वेंक्टेश्वरा में ’’राष्ट्रीय बालिका दिवस’’ पर ’मातृशक्ति सम्मान समाराह’ एवं ’बेटी बचाओ-बेटी पढाओ’’ शपथ समारोह

Image
जिस देश में कन्या को दुर्गा के रुप में पूजा जाता है, वहां कन्या भ्रूण हत्या सिर्फ एक कानूनी अपराध नहीं बल्कि एक राष्ट्रीय अभिशाप-डाॅ0 सुधीर गिरि  आज हम मातृशक्ति को सम्मानित करते हुए खुद को गौरान्वित महसूस कर रहे है- डाॅ0 राजीव त्यागी अनीस खान यूरेशिया ब्यूरो मेरठ। राष्ट्रीय बालिका दिवस पर राष्ट्रीय राजमार्ग बाईपास स्थित वेंक्टेश्वरा संस्थान में अलग-अलग क्षेत्रो में उल्लेखनीय/उत्कृष्ट कार्य करने वाली 22 छात्राओ एवं महिला शिक्षिकाओ को स्मृति चिन्ह एवं पुरस्कार देकर सम्मानित किया गया। इस अवसर पर प्रतिकुलाधिपति डाॅ0 राजीव त्यागी ने उपस्थित स्टाॅफ एवं छात्र-छात्राओ को ’’बेटी बचाओ-बेटी पढाओ’’ की शपथ दिलाकर सभी से ’’महिला सशक्तिकरण अभियान के महाकुम्भ में अपना सक्रिय योगदान देने की अपील की। राष्ट्रीय बालिका दिवस पर ’’वेंक्टेश्वरा संस्थान के अब्दुल कलाम आजाद सभागार में ’’मातृशक्ति सम्मान समारोह एवं ’’बेटी बचाओ-बेटी पढाओ शपथ समारोह का शुभारम्भ विश्वविद्यालय के चेयरमैन डाॅ0 सुधीर गिरि, प्रतिकुलाधिपति डाॅ0 राजीव त्यागी, कुलपति प्रो0 पी0 के0 भारती, नर्सिंग प्रिंसीपल डाॅ0 एना ब्राउन ने सरस्वती माँ

घर-घर संभावित मरीजों को तलाश रहीं 787 टीमें 


  •  अभियान  में अब तक 125 संभावित मरीज मिले

  •  सभी को होम क्वेरेंटाइन में रहने की दी गई हिदायत


यूरेशिया संवाददाता


 मेरठ । कोरोना वायरस के संक्रमण को फैलने से रोकने के लिये डीएम के निर्देश पर स्वास्थ्य विभाग और जिला प्रशासन ने मिलकर 787 टीमें गठित की हैं। यह टीमें घर-घर जाकर संभावित मरीजों,सर्दी, खांसी, बुखार के लक्षण वाले को तलाशने में जुटीं  हैं। इन टीमों में लेखपाल, आशा कार्यकर्ता और एएनएम को शामिल किया गया है। जनपद में अब तक इस अभियान के तहत 125 संभावित मरीज ढूंढ भी लिए गए हैं। लक्षणों के आधार पर सभी को होम क्वेरेंटाइन में रहने की हिदायत दी गई है।
जनपद में कोरोना संक्रमण के मरीजों की बढती संख्या के मद्देनजर जिला प्रशासन कोई कसर बाकी नहीं छोडऩा चाहता। जिला अधिकारी अनिल ढींगरा का कहना है कि मरीज की  पहचान जितनी जल्दी हो सके, उतनी ही जल्दी एहतियात और उपचार शुरू किया जा सकता है। संक्रमण पर काबू पाने के लिए यह बहुत जरूरी है। डीएम ने जिला प्रशासन और स्वास्थ्य  विभाग को साथ मिलकर संभावित मरीजों की तलाश करने के लिए घर-घर टीमें भेजने के निर्देश दिए थे। डीएम के निर्देश पर जिले में  787 टीमें गठित की गईं। इन टीमों में गांव की हर छोटी बड़ी बात की खबर रखने वाले लेखपाल के साथ आशा और एएनएम को लगाया गया है।
जिला अधिकारी श्री ढींगरा ने  बताया इसके लिये पूरे जिले में लगाई गई टीमों ने काम शुरू कर दिया है और  अब इसके परिणाम भी सामने आने लगे हैं। डीएम ने बताया घर-घर जाकर सर्च अभियान के दौरान जनपद में कुल 125 संभावित मरीज खोज निकाले गए। इन सभी को लक्षणों के आधार पर होम क्वेरेंटाइन रहने की हिदायत दी गई है। स्वास्थ्य विभाग की टीम इन संभावित मरीजों का फोलोअप करती रहेंगी। जरूरत पडऩे पर तत्काल मेडिकल सुविधा भी उपलब्ध कराई जाएगी।  मुख्य चिकित्सा अधिकारी डा. राजकुमार ने बताया अभियान का मकसद ऐसे लोगों की तलाश करना है जो बुखार व अन्य बीमारियों से ग्रसित हैं। इनकी लगातार निगरानी की जाएगी। जरूरत पडऩे पर तत्काल मेडिकल सुविधा भी उपलब्ध कराई जाएगी। 


Popular posts from this blog

मेरठ में महिला ने तीन बेटियों समेत खुद की गर्दन काटी, एक की मौत

मवाना में अवैध मीट कटान रोकने गई पुलिस टीम पर हमला 

परीक्षितगढ़ क्षेत्र के ग्राम सिखैड़ा में महिला मिली कोरोना पॉजिटिव