’पराक्रम दिवस (नेताजी सुभाषचन्द्र बोस जयन्ती 23 जनवरी) की पूर्व संध्या पर वेंक्टेश्वरा में ’’नेताजी एक वैचारिक क्रान्ति’’ विषय पर सेमीनार एवं उनके स्वतन्त्रता संघर्ष पर ’’विशाल पोस्टर प्रर्दशनी’’

Image
नेताजी के संघर्ष से मिली अनमोल आजादी को व्यर्थ ना जाने दे युवा- डाॅ0 सुधीर गिरि  आजादी की जंग में निर्विवाद रुप से नेता जी से बड़ा कोई पराक्रमी नहीं- कर्नल अमरदीप त्यागी देश की आजादी के लिए नेताजी का संघर्ष एवं पराक्रम समूचे भारत के लिए वन्दनीय- डाॅ0 बी0एन0 पाराशर युवाओ/छात्रो को नेताजी के जीवन दर्शन एवं संघर्ष गाथा बताने के लिए संस्थान ने अपने पुस्कालय में किया 500 से अधिक पुस्तको का संग्राहलय- डाॅ0 राजीव त्यागी  अनीस खान/ युरेशिया  मेरठ।आज राष्ट्रीय राजमार्ग बाईपास स्थित वेंक्टेश्वरा विश्वविद्यालय/संस्थान में नेताजी सुभाषचन्द्र बोस जयन्ती (पराक्रम दिवस 23 जनवरी) की पूर्व संध्या पर देश की आजादी के सबसे बड़े महानायक आजाद हिन्द फौज के संस्थापक नेताजी के बलिदान को याद करते हुए ’’नेताजी एक वैचारिक क्रान्ति’’ विषय पर सेमीनार का आयोजन हुआ, जिसमें वक्ताओ ने आजादी के लिए नेताजी की संघर्ष गाथा पर सिलसिलेवार प्रकाश डालते हुए इस महान योद्धा की पराक्रम गाथा से उपस्थित स्टाॅफ एवं छात्र-छात्राओ को रुबरु कराया। इसके साथ ही विख्यात शिक्षाविद् एवं आजाद हिन्द सेना मंच से जुड़े डाॅ0 बी0एन0 पाराशर के निर्दे

चुनाव कराकर निजी हित साधने का लगाया आरोप


  • काजी शादाब ने प्रबंध समिति का चुनाव निरस्त कराने की जिलाधिकारी से की मांग



यूरेशिया संवाददाता 


मेरठ-भारतीय उद्योग विकास व्यापार मंडल के प्रदेश अध्यक्ष व भाजपा नेता काजी शादाब ने जिलाधिकारी अनिल ढींगरा को ज्ञापन सौंपते हुए बताया कि फैज़-ए-आम इंटर कॉलेज की प्रबंध समिति का चुनाव 2014 के नियम के आधार पर कराने की घोषणा चुनाव अधिकारी द्वारा की गई है। प्रबंध समिति के चुनाव में घोटाले की आशंका है क्योंकि चुनाव अधिकारी ने चुनाव लड़ने वालो के लिए जो शर्त लागू की है। वह शर्ते मानना हर किसी के बस की बात नही है। चुनाव अधिकारी नवीन कुमार सिरोही ने इस बार के चुनाव में जो नियम बनाया है। उसके अनुसार मतदाता सूची का अंतिम प्रकाशन के बाद प्रमाणित मतदाता सूची 11 हजार रुपये देने के बाद ही दी जाएगी। इसके साथ ही पदाधिकारी के पद के लिए नामांकन पत्र का मूल्य पांच हजार व सदस्यों के लिए तीन हजार रूपए होगा। वही प्रत्याशी को पचास हजार का एक ड्राफ्ट प्रधानाचार्य राजकीय इंटर कॉलेज कपसाड के नाम देना होगा। जो किसी भी दशा में वापिस नहीं होगा। इन्ही नियमों के कारण चुनाव में घोटाले की आशंका से इनकार नहीं किया जा सकता है। काजी शादाब ने बताया कि यह चुनाव ऐसे समय में करवाए जा रहे है। जिले में निषेधाज्ञा लागू की गई है। चुनाव को कराकर कुछ लोग अपने निजी हित साधने का कार्य करेंगे। काजी शादाब ने जिलाधिकारी अनिल ढींगरा से उक्त मामले में तत्काल प्रभाव से कॉलेज की प्रबंध समिति का चुनाव निरस्त कराने का आदेश पारित कराने की मांग की है।


Popular posts from this blog

मेरठ में महिला ने तीन बेटियों समेत खुद की गर्दन काटी, एक की मौत

मवाना में अवैध मीट कटान रोकने गई पुलिस टीम पर हमला 

परीक्षितगढ़ क्षेत्र के ग्राम सिखैड़ा में महिला मिली कोरोना पॉजिटिव