राष्ट्रगान में बदलाव के लिए सुब्रमण्यम स्वामी ने पीएम को लिखा पत्र, ट्विटर पर लिखा ये पोस्ट

नई दिल्लीः बीजेपी नेता सुब्रमण्यम स्वामी ने राष्ट्रगान में बदलाव के लिए पीएम मोदी को पत्र लिखा है. स्वामी ने पीएम मोदी को भेजे गए इस पत्र को ट्विटर पर भी शेयर किया है. उन्होंने खत में कहा है कि राष्ट्रगान 'जन गण मन...' को संविधान सभा में सदन का मत मानकर स्वीकार कर लिया गया था. उन्होंने आगे लिखा है, 26 नवंबर, 1949 को संविधान सभा के आखिरी दिन अध्यक्ष राजेंद्र प्रसाद ने बिना वोटिंग के ही 'जन गण मन...' को राष्ट्रगान के रूप में स्वीकार कर लिया था. हालांकि, उन्होंने माना था कि भविष्य में संसद इसके शब्दों में बदलाव कर सकती है. स्वामी ने लिखा है कि उस वक्त आम सहमति जरूरी थी क्योंकि कई सदस्यों का मानना था कि इस पर बहस होनी चाहिए, क्योंकि इसे 1912 में हुए कांग्रेस अधिवेशन में ब्रिटिश राजा के स्वागत में गाया गया था.

मशीन फटने से मचा हडकंप

यूरेशिया संवाददाता
बुढाना। बुढाना स्थित शुगर मिल में आज उस समय बडा हादसा हो गया, जब शुगर मिल में सेंट्रीफ्यूअल मशीन अचानक फट गई। इस दौरान गनीमत यह रही कि वहां कोई कर्मचारी नहीं था, अन्यथा बडी अनहोनी भी हो सकती थी। कर्मचारियों ने बताया कि शुगर मिल में पहले भी इस तरह के बडे हादसे हो चुके हैं।
मिली जानकारी के अनुसार बुढाना के भैंसाना स्थित शुगर मिल में रात्रि के समय तेज आवाज के साथ अचानक सेंट्रीफ्यूअल मशीन फट गई, जिससे शुगर मिल में अफरा-तफरी मच गई। दौडकर आये कर्मचारियों ने देखा कि मशीन फटने के समय वहां कोई कर्मचारी नहीं था, जिस कारण उन्होंने राहत की सांस ली। कर्मचारियों का कहना है कि यदि मशीन फटने के समय वहां कोई कर्मचारी होता तो बडा हादसा भी हो सकता था। कर्मचारियों का यह भी कहना है कि शुगर मिल में पहले भी इस तरह के हादसे हो चुके हैं। उनका कहना है कि शुगर मिल की मशीन काफी पुरानी हो चुकी है, जिसके चलते आये दिन इस तरह का खतरा मंडराता रहता है। 



Popular posts from this blog

परीक्षितगढ़ क्षेत्र के ग्राम सिखैड़ा में महिला मिली कोरोना पॉजिटिव

मवाना में अवैध मीट कटान रोकने गई पुलिस टीम पर हमला 

माछरा गांव में खुलेआम उड़ाई जा रही हैं लॉक डाउन की धज्जियां