मांग की थी। पत्रकार मणि आर्य ने दिल्ली के पहाड़गंज में बाराही माता मंदिर में चल रहे अवैध निर्माण और निगम में फैले भ्रष्टाचार और भू - माफिया बिल्डर द्वारा सरकारी भूमि पर कब्जे को लेकर खबर को प्रकाशित की थी। जिसके बाद अब दिल्ली पुलिस ने सच दिखाकर प्रशासन को जगाने वाले स्थानीय पत्रकार मणि आर्य को धमकी देने वाले बिल्डर व उसके गुर्गों के खिलाफ नबी करीम थाना पुलिस भारतीय दंड सहिंता की धारा 506 के अंतर्गत रिपोर्ट संख्या 0013/2020 के तहत ने जान से मारने की धमकी देने का केस दर्ज़ कर लिया है। केस दर्ज़ होने की भनक लगते ही गिरफ्तारी के डर से आरोपी बिल्डर और उसके कई गुर्गे भूमिगत हो गए हैं। गौरतलब है की स्थनीय जनप्रतिनिधियों से सांठगांठ करके बिल्डर बड़े पैमाने पर अवैध निर्माण करने में माहिर माना जाता है इसलिए निगम पार्षद से लेकर महापौर तक मंदिर पर अवैध निर्माण को

जिला स्तरीय सडक सुरक्षा समिति की बैठक में लिये गये कई महत्वपूर्ण निर्णय


  • जनपद के 39 मार्गों पर लगेगे रेट्रो-रिफ्लेक्टिव टेप वाले अधिकतम गति सीमा के बोर्ड-एडीएम प्रषासन

  • एसपी ट्रैफिक के नेतृत्व में अधिकारी करें ब्लैक स्पॉटों का निरीक्षण-राम चन्द्र

  • सडक दुर्घटनाओं में घायल व्यक्तियों की मदद करने वाले नेक व्यक्ति होगे पुरस्कृत, थानों व अस्पतालों में लगेगे बोर्ड-एआरटीओ



