थाना मवाना पुलिस द्वारा मात्र तीन घण्टे में घर से लापता बच्चा बरामद किया

Image
डॉ0 असलम/युरेशिया मवाना। धनवीर पुत्र विक्रम नि0 कौल थाना मवाना जनपद मेरठ द्वारा सूचना दी गयी कि उनका 14 वर्षीय पुत्र जो स्प्रिंग डेल स्कूल में पढता है घर से स्कूल गया था और वापस घर नही आया है तथा उसके मो0नं0 9528655319 से अपने छोटे भाई अमित के फोन पर व्हाटसअप मैसेज किया गया कि, मैं जा रहा हूँ अब कुछ बनकर ही घर वापस आऊँगा । मुझे तलाश करने की कोशिश मत करना । घर वालो ने किसी अनहोनी की आशंका प्रकट की है और बताया कि हमारा लड़का इस तरह से मैसेज नही कर सकता है । इस सूचना पर थाने से टीम गठित की गयी तथा सर्विलांस सैल की मदद ली गयी । प्राप्त मोबाइल नम्बर की लोकेशन से जो टॉवर लोकेशन मिली थी पुलिस द्वारा आसपास के गांव के जंगल व ट्यूबवैल तथा खाली पडे मकानो में टीम बनाकर ढूंढवाया गया । तो लगभग 3 घण्टे के अथक प्रयास के बाद लडके को कौल गांव के जंगल से सकुशल ढूंढ निकाला गया । पूछने पर लड़के ने बताया कि मेरे टीचर ने प्रोजेक्ट दिया था और मैं उसे पूरा नही कर पाया जिसके कारण मैं स्कूल न जाकर अपने घर से भाग गया था । मुझे डर था कि मेरे पिता मुझे मारेगें । इसलिए मैंने इस प्रकार के मैसेज किये थे ।

सस्ते गल्ले की दुकान से राशन लेने के लिए चार पहिया वाहन चालक ओर सरकारी कर्मचारी भी बन रहे गरीब

यूरेशिया संवाददाता


मेरठ ...सरकार ने सभी गरीब परिवार को पेट भर भोजन मिल सके, इसके लिए राष्ट्रीय खाद्य सुरक्षा अधिनियम बनाया है। इसके तहत ग्रामीण क्षेत्रों में दो लाख रुपये और शहरी क्षेत्रों में तीन लाख रुपये सालाना आय वाले परिवारों को दो रुपये किलो गेहूं और तीन रुपये किलो चावल दिया जाना है। जान कारी मिली है इस लाभ का फायदा कुछ सरकारी व्यक्ति और जिनके घर में ए सी कार तक लगे हुए है वो भी ले रहे है इन के राशन कार्ड तो बन गए बावजूद इसके इतने  राशन कार्ड बन जाने के बाद भी गरीब, और विधवाओं का राशन कार्ड नहीं बन पाया है। इसका खुलासा होने पर आपूर्ति विभाग ने दर्जन भर से अधिक राशन कार्ड निरस्त कर दिए हैं। शासन ने आपूर्ति  विभाग के अफसरों को आदेश दिया है कि गलत सूचना देकर राशन कार्ड बनाने वालों की जांच करेंऔर पकड़े जाने पर संबंधित व्यक्ति का राशन कार्ड निरस्त करने के साथ ही उठाए गए खाद्यान्न की कीमत वसूल करें और कानूनी कार्रवाई भी करें। जिला पूर्ति अधिकारी नीरज सिंह  ने बताया कि गलत सूचना पर बने कुछ राशन कार्ड निरस्त करने की कवायद शुर कर दी गई है। राशन वितरण समाप्त होने के बाद सत्यापन किया जाएगा। गलत तरीके से बनाए गए राशन कार्ड को निरस्त किया जाएगा। इसके अलावा नए आवेदनों की गंभीरता से जांच कराई जा रही है।--.


Popular posts from this blog

मेरठ में महिला ने तीन बेटियों समेत खुद की गर्दन काटी, एक की मौत

मवाना में अवैध मीट कटान रोकने गई पुलिस टीम पर हमला 

परीक्षितगढ़ क्षेत्र के ग्राम सिखैड़ा में महिला मिली कोरोना पॉजिटिव