थाना मवाना पुलिस द्वारा मात्र तीन घण्टे में घर से लापता बच्चा बरामद किया

Image
डॉ0 असलम/युरेशिया मवाना। धनवीर पुत्र विक्रम नि0 कौल थाना मवाना जनपद मेरठ द्वारा सूचना दी गयी कि उनका 14 वर्षीय पुत्र जो स्प्रिंग डेल स्कूल में पढता है घर से स्कूल गया था और वापस घर नही आया है तथा उसके मो0नं0 9528655319 से अपने छोटे भाई अमित के फोन पर व्हाटसअप मैसेज किया गया कि, मैं जा रहा हूँ अब कुछ बनकर ही घर वापस आऊँगा । मुझे तलाश करने की कोशिश मत करना । घर वालो ने किसी अनहोनी की आशंका प्रकट की है और बताया कि हमारा लड़का इस तरह से मैसेज नही कर सकता है । इस सूचना पर थाने से टीम गठित की गयी तथा सर्विलांस सैल की मदद ली गयी । प्राप्त मोबाइल नम्बर की लोकेशन से जो टॉवर लोकेशन मिली थी पुलिस द्वारा आसपास के गांव के जंगल व ट्यूबवैल तथा खाली पडे मकानो में टीम बनाकर ढूंढवाया गया । तो लगभग 3 घण्टे के अथक प्रयास के बाद लडके को कौल गांव के जंगल से सकुशल ढूंढ निकाला गया । पूछने पर लड़के ने बताया कि मेरे टीचर ने प्रोजेक्ट दिया था और मैं उसे पूरा नही कर पाया जिसके कारण मैं स्कूल न जाकर अपने घर से भाग गया था । मुझे डर था कि मेरे पिता मुझे मारेगें । इसलिए मैंने इस प्रकार के मैसेज किये थे ।

उत्तर प्रदेश श्रम कल्याण परिषद के अध्यक्ष ने बैठक कर अधिकारियों को दिए श्रमिकों व जरूरतमंदों को लाभ पहुंचाने के निर्देश



  • 100849 श्रमिकों को मिला आपदा राहत सहायता योजना का लाभ -पंडित सुनील भराला

  • लॉक डाउन की अवधि में श्रमिक को फैक्ट्री या संस्थान से निकालने वालो के विरुद्ध होगी कड़ी कार्यवाही - अध्यक्ष श्रम कल्याण परिषद


यूरेशिया संवाददाता


मेरठ उत्तर प्रदेश श्रम कल्याण परिषद के अध्यक्ष पंडित सुनील भराला ने आज सर्किट हाउस में श्रम विभाग के अधिकारियों के साथ बैठक कर उन्हें निर्देशित किया कि लॉक डाउन की अवधि में किसी भी श्रमिक को किसी भी संस्थान से ना निकला जाए यह सुनिश्चित किया जाए तथा श्रमिकों की समस्याओं का तत्काल निस्तारण किया जाए। उन्होंने कहा कि सरकार द्वारा आपदा राहत सहायता योजना अंतर्गत प्रत्येक पंजीकृत श्रमिकों को ₹1000 उनके बैंक खाते में दिए जाने का निर्णय लिया गया है जिसके क्रम में जनपद में 100849 मजदूरों को धनराशि उपलब्ध करा दी गई है जिसमें से 56678 श्रम विभाग के पंजीकृत श्रमिक हैं।
  उन्होंने स्पष्ट कहा कि अगर लॉक डाउन की अवधि में किसी श्रमिक को किसी फैक्ट्री या संस्थान ने नौकरी से निकाला तो उसके विरुद्ध कड़ी कार्यवाही अमल में लाई जाएगी। उन्होंने कहा कि लोग लॉक डाउन व सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करें तथा मास्क के स्थान पर तौलिए, गमछे, रुमाल का इस्तेमाल करें व सैनिटाइजर के स्थान स्थान पर साबुन या फिटकरी से हाथ धोए । उन्होंने श्रम विभाग के अधिकारियों से कहा कि कोई भी श्रमिक आपदा राहत सहायता योजना के लाभ से वंचित ना रहे इसका विशेष ध्यान रखें। उन्होंने उप श्रम आयुक्त से कहा कि दौराला में झारखंड के रहने वाले करीब 70 श्रमिक हैं उनको भोजन व अन्य सुविधाएं उपलब्ध कराएं।
  जिला पूर्ति अधिकारी नीरज सिंह ने बताया कि प्रधानमंत्री गरीब कल्याण योजना के अंतर्गत प्रत्येक राशन कार्ड धारक को 5 किलो चावल प्रति यूनिट निशुल्क उपलब्ध कराया जाएगा, यह प्रक्रिया आज से प्रारंभ कर दी गई है। उन्होंने कहा कि जिन पात्रों के अभी तक राशन कार्ड नहीं बने हैं उनके भी प्राथमिकता पर बनाए जा रहे हैं ताकि उन्हें भी योजना का लाभ दिया जा सके।
  उप श्रमआयुक्त दीप्तिमान भट्ट ने बताया कि श्रम विभाग में करीब 75254 पंजीकृत श्रमिक हैं जिनमें से 56678 को आपदा राहत सहायता योजना के अंतर्गत ₹1000 की धनराशि उनके बैंक खातों में अंतरित कर दी गई है। उन्होंने बताया कि विभिन्न नगर पंचायत, नगर निगम, छावनी परिषद व ब्लॉकों के माध्यम से करीब 44171 श्रमिकों को भी आपदा राहत सहायता योजना का लाभ देते हुए उनके खाते में भी ₹1000 की धनराशि अंतरित कर दी गई है। इस प्रकार जनपद में आज तक 100851 श्रमिकों के खाते में ₹1000 की धनराशि अंतरित कर दी गई है।
  इस अवसर पर उप श्रम आयुक्त दीप्तिमान भट्ट, जिला पूर्ति अधिकारी नीरज सिंह, सहायक श्रम आयुक्त सुमित सहित अन्य अधिकारी उपस्थित रहे।


Popular posts from this blog

मेरठ में महिला ने तीन बेटियों समेत खुद की गर्दन काटी, एक की मौत

मवाना में अवैध मीट कटान रोकने गई पुलिस टीम पर हमला 

परीक्षितगढ़ क्षेत्र के ग्राम सिखैड़ा में महिला मिली कोरोना पॉजिटिव