यूरेशिया संवाददाता


मेरठ  नगरीय निकायों की अधिकारिता क्षेत्र को छोडकर जनपद के 39 मार्गों पर वाहनों की अधिकतम गति सीमा के साईन बोर्ड रेट्रो-रिफ्लेक्टिव टेप का प्रयोग कर लगाये जायेंगे ताकि यह रात्रि में भी चमके। एसपी ट्रैफिक, आरटीओ व एनएचएआई के अधिकारी जनपद के 21 ब्लैक स्पॉटों का निरीक्षण कर आवष्यक कार्यवाही सुनिष्चित करायेंगे। हिट एंड रन दुर्घटना के मामलों में पीडितो को शीघ्र आर्थिक सहायता राषि उपलब्ध कराने व घायल व्यक्तियों की मदद करने वाले नेक व्यक्तियों को पुरस्कृत करने के निर्देष दिये गये। इस अवसर पर 09 एजेण्डा बिन्दुओं पर विस्तार से चर्चा की गयी।
 जिला स्तरीय सडक सुरक्षा समिति की बचत भवन में आहूत बैठक की अध्यक्षता करते हुये अपर जिलाधिकारी प्रषासन राम चन्द्र ने यह जानकारी दी। उन्होने निर्देषित किया कि हिट एंड रन दुर्घटना के मामलों में लागू सोलेषियम स्कीम के अंतर्गत पीडितो को आर्थिक सहायता राषि उपलब्ध कराने के लंबित प्रकरणों पर शीघ्र कार्यवाही करने के लिए निर्देषित किया। बैठक में स्वास्थ्य विभाग व एमडीए का कोई अधिकारी/प्रतिनिधि न आने पर अपनी नाराजगी व्यक्त की गयी। 
 उन्होने कहा कि परिवहन विभाग एवं यातायात पुलिस निरंतर चैकिग व प्रवर्तन की कार्यवाही करे तथा जनमानस को यातायात के नियमों का पालन करने के लिए जागरूकता कार्यक्रम आयोजित करें। उन्होने कहा कि जनपद के सभी ब्लैक स्पॉट पर रम्बल स्ट्रीप, संकेतक या कहीं सडक आदि खराब है तो उसको चिन्हित कर ठीक कराने के लिए एसपी ट्रैफिक, आरटीओ व एनएचएआई व अन्य संबंधित विभाग के अधिकारी सभी 21 ब्लैक स्पॉटों का निरीक्षण करे। 
 सहायक संभागीय परिवहन अधिकारी (एआरटीओ) प्रवर्तन दिनेष चन्द्र ने बैठक का संचालन करते हुये बताया कि वर्ष 2020 में माह जून तक गत वर्ष के सापेक्ष सडक दुर्घटनाओं तथा घायलो व मृतको की संख्या में काफी कमी आयी है। उन्होने बताया कि सडक दुर्घटना में घायल व्यक्तियों को स्वैच्छिक मदद प्रदान करने वाले गुड सेमेरिटन (नेक व्यक्ति) को चिन्हित कर रू0 02 हजार की पुरस्कार राषि से पुरस्कृत किया जायेगा। उन्होने बताया कि प्रारंभिक चरण में शहरी क्षेत्र के सभी सरकारी अस्पतालों व थानों में इस आषय के बोर्ड भी लगाये जायेंगे। उन्होने बताया कि घायल व्यक्ति की मदद करने वाले व्यक्ति से पुलिस कोई पूछताछ नहीं करेगी।
 उन्होने बताया कि जनपद में 21 ब्लैक स्पॉट है जिसमें 14 ब्लैक स्पॉट राष्ट्रीय राजमार्गों पर तथा 02 ब्लैक स्पॉट स्टेट हाईवे तथा 05 ब्लैक स्पॉट जिला मार्ग व अन्य मार्ग पर स्थित है। उन्होने बताया कि घाटमोड, परतापुर तिराहा, खडौली चौराहा, दायमपुर कट, डाबका कट, मटौर कट, सकौती तिराहा, रूहासा कट, वालिदपुर कट, सुभारती कालेज के पास, मवाना खुर्द बाईपास बहसूमा, झुनझुनी मोड, नौगजा पीर, बिजौली रोड सहित कुल 14 ब्लैक स्पॉट राष्ट्रीय राजमार्गों पर स्थित है। रिठानी पीर एसएच-45 एवं सोलदा रोड एसएच-14 सहित कुल 02 ब्लैक स्पॉट स्टेट हाईवे पर स्थित है तथा भूडबराल, गेजा मोड, मोहिउददीनपुर शुगर मिल, मवाना खुर्द बहसूमा बाईपास एवं जई पुलिया सहित कुल 05 ब्लैक स्पॉट जिला मार्ग व अन्य मार्ग पर स्थित है। 
 सहायक संभागीय परिवहन अधिकारी (एआरटीओ) प्रषासन, श्वेता वर्मा ने बताया कि नगरीय निकायों की अधिकारिता क्षेत्र को छोडकर अन्य क्षेत्रों में प्रारंभिक व अंतिम दोनो छोर तथा मध्य में भी जगह-जगह पर जनपद के 39 मार्गो पर आईआरसी कोड के मानक के अनुसार टू-व्हीलर, थ्री-व्हीलर व चौपहिया आदि वाहनों की अधिकतम गति सीमा के साईन बोर्ड संबंधित सडक के स्वामित्व वाले विभाग द्वारा इस प्रकार लगाये जायेंगे कि वह वाहन चालको को इसकी जानकारी व ज्ञान हो सके तथा इसके लिए रैट्रो रिफ्लेक्टिव टेप का प्रयोग किया जायेगा ताकि यह रात्रि में भी चमके। 
 इस अवसर पर जिला विद्यालय परिवहन सुरक्षा समिति के कार्यों की भी चर्चा की गयी। बैठक में एसपी ट्रैफिक जितेन्द्र कुमार श्रीवास्तव, एनएचएआई के आयुष चौधरी, बीएसए के प्रतिनिधि एस0के0 गिरी, सहायक अभियंता पीडब्लूडी महेष बालियान, अमित नागर, अमरजीत चिन्योटी, सुनील कुमार शर्मा, रोड सेफ्टी टेªनर अमित तिवारी, सहित अन्य अधिकारी, कर्मचारीगण उपस्थित रहे। 


 


 


Popular posts from this blog

परीक्षितगढ़ क्षेत्र के ग्राम सिखैड़ा में महिला मिली कोरोना पॉजिटिव

मवाना में अवैध मीट कटान रोकने गई पुलिस टीम पर हमला 

माछरा गांव में खुलेआम उड़ाई जा रही हैं लॉक डाउन की धज्जियां