’पराक्रम दिवस (नेताजी सुभाषचन्द्र बोस जयन्ती 23 जनवरी) की पूर्व संध्या पर वेंक्टेश्वरा में ’’नेताजी एक वैचारिक क्रान्ति’’ विषय पर सेमीनार एवं उनके स्वतन्त्रता संघर्ष पर ’’विशाल पोस्टर प्रर्दशनी’’

Image
नेताजी के संघर्ष से मिली अनमोल आजादी को व्यर्थ ना जाने दे युवा- डाॅ0 सुधीर गिरि  आजादी की जंग में निर्विवाद रुप से नेता जी से बड़ा कोई पराक्रमी नहीं- कर्नल अमरदीप त्यागी देश की आजादी के लिए नेताजी का संघर्ष एवं पराक्रम समूचे भारत के लिए वन्दनीय- डाॅ0 बी0एन0 पाराशर युवाओ/छात्रो को नेताजी के जीवन दर्शन एवं संघर्ष गाथा बताने के लिए संस्थान ने अपने पुस्कालय में किया 500 से अधिक पुस्तको का संग्राहलय- डाॅ0 राजीव त्यागी  अनीस खान/ युरेशिया  मेरठ।आज राष्ट्रीय राजमार्ग बाईपास स्थित वेंक्टेश्वरा विश्वविद्यालय/संस्थान में नेताजी सुभाषचन्द्र बोस जयन्ती (पराक्रम दिवस 23 जनवरी) की पूर्व संध्या पर देश की आजादी के सबसे बड़े महानायक आजाद हिन्द फौज के संस्थापक नेताजी के बलिदान को याद करते हुए ’’नेताजी एक वैचारिक क्रान्ति’’ विषय पर सेमीनार का आयोजन हुआ, जिसमें वक्ताओ ने आजादी के लिए नेताजी की संघर्ष गाथा पर सिलसिलेवार प्रकाश डालते हुए इस महान योद्धा की पराक्रम गाथा से उपस्थित स्टाॅफ एवं छात्र-छात्राओ को रुबरु कराया। इसके साथ ही विख्यात शिक्षाविद् एवं आजाद हिन्द सेना मंच से जुड़े डाॅ0 बी0एन0 पाराशर के निर्दे

मंगलवार की तड़के किठौर के व्यक्ति की दिल्ली अस्पताल में हुई मौत


कोरोना पाजेटिव का शव लेकर कब्रिस्तान में मौजूद एम्बुलैंस व सुरक्षा कवच पहनकर अंतिम संस्कार कराते हुए



  • एक दिन पहले कोरोना पाजेटिव आई थी टेस्ट रिपोर्ट

  • हार्टअटैक की समस्या को लेकर परिजनों ने किया था भर्ती

  • दोपहर एम्बुलैंस से सीधा कब्रिस्तान पहुंचा शव,


यूरेशिया संवाददाता 


किठौर। कई दिनों से हार्ट की समस्या को लेकर दिल्ली अस्पताल में भर्ती कस्बा निवासी एक व्यक्ति की सोमवार को टेस्ट रिपेार्ट में कोरोना पोजेटिव आया था। मंगलवार की तड़के उसकी मौत हो गई। जिसके बाद परिजन शव किठौर लाने की कवायद में जुट गये। दिल्ली सरकार के निर्देशानुसार परिजनों को एम्बुलैंस से शव लेकर सीधा कब्रिस्तान में अंतिम संस्कार के लिये भेजा गया। कस्बे के आधा दर्जन लोगों ने सुरक्षा कवच पहनकर सुपुर्देखाक किया।
जानकारी के अनुसार कस्बा निवासी मसरूर अहमद पुत्र मसीउज्जमां 60 वर्ष को चार दिन पूर्व हार्ट अटैक की समस्या के बाद परिजनों ने दिल्ली के मैक्स अस्पताल में भर्ती कराया था। औपचारिकता के लिये अस्पताल में उनका कोरोना टैस्ट के लिये सैम्पल भेजा गया। सोमवार को टेस्ट रिपोर्ट में कोरोना पाजेटिव आया। उपचार के दौरान मंगलवार तड़के मसरूर की मौत हो गई उधर अस्पताल ने शव देने से इंकार कर दिया था। कस्बे में परिवार के अन्य लोगों में खबर लगते ही शव को कस्बे में लाने का प्रयास किया गया। बताया गया है कि दिल्ली सरकार की नियमावली व निर्देशानुसार सुबह दस बजे अस्पताल की एम्बुलैंस द्वारा परिवार के लोगों को शव सौंपा गया और सीधा कब्रिस्तान ले जाया गया। शव के साथ आये दस सुरक्षा कवच पहनकर कस्बे के आधा दर्जन लोगांे ने सुपुर्देखाक किया। इस दौरान अन्य लोगों भी वहां पहुंचे और सूचना मिलने के बाद किठौर पुलिस भी मौके पर पहुंची। सीएचसी माछरा प्रभारी डा0 अलोक नायक ने बताया कि म्रतक के परिवार के अन्य लोगों केा घर में की क्वारन्टाइन कराया जायेगा।



Popular posts from this blog

मेरठ में महिला ने तीन बेटियों समेत खुद की गर्दन काटी, एक की मौत

मवाना में अवैध मीट कटान रोकने गई पुलिस टीम पर हमला 

परीक्षितगढ़ क्षेत्र के ग्राम सिखैड़ा में महिला मिली कोरोना पॉजिटिव