2 6 जनवरी को किसानों की ट्रैक्टर रैली पर आदेश पारित करना हमारा काम नहीं : सुप्रीम कोर्ट

Image
नयी दिल्ली  (एजेंसी)।  सुप्रीम कोर्ट ने 26 जनवरी की प्रस्तावित ट्रैक्टर रैली को लेकर दायर याचिका पर केंद्र सरकार से कहा कि आप प्राधिकार हैं और आपको इससे निपटना है, इसपर आदेश पारित करना अदालत का काम नहीं है। केंद्र सरकार ने सुप्रीम कोर्ट द्वारा 26 जनवरी को किसानों की प्रस्तावित ट्रैक्टर रैली को पुलिस का मामला बताए जाने के बाद मामले में न्यायालय से हस्तक्षेप के अनुरोध वाली याचिका वापस ली।

एनएसयूआई ने थाली बजाकर किया विरोध प्रदर्शन 


यूरेशिया संवाददाता
मेरठ-एनएसयूआई कार्यकर्ता चौधरी चरण सिंह विश्वविद्यालय  मेरठ के मुख्य द्वार पर इकट्ठा हुए। कार्यकर्ताओं ने  सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करते हुए लेट कर हाथ से ताली और थाली बजाकर विरोध प्रदर्शन किया। एनएसआई कार्यकर्ताओं ने सरकार विरोधी नारे लगाते हुए कहा कि कोविड-19 की महामारी को देखते हुए प्रदेश के सभी विश्वविद्यालय जल्द से जल्द छात्रों के भविष्य और जीवन को देखते हुए जनरल प्रमोशन की प्रक्रिया लागू करें। अगर प्रदेश की सरकार और प्रदेश के विश्वविद्यालय जल्द से जल्द छात्र हित में जनरल प्रमोशन करने का कार्य नहीं करते तो एनएसयूआई कार्यकर्ता सड़कों पर उतर कर  सरकार को और विश्वविद्यालय को घेरने का काम करेंगे।  एनएसयूआई कार्यकर्ताओं के अनुसार इस वर्ष ऐसी महामारी में छात्र छात्रा  अपने भविष्य को लेकर पेसोपेश में है  परीक्षा कराने का सरकार का कोई भी कदम छात्र-छात्राओं को राहत नहीं दे रहा। छात्र-छात्रा असमंजस में है कि भविष्य में क्या होगा। इसलिए एनएसयूआई लगातार छात्र हितों को देखते हुए छात्रों की आवाज को उठाने का काम कर रही है । अगर सरकार जल्दी निर्णय नहीं लेती हैं तो एनएसआई कार्यकर्ताओं को मजबूरन सड़क पर आना पड़ेगा। 
प्रदर्शन में एनएसयूआई प्रदेश अध्यक्ष रोहित राणा, सूर्यांश तोमर, करार हुसैन ,सलीम चौहान , नितीश भारद्वाज, हर्ष शामिल रहे।


Popular posts from this blog

मेरठ में महिला ने तीन बेटियों समेत खुद की गर्दन काटी, एक की मौत

मवाना में अवैध मीट कटान रोकने गई पुलिस टीम पर हमला 

परीक्षितगढ़ क्षेत्र के ग्राम सिखैड़ा में महिला मिली कोरोना पॉजिटिव