खुदाई के दौरान मिली दो हजार साल पुरानी अग्निदेव की मूर्ति


यूरेशिया संवाददाता


मथुरामथुरा के डीगगेट क्षेत्र में सीवर लाइन की खुदाई में कुषाण काल की एक मूर्ति मिली है। पुरातत्व विभाग ने जांच में पाया कि यह मूर्ति करीब दो हजार साल पुरानी अग्निदेव की है। जल्द ही पुलिस इस मूर्ति को संग्रहालय प्रशासन को देगी।


नगर निगम टीम डीगगेट क्षेत्र में सीवर लाइन के लिये खुदाई करवा रही है। शाम को करीब आठ मीटर गहराई में प्राचीन पत्थर की मूर्ति निकली। पोकलेन द्वारा मिट्टी निकालने के दौरान मूर्ति क्षतिग्रस्त हो गयी। मूर्ति निकलने की सूचना मिलते ही पुलिस प्रशासन में खलबली मच गई। प्रभारी निरीक्षक गोविंदनगर अजय कुमार सिंह ने तत्काल मौके पर पहुंच कर मूर्ति को कब्जे में लेते हुए उच्चाधिकारियों के साथ ही पुरातत्व विभाग को सूचना दी। प्रभारी निरीक्षक गोविंदनगर ने बताया कि गुरुवार को आगरा से उपाधीक्षक पुरातत्व विभाग आगरा प्रदीप कुमार मथुरा आए। उन्होंने मूर्ति का बारीकी से परीक्षण करते हुए बताया कि यह मूर्ति कुषाण काल की करीब दो हजार साल पुराने पत्थर की अग्निदेव की मूर्ति है। उन्होंने बताया कि इस मूर्ति के साथ ही करीब दो फीट चौड़ा शिलालेख भी मिला है। उस पर भी कुछ आकृति व लिखा हुआ है। इन्हें डैम्पियर नगर स्थित संग्रहालय प्रशासन को सौंप दिया जाएगा।


पुरातात्विक दृष्टि से महत्वपूर्ण है क्षेत्र :


प्रभारी निरीक्षक गोविंदनगर अजय कुमार सिंह ने बताया कि आगरा से आये डिप्टी सुपरिटेंडेंट पुरातत्व विभाग ने बताया कि पुरातात्विक दृष्टि से यह क्षेत्र बहुत ही महत्वपूर्ण है। इस क्षेत्र में चल रही खुदाई के दौरान कुछ और भी पुरातत्व की चीजें मिलने की संभावना से इंकार नहीं किया जा सकता है। इसके चलते उन्होंने खुदाई स्थल पर पुलस कर्मी लगा दिये हैं। 


Comments

Popular posts from this blog

यूपी पंचायत चुनाव : मेरठ में ग्राम प्रधान पदों की आरक्षण सूची जारी, देखें ब्लॉकवार आरक्षण की सूची

मेरठ में महिला ने तीन बेटियों समेत खुद की गर्दन काटी, एक की मौत

मुरादनगर में दर्दनाक हादसा, अंतिम संस्कार में गए लोगों पर गिरने से 23 की मौत, CM ने मांगी रिपोर्ट