कुत्ते राकेश की मौत, पुलिसकर्मियों ने कुत्ते की अंतिम यात्रा निकाली

Image
मेरठ  ( युरेशिया)  । कमिश्नरी चौराहे पर आज अनोखा नजारा सामने देखने को मिला। एक कुत्ते की मौत के बाद गमगीन पुलिसकर्मियों ने उसकी अंतिम यात्रा निकाली और और उसे सुपुर्द ए खाक भी किया । कुत्ता कोरोना काल से मेरठ कमिश्नरी चौराहे पर तैनात पुलिसकर्मियों और पीएससी के जवानों के साथ रहता था । कुत्ते का मालिक राकेश उसे कोरोना की शुरुआती दौर में कमिश्नरी चौराहे पर छोड़ कर चला गया था ,पुलिस वालों ने उसकी देखभाल की,और उस कुत्ते का नाम भी राकेश रख दिया गया । तबसे राकेश पुलिसवालों के साथ ही रहता था । पुलिसवाले इसे अपना साथी मानकर प्रेम से साथ रखते थे । लेकिन बीमारी के चलते आज राकेश की मौत हो गई । मेरठ के कमिश्नरी चौराहे पर पीएसी के जवानों के साथ रहने वाला बेजुबान कुत्ता जिसका नाम राकेश था आज उसकी बीमारी के चलते मौत हो गई, उसकी मौत से पुलिसकर्मी गमगीन हो गए सुबह जब पीएसी के जवान अपनी डयूटी पर पहुंचे थे तो राकेश जिंदगी और मौत के बीच जूझ रहा था और कुछ देर बाद उसकी मौत हो गई ,पीएसी के जवानों ने राकेश की अंतिम यात्रा निकाली और उसे कमिश्नरी पार्क में ही गढ्ढे में दफना दिया । राकेश पिछले कई दिनों बीमारी से जू

बागपत जिला कारागार में बंदियों के बीच संघर्ष में एक की हत्या, कई घायल


विश्व बंधु शास्त्री


बागपत,।  उत्तर प्रदेश में बागपत के जिला कारागार में बंदियों के बीच हुए खूनी संघर्ष में एक कैदी की हत्या कर दी गई, जबकि कई बंदी घायल हो गए। घायलों को अस्पताल में उपचार के लिए ले जाया गया।
जिला जेल से विश्वस्त सूत्रों के अनुसार, जिला जेल में शनिवार को दिन में बंदियों के दो गुटों के बीच हुए खूनी संघर्ष में एक कैदी ऋषिपाल की हत्या कर दी गई। संघर्ष में आधा दर्जन से अधिक बंदी भी घायल हैं। मृतक बंदी ऋषिपाल खेकड़ा थाना क्षेत्र के बसी का रहने वाला था। जेल सूत्रों ने बताया कि ऋषिपाल पर किसी नुकीली वस्तु से ताबड़तोड़ प्रहार किया गया था। जिससे उसकी मृत्यु हो गई। दो गुटों के बीच हुए संघर्ष में अमित पुत्र सुरेशपाल निवासी गांव जौनमाना समेत कई बंदी शामिल है। जेल सूत्रों के मुताबिक, गांव में ही कुछ दिन पूर्व प्रधान ओमपाल व ऋषिपाल पक्ष के बीच गोलीबारी भी हुई थी। दोनों पक्षों में 16 अप्रैल को झगड़ा भी हुआ था। इसी मामले में दोनों पक्ष के एक दर्जन लोग जेल में बंद थे। इसी बीच शनिवार को किसी बात को लेकर जेल में बंदियों के बीच संघर्ष हो गया, जिसमें ऋषिपाल की हत्या कर दी गई। संघर्ष में आधा दर्जन से अधिक बंदी भी घायल हैं। 
जेल में बंदी की हत्या की सूचना के बाद डीएम श्रीमती शकुंतला गौतम व पुलिस अधीक्षक प्रताप गोपेन्द्र सिंह भी मौके पर पहुंचे औऱ जेलर से घटना कु जानकारी ली।
एहतियात के तौर पर जेल परिसर में सुरक्षा की दृष्टि से बड़ी संख्या में फोर्स को तैनात किया गया है। याद दिला दे, करीब दो वर्ष पूर्व जेल में बंद कुख्यात सुनील राठी ने पेशी पर आए मुन्ना बजरंगी की गोली मारकर हत्या कर दी थी।अब इस मामले की सीबीआई स्तर पर जांच चल रही है।


Popular posts from this blog

परीक्षितगढ़ क्षेत्र के ग्राम सिखैड़ा में महिला मिली कोरोना पॉजिटिव

मवाना में अवैध मीट कटान रोकने गई पुलिस टीम पर हमला 

माछरा गांव में खुलेआम उड़ाई जा रही हैं लॉक डाउन की धज्जियां