अब 22, 28 व 29 जनवरी को होगा वैक्सीनेशन

Image
वैक्सीनेशन अभियान में महिलाओं ने दिखाई सबसे ज्यादा हिम्मत  वैक्सीनेशन में डर के आगे आधी आबादी की जीत, लिखी नई इबारत युरेशिया संवाददाता मेरठ,। वैक्सीनेशन के साथ 16 जनवरी को कोरोना से अंतिम युद्ध का शंखनाद शुरू करने के बाद अब इस लड़ाई का पहला चरण 22 जनवरी शुक्रवार से शुरू होगा। इस संबंध में शासन की ओर से निर्देश जारी कर दिए गए हैं। 22 जनवरी के बाद वैक्सीनेशन की अगली तारीख 28 व 29 जनवरी तय की गयी है। जिले में 16 जनवरी को पहला वैक्सीनेशन किया गया। सबसे अच्छी बात यह रही कि जिले में वैक्सीनेशन करवाने वाले किसी भी लाभार्थी में साइड इफेक्ट के गंभीर लक्ष्ण नहीं मिले। 16 जनवरी को स्वास्थ्य विभाग से जुड़े चिकित्सकों, निजी चिकित्सकों व हेल्थ वर्कर्स का टीकाकरण किया गया। जिले में उस दिन टारगेट 694 में से 562 स्वास्थ्य कर्मियों का वैक्सीनेशन किया गया। जनपद में प्रथम चरण के लिए 19533 स्वास्थ्य कर्मियों को चयनित किया गया है। इसमें 9000 सरकारी और 10533 प्राइवेट लाभार्थी हैं। कोरोना वैक्सीनेशन कराने में महिला स्वास्थ्य कर्मियों का जिले में प्रतिशत 41.21 रहा। महिलाओं ने हर क्षेत्र में अपनी प्रतिभा और दम

कोरोना संक्रमण: खतरनाक स्थिति में है मेरठ मंडल, सतर्क रहें और घर से न निकलें












यूरेशिया संवाददाता

मेरठ मंडल के छह जिलों में कोरोना खतरनाक स्थिति में है। इस स्थिति में आम लोगों को विशेष तौर से सतर्क रहने की जरूरत है। संक्रमण लगातार बढ़ता जा रहा है। 2671 केस कोरोना संक्रमित हो चुके हैं। मेरठ मंडल की कमिश्नर ने कोरोना संक्रमण को लेकर 3+3+3 का फार्मूला दिया है। उन्होंने कहा है कि आम लोगों को यह भी समझना होगा कि लॉकडाउन में अनलॉक-1 का आदेश है। लॉकडाउन खत्म नहीं हुआ है। 30 जून तक लॉकडाउन है। 























शनिवार को कमिश्नर ने मेरठ मंडल की स्थिति को मीडिया के सामने स्पष्ट किया। उन्होंने कहा कि मंडल में अब तक 2671 केस आ चुके हैं। 1049 अब सक्रिय केस हो चुके हैं। 1527 केस रिकवर हो चुके हैं। ये लोग स्वस्थ होकर घर जा चुके हैं, लेकिन हाल के दिनों में काफी तेजी से संक्रमण बढ़ा है। ऐसा एक जून से अनलॉक होने के कारण हुआ है। 


लोगों का आना-जाना बढ़ गया है। मंडल में कोरोना संक्रमण खतरनाक स्थिति में है। इस बात को आम लोगों को समझना होगा। आम लोग अभी इस बात को समझ नहीं पा रहे। उन्होंने कहा कि लोग यह समझ लें कि लॉकडाउन खत्म नहीं हुआ है। केवल आवश्यक सेवाओं, सुविधाओं के लिए अनलॉक-1 लागू किया गया है। अनलॉक का आम दिनों की तरह प्रयोग न करें। इसी में सभी की सुरक्षा है और सभी की भलाई है। 


कमिश्नर का 3+3+3 फार्मूला


पहला-3
1-घर से बाहर निकलें तो मास्क अवश्य लगाएं, बिना मास्क न निकलें
2- सोशल डिस्टेंसिंग का सख्ती से पालन करें
3- लगातार हाथ धोएं, सैनिटाइज करें। 


दूसरा-3
1- 65 साल से अधिक उम्र के वृद्ध, 10 साल से कम उम्र के बच्चे बाहर न निकलें
2- गंभीर बीमारियों से पीड़ित व्यक्ति बाहर निकलने से परहेज करें। नियमित चिकित्सकीय परामर्श लें। दवाई लें। 
3- गर्भवती महिलाएं आवश्यक न हो तो घर में ही रहें। बाहर न निकलें। 


तीसरा-3
1- सर्दी, खांसी या हो बुखार, तुरंत जांच कराएं
2- सर्दी, खांसी या बुखार होते ही घर के अन्य सदस्यों से अपने को अलग कर लें
3- घबराएं नहीं, इलाज कराएं। डाक्टर से संपर्क में रहें। 














Popular posts from this blog

मेरठ में महिला ने तीन बेटियों समेत खुद की गर्दन काटी, एक की मौत

मवाना में अवैध मीट कटान रोकने गई पुलिस टीम पर हमला 

परीक्षितगढ़ क्षेत्र के ग्राम सिखैड़ा में महिला मिली कोरोना पॉजिटिव