’पराक्रम दिवस (नेताजी सुभाषचन्द्र बोस जयन्ती 23 जनवरी) की पूर्व संध्या पर वेंक्टेश्वरा में ’’नेताजी एक वैचारिक क्रान्ति’’ विषय पर सेमीनार एवं उनके स्वतन्त्रता संघर्ष पर ’’विशाल पोस्टर प्रर्दशनी’’

Image
नेताजी के संघर्ष से मिली अनमोल आजादी को व्यर्थ ना जाने दे युवा- डाॅ0 सुधीर गिरि  आजादी की जंग में निर्विवाद रुप से नेता जी से बड़ा कोई पराक्रमी नहीं- कर्नल अमरदीप त्यागी देश की आजादी के लिए नेताजी का संघर्ष एवं पराक्रम समूचे भारत के लिए वन्दनीय- डाॅ0 बी0एन0 पाराशर युवाओ/छात्रो को नेताजी के जीवन दर्शन एवं संघर्ष गाथा बताने के लिए संस्थान ने अपने पुस्कालय में किया 500 से अधिक पुस्तको का संग्राहलय- डाॅ0 राजीव त्यागी  अनीस खान/ युरेशिया  मेरठ।आज राष्ट्रीय राजमार्ग बाईपास स्थित वेंक्टेश्वरा विश्वविद्यालय/संस्थान में नेताजी सुभाषचन्द्र बोस जयन्ती (पराक्रम दिवस 23 जनवरी) की पूर्व संध्या पर देश की आजादी के सबसे बड़े महानायक आजाद हिन्द फौज के संस्थापक नेताजी के बलिदान को याद करते हुए ’’नेताजी एक वैचारिक क्रान्ति’’ विषय पर सेमीनार का आयोजन हुआ, जिसमें वक्ताओ ने आजादी के लिए नेताजी की संघर्ष गाथा पर सिलसिलेवार प्रकाश डालते हुए इस महान योद्धा की पराक्रम गाथा से उपस्थित स्टाॅफ एवं छात्र-छात्राओ को रुबरु कराया। इसके साथ ही विख्यात शिक्षाविद् एवं आजाद हिन्द सेना मंच से जुड़े डाॅ0 बी0एन0 पाराशर के निर्दे

 इम्यूनिटी बढाने के लिये फल व सब्जी का इस्तेमाल करे:- भावना 


  •   अरूणोदय संस्था का वेबिनार का आयोजन


यूरेशिया संवाददाता


मेरठ। वैश्विक महामारी कोरोना से बचाव को लिये हर तरफ प्रयास किये जा रहे है। इसमें चिकित्सकों की अहम भूमिका दिखाई दे रहे है। जो मरीजों का उपचार करने के साथ लोगों को जागरूक करने का प्रयास भी कर रहे है। इसी परिपेक्ष में शहर जानी मानी डायटिशियन डा भावना गांधी ने बुधवार को अरूणोदय सामाजिक संस्था के द्वारा आयोजित वेबीनार को सदस्यों को कोरोना से बचाव व इम्यूनिटी बढाने के लिये टिप्स दिये। 
 वेबीनार का आयोजन अरूणोदय संस्था की अध्यक्षा अनुभूति चौहान ने किया। इस मौके पर डा भावना गांधी ने कहा है। वैश्विक महामारी कोराना जिससे पूरा विश्व लड रहा है। कहा से आयी हमें नहीं पता कब जाएगी इसके बारे में भी किसी को नहीं पता है। अभी तक इसकी कोई दवा नहीं बनी है। डब्लयूएचओ भी  इसे के साथ जीने की बात कह रहा है। ऐसे में अपने आप को कोरोना से बचाना बेहद जरूरी हो गया है। इसके लिये जिदंगी में बदलाव क रने होगे। उन्होंने बताया घर के सदस्यों इम्यूनिटी पावर को मजबूत रखने के घर की महिला की सबसे महत्वपूर्ण भूमिका है। वर्तमान समय में लोग अधिकतर अपने घरों  में कैद है। ऐसे में कोरोना से बचाने के लिये अपने को स्वस्थ्य रखे। इसके लिये फलों, दालों व सब्जी का प्रयोग प्रयोग करें। उन्होने बताया अगर आप बाहर से सब्जी ला रहे है।तो उसे मीठी सोडा डाल कर बाल्टी रखे। १५ मिनट के बाद पानी से धोकर उसे निकल कर रख दे। प्रोटीन के लिये सबसे ज्यादा दाले सोयाबीन, अंडा, का इस्तेमाल करें। लेकिन इसके अपने डाइट के अनुसार ले। अंत में उन्होंने कहा अपने शरीर का फिट रखने के लिये नींद जरूर ले। बासी खाने से परहेज करें। 
इस दौरान उन्होने वेबीनार के अंदर प्रश्नों का बेखूबी सेउत्तर दिया।


Popular posts from this blog

मेरठ में महिला ने तीन बेटियों समेत खुद की गर्दन काटी, एक की मौत

मवाना में अवैध मीट कटान रोकने गई पुलिस टीम पर हमला 

परीक्षितगढ़ क्षेत्र के ग्राम सिखैड़ा में महिला मिली कोरोना पॉजिटिव