पत्रकार को धमकी देने वाले बिल्डर के खिलाफ केस दर्ज़,बिल्डर व गुर्गे फरार

युरेशिया नई दिल्ली। विश्व पत्रकार महासंघ दिल्ली प्रदेश ने मध्य जिला पुलिस उपायुक्त संजय भाटिया व एडिशनल डी सी पी रोहित कुमार मीणा को ज्ञापन व मांग पत्र सौंप कर पत्रकार मणि आर्य को धमकी देने वाले बिल्डर के खिलाफ मुकदमा दर्ज़ करके कार्रवाई की मांग की थी। पत्रकार मणि आर्य ने दिल्ली के पहाड़गंज में बाराही माता मंदिर में चल रहे अवैध निर्माण और निगम में फैले भ्रष्टाचार और भू - माफिया बिल्डर द्वारा सरकारी भूमि पर कब्जे को लेकर खबर को प्रकाशित की थी। जिसके बाद अब दिल्ली पुलिस ने सच दिखाकर प्रशासन को जगाने वाले स्थानीय पत्रकार मणि आर्य को धमकी देने वाले बिल्डर व उसके गुर्गों के खिलाफ नबी करीम थाना पुलिस भारतीय दंड सहिंता की धारा 506 के अंतर्गत रिपोर्ट संख्या 0013/2020 के तहत ने जान से मारने की धमकी देने का केस दर्ज़ कर लिया है। केस दर्ज़ होने की भनक लगते ही गिरफ्तारी के डर से आरोपी बिल्डर और उसके कई गुर्गे भूमिगत हो गए हैं। गौरतलब है की स्थनीय जनप्रतिनिधियों से सांठगांठ करके बिल्डर बड़े पैमाने पर अवैध निर्माण करने में माहिर माना जाता है इसलिए निगम पार्षद से लेकर महापौर तक मंदिर पर अवैध निर्माण को

आरोग्य सेतु एप डाउन लोड करने में गौतमबुद्धनगर अव्वल प्रदेश में एप के सबसे ज्यादा यूजर्स गौतमबुद्ध नगर के


  • गाजियाबाद दूसरे व लखनऊ तीसरे स्थान पर, मेरठ का नम्बर सातवां

  • अब तक प्रदेश में 1.22  करोड़ लोगों ने किया एप  डाउनलोड


  यूरेशिया संवाददाता


मेरठ । कोरोना वायरस के संक्रमण के खतरे और जोखिम का आकलन करने में मदद करने के लिए लांच किये गये आरोग्य सेतु एप को डाउनलोड करने के मामले में प्रदेश में गौतमबुद्ध नगर अव्वल है। गाजियाबाद दूसरे और लखनऊ तीसरे स्थान पर हैं । मेरठ सातवें नंबर पर है। प्राप्त विवरण के अनुसार प्रदेश में 30 अप्रैल तक करीब 1.22  करोड़ लोगों ने एप डाउन लोड किया है। आरोग्य सेतु एप को पिछले महीने दो अप्रैल को लॉन्च किया गया था । केन्द्र सरकार ने केन्द्रीय कर्मचारियों के लिए इस एप को डाउन लोड करना अनिवार्य कर दिया है।
   प्राप्त विवरण के अनुसार गौतमबुद्ध नगर जिले की आबादी 20.58 लाख है और वहां पर करीब 6.38 लाख  लोगों ने आरोग्य सेतु एप डाउन लोड किया है। आबादी के लिहाज से 31.02 प्रतिशत यूजर्स हैं । गाजियाबाद में  41.75 लाख की आबादी में से करीब 6.95 लाख  लोगों ने एप डाउन लोड किया है, जो कि 16.67 फ ीसद है । मेरठ में 43 लाख की आबादी में से करीब 2.97 लाख  लोगों ने एप डाउन लोड किया है। जिसका प्रतिशत 6.93 है। हापुड़ जिले में 16.71 लाख की आबादी में से 88006 लोगों ने एप डाउन लोड किया है। यह 5.27 प्रतिशत है। बागपत जिले में 16.27 लाख की आबादी में से 80326 लोगों ने एप डाउनलोड किया। यह आबादी के लिहाज से 4.94 प्रतिशत है। बुलंदशहर में 43.69 लाख लोगो में से करीब 2.11 लाख लोगों ने एप डाउनलोड किया है । इसका 4.84 प्रतिशत है।  सहारनपुर जिले के 43.29 लाख लोगों में से करीब 2.01 लाख  लोगों ने एप डाउनलोड किया। इसका 4.65 प्रतिशत है। मुजफ्फरनगर में 35.34 लाख लोगों में से करीब 1.51 लाख  लोगों ने एप डाउनलोड किया। इसका प्रतिशत 4.30 है। शामली में 16.40 लाख लोगों में से 61487 लोगों ने आरोग्य सेतु एप डाउन लोड किया है। इसका प्रतिशत 3.75 है।
लखनऊ के 57.32 लाख लोगों में से करीब 7.92 लाख  लोगों ने एप डाउनलोड किया। आबादी के हिसाब से यह 13.83 प्रतिशत है। प्रयागराज में 74.36 लाख लोगों में से 4.50 लाख  लोगों ने एप डाउनलोड किया, जो 6.06 प्रतिशत है। श्रावस्ती में 13.95 लाख आबादी में से 24727 लोगों ने एप डाउन लोड किया जो 1.77 प्रतिशत है। आबादी के हिसाब से यूजर्स के मामले में गौतमबुद्ध नगर पहले, गाजियाबाद दूसरे  और लखनऊ तीसरे नम्बर पर है। मेरठ सातवें नम्बर पर है। हापुड़ व बागपत 13वें व 15वें नम्बर पर जबकि बुंलदशहर 17 वें नम्बर पर है।
आरोग्य सेतु एप कुल 11 भाषाओं में उपलब्ध है। यह एंड्राइड और आईओएस दोनों को सपोर्ट करता है। इस ऐप की मदद से यूजर्स को अपने आस-पास कोरोना संक्रमित लोगों की जानकारी मिलती है। साथ ही इस ऐप में दिया गया सिस्टम आपको यह भी बताता है कि आप कोरोना संक्रमित हैं या नहीं।


Popular posts from this blog

परीक्षितगढ़ क्षेत्र के ग्राम सिखैड़ा में महिला मिली कोरोना पॉजिटिव

मवाना में अवैध मीट कटान रोकने गई पुलिस टीम पर हमला 

माछरा गांव में खुलेआम उड़ाई जा रही हैं लॉक डाउन की धज्जियां