प्रदेश के पर्यावरण व जलमंत्री ने किया शिक्षिका डा.सुमन को सम्मानित

Image
युरेशिया संवाददाता हापुड़। गणतंत्र दिवस पर उ.प्र. सरकार में पर्यावरण व जल राज्य मंत्री में शिक्षा के प्रति जागरूक करनें के लिए शिवा प्राथमिक पाठशाला की प्रधानाध्यापिका डॉ.सुमन अग्रवाल को  स्मृति चिन्ह देकर सम्मानित किया गया।     हापुड़ के  बुलन्दशहर रोड़ स्थित जेएमएस वर्ड स्कूल में गणतंत्र दिवस पर विभिन्न क्षेत्रों में योगदान देनें वाली हस्तियों को सम्मानित किया गया।     इसी क्रम में शिक्षा के क्षेत्र में बच्चों व अभिभावकों को शिक्षा के प्रति जागरूक करनें पर उ.प्र. सरकार में पर्यावरण व जल राज्य मंत्री अनिल शर्मा ने हापुड़ नगर क्षेत्र की प्रधानाध्यापिका डॉ.सुमन अग्रवाल  को स्मृति चिन्ह देकर सम्मानित किया। इसके अलावा पूर्व चेयरमेन मालती भारती,उम्मीद एनजीओ संचालित गरिमा ,शिक्षिका श्वेता मनचंदा सहित अन्य हस्तियों को भी सम्मानित किया गया।

8 पुलिसवालों की हत्या का आरोपी विकास दुबे उज्जैन में महाकाल मंदिर से गिरफ्तार


लखनऊ |  मध्यप्रदेश पुलिस ने कानपुर हत्याकांड के मुख्य आरोपी और 5 लाख के इनामी विकास दुबे को उज्जैन के महाकाल मंदिर से गिरफ्तार कर लिया है। विकास दुबे पर आठ पुलिसवालों की हत्या करने का आरोप है। पिछले कुछ दिनों से पुलिस उसकी गिरफ्तारी के लिए हरियाणा और दिल्ली में दबिश दे रही थी। यूपी पुलिस विकास दुबे के पांच साथियों को एनकाउंटर में ढेर कर चुकी है। वहीं कई साथियों को गिरफ्तार कर चुकी है।


मध्य प्रदेश के गृह मंत्री नरोत्तम मिश्रा ने भी विकास दुबे की गिरफ्तारी की पुष्टि की। पुलिस सूत्रों के मुताबिक मंदिर के पुजारी ने पुलिस को बुलाकर विकास दुबे की जानकारी दी। इसके बाद उसे गिरफ्तार कर लिया गया। 


विकास दुबे के दो और साथी प्रभात मिश्रा व बउआ दुबे गुरुवार सुबह पुलिस मुठभेड़ में मारे गए। पुलिस ने बताया कि कानपुर पुलिस टीम फरीदाबाद में गिरफ्तार विकास दुबे के खास प्रभात मिश्रा को ट्रांजिट रिमांड पर लेकर कानपुर आ रही थी तभी बीच रास्ते में प्रभात ने पुलिस की पिस्टल छीनकर भागने की कोशिश की, इसी दौरान उसने पुलिस पर फायरिंग भी कर दी। पुलिस ने भी गोली चलाई तो प्रभात घायल हो गया, अस्पताल में डॉक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया। वहीं विकास का दूसरा साथी बउआ दुबे भी इटावा में मारा गया। यह जानकारी इटावा एसएसपी आकाश तोमर ने दी। 


कार लूट कर भाग रहा था बउआ
पुलिस अफसरों के मुताबिक रणबीर शुक्ला ने देर रात महेवा के पास हाईवे पर स्विफ्ट डिजायर कार को लूटा था। उसके साथ तीन और बदमाश थे। पुलिस को लूट की जैसे ही खबर मिली चारों को सिविल लाइन थाने के काचुरा रोड पर घेर लिया। पुलिस और रणबीर शुक्ला के बीच फायरिंग शुरू हो गई। इस फायरिंग के दौरान रणबीर शुक्ला को ढेर कर दिया गया। हालांकि उसके तीन साथी भागने में कामयाब रहे। इटावा पुलिस ने आस-पास के जिले को अलर्ट कर दिया है। रणबीर शुक्ला पर पुलिस ने 50 हजार का इनाम रखा था



Popular posts from this blog

मेरठ में महिला ने तीन बेटियों समेत खुद की गर्दन काटी, एक की मौत

मवाना में अवैध मीट कटान रोकने गई पुलिस टीम पर हमला 

परीक्षितगढ़ क्षेत्र के ग्राम सिखैड़ा में महिला मिली कोरोना पॉजिटिव