अब 22, 28 व 29 जनवरी को होगा वैक्सीनेशन

Image
वैक्सीनेशन अभियान में महिलाओं ने दिखाई सबसे ज्यादा हिम्मत  वैक्सीनेशन में डर के आगे आधी आबादी की जीत, लिखी नई इबारत युरेशिया संवाददाता मेरठ,। वैक्सीनेशन के साथ 16 जनवरी को कोरोना से अंतिम युद्ध का शंखनाद शुरू करने के बाद अब इस लड़ाई का पहला चरण 22 जनवरी शुक्रवार से शुरू होगा। इस संबंध में शासन की ओर से निर्देश जारी कर दिए गए हैं। 22 जनवरी के बाद वैक्सीनेशन की अगली तारीख 28 व 29 जनवरी तय की गयी है। जिले में 16 जनवरी को पहला वैक्सीनेशन किया गया। सबसे अच्छी बात यह रही कि जिले में वैक्सीनेशन करवाने वाले किसी भी लाभार्थी में साइड इफेक्ट के गंभीर लक्ष्ण नहीं मिले। 16 जनवरी को स्वास्थ्य विभाग से जुड़े चिकित्सकों, निजी चिकित्सकों व हेल्थ वर्कर्स का टीकाकरण किया गया। जिले में उस दिन टारगेट 694 में से 562 स्वास्थ्य कर्मियों का वैक्सीनेशन किया गया। जनपद में प्रथम चरण के लिए 19533 स्वास्थ्य कर्मियों को चयनित किया गया है। इसमें 9000 सरकारी और 10533 प्राइवेट लाभार्थी हैं। कोरोना वैक्सीनेशन कराने में महिला स्वास्थ्य कर्मियों का जिले में प्रतिशत 41.21 रहा। महिलाओं ने हर क्षेत्र में अपनी प्रतिभा और दम

शत प्रतिशत स्वस्थ रिकवरी के साथ मरीज अपने घर हुए रवाना : डॉ सुधीर गिरी


यूरेशिया संवाददाता


मेरठ-फाइट अगेंस्ट कोरोना लगातार 87 वा दिन में विम्स मल्टीस्पेशलिटी हॉस्पिटल में बुधवार को वैश्विक महामारी कोरोना के विरुद्ध लड़ाई में लगातार बड़ी सफलता हासिल की। विम्स मल्टीस्पेशलिटी हॉस्पिटल का अब तक का कोरोना स्वास्थ्य रिकवरी रेट शत प्रतिशत रहा है। बुधवार को फिर अमरोहा, संभल एवं अन्य जिलों के कोरोना संक्रमित सभी 05 मरीजों की अच्छे उपचार एवं बेहतर खानपान के कारण रिपोर्ट नेगेटिव आई है। विम्स मल्टीस्पेशलिटी हॉस्पिटल एवं जिला प्रशासन द्वारा इन सभी कोरोना विजेताओ को उपहार देकर एवं इनके ऊपर पुष्प वर्षा कर उनके घरों को रवाना किया। डीएम ने कोरोना मरीज़ों की शत प्रतिशत स्वास्थ्य रिकवरी होने पर विम्स प्रबंधन की जमकर प्रशंसा करते हुए कहा कि विम्स एवं जिला प्रशासन के संयुक्त प्रयासों के कारण जनपद कोरोना मुक्त होने की ओर तेजी से बढ़ रहा है।उन्होंने इसको देश एवं दुनिया के हॉस्पिटलस के लिए मॉडल बताया। मुख्य चिकित्साधिकारी ने बताया कि पूर्व भी विम्स में अभी तक 76 संक्रमित मरीज को उपचार के लिये विम्स में भर्ती कराया गया था। जिनमे से सभी 76 मरीजो की रिपोर्ट नेगेटिव आने पर उनको संबंधित उपचार देकर स्वस्थ होने पर डिस्चार्ज कर दिया गया था।  विश्वविद्यालय के कुलाधिपति डॉ सुधीर गिरी के अनुसार प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के नेतृत्व में हम इस वैश्विक महामारी को जड़ से उखाड़ने के लिए कृतसंकल्प है। उन्होंने कहा कि कोरोना को जड़ से उखाड़ने के लिये विम्स यू पी के साथ साथ दूसरे प्रदेशों के कोरोना मरीजो को भी निःशुल्क उपचार के लिए अपने यहाँ आमंत्रित करता है। प्रतिकुलाधिपति डॉ राजीव त्यागी ने कहा कि कोरोना से भयमुक्त भारत अभियान के लिए देश के प्रत्येक व्यक्ति को जिम्मेदारी से आगे आना होगा। इस अवसर पर कुलपति प्रो पी के भारती, उत्तर प्रदेश शासन के नोडल अधिकारी डॉ अधोपंत, चिकित्सा अधीक्षक विम्स डॉ. सुशील शर्मा,  उपनिदेशक दूरस्थ शिक्षा डॉ अलका सिंह, डॉ अतुल अग्रवाल, नर्सिंग हेड पॉलिन, आनन्द नागर, अरुण गोस्वामी, मीडिया प्रभारी विश्वास राणा आदि लोग उपस्थित रहे।



Popular posts from this blog

मेरठ में महिला ने तीन बेटियों समेत खुद की गर्दन काटी, एक की मौत

मवाना में अवैध मीट कटान रोकने गई पुलिस टीम पर हमला 

परीक्षितगढ़ क्षेत्र के ग्राम सिखैड़ा में महिला मिली कोरोना पॉजिटिव