पत्रकार को धमकी देने वाले बिल्डर के खिलाफ केस दर्ज़,बिल्डर व गुर्गे फरार

युरेशिया नई दिल्ली। विश्व पत्रकार महासंघ दिल्ली प्रदेश ने मध्य जिला पुलिस उपायुक्त संजय भाटिया व एडिशनल डी सी पी रोहित कुमार मीणा को ज्ञापन व मांग पत्र सौंप कर पत्रकार मणि आर्य को धमकी देने वाले बिल्डर के खिलाफ मुकदमा दर्ज़ करके कार्रवाई की मांग की थी। पत्रकार मणि आर्य ने दिल्ली के पहाड़गंज में बाराही माता मंदिर में चल रहे अवैध निर्माण और निगम में फैले भ्रष्टाचार और भू - माफिया बिल्डर द्वारा सरकारी भूमि पर कब्जे को लेकर खबर को प्रकाशित की थी। जिसके बाद अब दिल्ली पुलिस ने सच दिखाकर प्रशासन को जगाने वाले स्थानीय पत्रकार मणि आर्य को धमकी देने वाले बिल्डर व उसके गुर्गों के खिलाफ नबी करीम थाना पुलिस भारतीय दंड सहिंता की धारा 506 के अंतर्गत रिपोर्ट संख्या 0013/2020 के तहत ने जान से मारने की धमकी देने का केस दर्ज़ कर लिया है। केस दर्ज़ होने की भनक लगते ही गिरफ्तारी के डर से आरोपी बिल्डर और उसके कई गुर्गे भूमिगत हो गए हैं। गौरतलब है की स्थनीय जनप्रतिनिधियों से सांठगांठ करके बिल्डर बड़े पैमाने पर अवैध निर्माण करने में माहिर माना जाता है इसलिए निगम पार्षद से लेकर महापौर तक मंदिर पर अवैध निर्माण को

आज़म खान के समर्थन में इस बार इर्द नही मनाएँगे : मुन्तज़िम किदवई


यूरेशिया संवाददाता 


अलीगढ़। जनपद अलीगढ़ के सपा नेता मुन्तज़िम किदवई ने समाजवादी पार्टी के मौजूदा सांसद एवं पूर्व मंत्री आज़म खाँ के समर्थन में इस वर्ष ईद न मनाने का फैसला लिया है। उन्होंने सपा नेता ने आजम खान को भी पत्र भेजते हुए कहा कि


सपा सांसद आज़म खाँ को झुठे मुकदमों में फंसाने एवं जेल में भेजने के विरूद्ध में ईद-उल-अज़हा नही मनाने का संकल्प लिया है।


जनपद अलीगढ़ के सपा नेता मुन्तज़िम किदवई ने कहा है कि आज़म खाँ ने उत्तर प्रदेश को उत्तम प्रदेश में बदलने के लिए एवं शिक्षा को बढ़ावा देने को विश्वविद्यालय का निर्माण करवाया लेकिन मौजूदा सरकार ने आज़म खाँ को झूठे मुकदमें लगवा कर उन्हें जेल में भिजवा दिया। जो कि बहुत दुःखद है। इस लिए उन्होंने ईद न मानने का दृढ़ फैसला लिया है। उसी दौरान उन्होंने कहा कि प्रदेश सरकार जब तक आज़म खाँ की रिहाई न हो जायें। तब तक उनकी विचार धारा को निरन्तर लोगों के बीच ले जाने हेतु संघर्ष करता रहूंगा। उत्तर प्रदेश में दिन-प्रति-दिन अत्यचार, हत्या और लूट की घटना बढ़ती जा रही है। उत्तर प्रदेश की जनता इसका जबाव 2022 के आने वाले चुनाव में वोट डाल के देगी।


Popular posts from this blog

परीक्षितगढ़ क्षेत्र के ग्राम सिखैड़ा में महिला मिली कोरोना पॉजिटिव

मवाना में अवैध मीट कटान रोकने गई पुलिस टीम पर हमला 

माछरा गांव में खुलेआम उड़ाई जा रही हैं लॉक डाउन की धज्जियां