पत्रकार को धमकी देने वाले बिल्डर के खिलाफ केस दर्ज़,बिल्डर व गुर्गे फरार

युरेशिया नई दिल्ली। विश्व पत्रकार महासंघ दिल्ली प्रदेश ने मध्य जिला पुलिस उपायुक्त संजय भाटिया व एडिशनल डी सी पी रोहित कुमार मीणा को ज्ञापन व मांग पत्र सौंप कर पत्रकार मणि आर्य को धमकी देने वाले बिल्डर के खिलाफ मुकदमा दर्ज़ करके कार्रवाई की मांग की थी। पत्रकार मणि आर्य ने दिल्ली के पहाड़गंज में बाराही माता मंदिर में चल रहे अवैध निर्माण और निगम में फैले भ्रष्टाचार और भू - माफिया बिल्डर द्वारा सरकारी भूमि पर कब्जे को लेकर खबर को प्रकाशित की थी। जिसके बाद अब दिल्ली पुलिस ने सच दिखाकर प्रशासन को जगाने वाले स्थानीय पत्रकार मणि आर्य को धमकी देने वाले बिल्डर व उसके गुर्गों के खिलाफ नबी करीम थाना पुलिस भारतीय दंड सहिंता की धारा 506 के अंतर्गत रिपोर्ट संख्या 0013/2020 के तहत ने जान से मारने की धमकी देने का केस दर्ज़ कर लिया है। केस दर्ज़ होने की भनक लगते ही गिरफ्तारी के डर से आरोपी बिल्डर और उसके कई गुर्गे भूमिगत हो गए हैं। गौरतलब है की स्थनीय जनप्रतिनिधियों से सांठगांठ करके बिल्डर बड़े पैमाने पर अवैध निर्माण करने में माहिर माना जाता है इसलिए निगम पार्षद से लेकर महापौर तक मंदिर पर अवैध निर्माण को

बेसहारा  5 गोवंश गायब गोकशी की आशंका

यूरेशिया संवाददाता


 भावनपुर थाना  क्षेत्र के, भाजपा से मण्डल मंत्री व महानगर सहसंयोजक ‌विहिप ने गांव मोरना के जंगल मे  बेसहारा घूम रहे सात गौवंशज को घेरते हुए पानी की टंकी परिसर मे बंद करते हुए हस्तिनापुर भेजने के लिए जिला अधिकारी व मुख्यमंत्री को ट्विट के माध्यम से कार्यवाही की मांग की। और गांव से गायब  बेसहारा गौवंश की गौकसी का आरोप लगाकर थाना पुलिस के खिलाफ जमकर हगामा किया ।  सुचना पर पुलिस कार्यवाही न करके घटना को दबाती रही जिसके बाद  मुख्यमंत्री को ट्वीट करने पर  अगले दिन मोके पर पहुंचकर थाना पुलिस ने सभी गौवंशज को  हस्तिनापुर गौशाला भिजवा दिया।
      भाजपा से मण्डल मंत्री मोहित कामबोज व महानगर सहसंयोजक ‌विहिप गौरव गर्ग ने बताया कि काफी समय से गांव के जंगल मे एक दर्जन  बेसहारा गौवंशज घूम रहे थे । जिसमे से आधा दर्जन गौवंश गायब हो गये। जिस पर सोमवार को देर रात मोहित काम्बोज व गौरव गर्ग ने अपने कार्यकर्ता व ग्रामीणो की मदद से सात आवारा गौवंशज को घेर कर गायब गौवंश की गौकसी की आशंका जताते हुए पुलिस को सुचना कर दी पुलिस के ना पहुचने पर कार्यकर्ताओ ने जमकर हगामा किया उसके बाद मुख्यमंत्री को ट्वीट कर थाना पुलिस पर क्षेत्र मे गौकसी कराने का आरोप लगाया । अगले दिन जिला अधिकारी व मुख्यमंत्री पर ट्विट करने के बाद थाना पुलिस मोके पर पहुंची और सभी गोवंशज को हस्तिनापुर गौशाला भेजने की व्यवस्था कराई।
      पांच गौवंशज गायब
      गांव मोरना निवासी मोहित काम्बोज व गौरव गर्ग के साथ अन्य कार्यकर्ता का आरोप है । कि उनके गांव के जंगल मे घूमने वाले एक दर्जन बेसहारा गौवंशज मे से मात्र सात गौवंशज ही बचे है। आशंका जताई कि गायब पाचं गौवंशजो की गौतस्कर गौकशी करने मे कामयाब हो गए।।
एसओ भावनपुर का कहना है कि बेसहारा गायब 5 गोवंश की तलाश जारी है।। अभी तक गोकशी का कोई भी सुराग नहीं मिला है।।



Popular posts from this blog

परीक्षितगढ़ क्षेत्र के ग्राम सिखैड़ा में महिला मिली कोरोना पॉजिटिव

मवाना में अवैध मीट कटान रोकने गई पुलिस टीम पर हमला 

माछरा गांव में खुलेआम उड़ाई जा रही हैं लॉक डाउन की धज्जियां