गैस सिलेंडर लीकेज होने से घर में लगी आग , हालत गंभीर

Image
अनीस खान यूरेशिया ब्यूरो मेरठ ।  जानी क्षेत्र के गांव  नेक में खाना बनाते समय लिकिंज सिलेंडर में आग लग गई । आग लगने से परिवार के लोग झुलसे । ग्रामीणों ने आग पर काबू पाया।  मौके पर पहुंची पुलिस ने घायलों को उपचार के लिए अस्पताल में भर्ती कराया ।       शनिवार की रात को घर में खाना बनाते समय  लिकिंज सिलेंडर में आग लग गई । आग लगने पर घर में अफरा-तफरी मच गई । ग्रामीणों ने बताया महिपाल पिता रकबर निवासी नेक की पत्नी उषा घर में खाना बना रही थी । घर में रखा सिलेंडर लीकेज हो गया।  लीकेज सिलेंडर ने आग पकड़ ली । आग पकड़ने पर घर में अफरा-तफरी मच गई । घर में रखा सामान जलकर खाक हो गया । ग्रामीणों ने बड़ी मशक्कत के बाद आग पर काबू पा लिया । मौके पर पहुंची पुलिस ने घायल महिपाल पत्नी उषा , लड़के अजय व अमन  को सुभारती अस्पताल में उपचार के लिए भर्ती कराया ।

बुखार, खांसी की दवा लेने आए मरीज तो फार्मासिस्ट करें 1800-180-5146 पर फोन


  •  प्रदेश सरकार ने जारी की नई हेल्पलाइन

  • आशा, एएनएम और आंगनबाड़ी कार्यकत्रियों को भी देना होगी सूचना


यूरेशिया संवाददाता 


मेरठ। कोरोना के लक्षण वाले सभी मरीजों को सरकारी अस्पताल तक लाने के उद्देश्य से प्रदेश सरकार ने एक और हेल्पलाइन 1800-180-5146 जारी किया है। यह हेल्पलाइन सिर्फ प्राइवेट मेडिकल स्टोर चला रहे फार्मासिस्ट, आशा, एएनएम व आंगनबाड़ी के लिए होगी। 
प्रमुख सचिव. स्वास्थ्य अमित मोहन प्रसाद ने कहा कि कोरोना पर अंकुश तभी लगाया जा सकता है जब इसके लक्षण वाले किसी भी व्यक्ति को फौरन अस्पताल लाया जाए, टेस्ट हो और अगर पाजिटिव है तो तुंरत इलाज शुरू हो।
उन्होंने कहा कि बहुत से लोग बुखार, खांसी की दवा मेडिकल स्टोर से लेते हैं। मेडिकल स्टोर के फार्मासिस्ट को ऐसे किसी भी व्यक्ति की डिटेल इस हेल्पलाइन नंबर पर बताना है। इससे हम उस शख्स को फालोअप कर सकेंगे और अगर वह कोरोना के लक्षण की गिरफ्त में आता है तो उसका इलाज करवा सकेंगे।प्रमुख सचिव ने कहा कि यह हेल्पलाइन आम जनता के लिए नहीं है। इस पर प्राइवेट फार्मासिस्ट के अलावा आशा, एएनएम और आंगनबाड़ी काल कर सकेंगी। आशा, एएनएम और आंगनबाड़ी भी अपने संपर्क में आए किसी भी बुखार,खांसी के लक्षण वाले व्यक्ति के बारे में इस हेल्पलाइन पर सूचित कर सकेंगी। आम जनता के लिए पहले से ही हेल्पलाइन नंबर 1800-180-5145 चल रही है जिसपर वह अपनी समस्या बयान कर सकते हैं।
सीएमओ डा राजकुमार ने बताया प्रमुख सचिव के आदेश केा सभी फार्मासिस्ट आश व एएनएम और आंगनबाडी कार्यकत्री को बैठक कर बता दिया गया है। जिस परअमल आरंभ हो गया है। 


Popular posts from this blog

मेरठ में महिला ने तीन बेटियों समेत खुद की गर्दन काटी, एक की मौत

मवाना में अवैध मीट कटान रोकने गई पुलिस टीम पर हमला 

परीक्षितगढ़ क्षेत्र के ग्राम सिखैड़ा में महिला मिली कोरोना पॉजिटिव