4 दिन से लापता युवक की गुमशुदगी की दी तहरीर

Image
लापता बच्चे का फोटो डॉ असलम/ युरेशिया  बहसूमा। नगर के मोहल्ला चैनपुरा का रहने वाला एक 17 वर्षीय युवक संदिग्ध परिस्थितियों में लापता हो गया। परिजन 4 दिनों से उसकी तलाश में जुटे हुए थे। लेकिन कोई सफलता नहीं मिली। गायब हुए बच्चे के पिता ने थाने पर गुमशुदगी दर्ज कराने के लिए तहरीर दी है। पुलिस मामले की जांच में जुट गई है। थाने पर तहरीर देते हुए लापता हुए एक बच्चे के पिता शकील पुत्र सिराजुद्दीन ने बताया कि उसका पुत्र नईम उम्र 17 वर्ष बीते 28 फरवरी को घर से बिना बताए चला गया। जब 1 मार्च की शाम तक घर नहीं लौटा तो उसकी रिश्तेदारी एवं संबंधियों में तलाश की। लेकिन कोई सफलता नहीं मिली। पीड़ित ने थाने पर गुमशुदगी की तहरीर देते हुए बरामदगी की मांग की है। थाना प्रभारी निरीक्षक मनोज चौधरी का कहना है कि तहरीर के आधार पर जांच कर कार्रवाई की जाएगी।

पिलखुवा पुलिस को कोतवाली को मिली बड़ी सफलता शातिर ठग गिरफ्तार 


यूरेशिया संवाददाता


जनपद हापुड़ के थाना कोतवाली पिलखुवा पुलिस  द्वारा एक बड़ी सफलता हाथ लगी जब पुलिस टीम ने एक शातिर ठग को 60 डीवीआर जिनकी कीमत लगभग एक लाख आठ हजार रुपये व मोबाइल फोन आदि बरामद किए। पुलिस अधीक्षक के निर्देश अनुसार क्षेत्रीय अधिकारी व थाना कोतवाली प्रभारी के कुशल नेतृत्व में आज पिलखवा पुलिस द्वारा उप निरीक्षक वासुदेव चौकी छिजारसी क्षेत्र टोल प्लाजा के पास से कंपनी मालिक आकाश सिंगल पुत्र अनिल कुमार सिंघल निवासी अजनारा होम्स सेक्टर 16 बी नोएडा एक्सटेंशन थाना बिसरख जिला गौतम बुद्ध नगर की सूचना पर एक शातिर अभियुक्त जिसके द्वारा अपना नाम अजय परिहार संत सिक्योरिटी सिस्टम में डिस्ट्रीब्यूटर बता कर सामान खरीदने वाली पार्टी एक कंप्यूटर खरीदने के लिए फोन करता था तथा उनके एडवांस रूपए आरटीजीएस के माध्यम से ग्राहक के अकाउंट से कंपनी के अकाउंट में रुपए डलवा कर कंपनी से सन सिक्योरिटी सिस्टम कंपनी से दूसरा माल लेकर ग्राहकों तक नहीं पहुंचा कर अलग कहीं भेज दिया करता था जो कि इसके लिए यह फर्जी आईडी का प्रयोग करता था दिनांक 4 फरवरी 2020 को कछुआ के रहने वाले विकास गुप्ता के साथ भी इसी प्रकार से अपना नाम अजय परिहार बताकर कंप्यूटर की डील कर अपने खाते में 420000 रुपये डलवा कर कंपनी से कंप्यूटर के बदले डीवीआर खरीद कर विकास गुप्ता को माल पहुंचा कर अलग कहीं भेज दिया जिस संबंध में थाना विकास गुप्ता द्वारा 20 फरवरी 2020 को एक मुकदमा पंजीकृत कराया गया था पंजीकृत होने के बाद से इसका कहीं पता नहीं चल पा रहा था पुलिस इस फर्जी नटवरलाल को पकड़ने के लिए जाल बिछाए बैठी थी कंपनी मालिक आकाश सिंगल द्वारा उप निरीक्षक वासुदेव सिंह को बताया कि मेरे पास उस मोबाइल नंबर से फोन आ रहा है जिस मोबाइल नंबर से उस व्यक्ति द्वारा पिलखवा के रहने वाले विकास गुप्ता का बुक हुआ माल उस तक नहीं पहुंच जा कर रहा है कुछ माल बचा है जो बिका नहीं उस माल को वापस ले लो इस पर शक होने पर मालिका का सिंगल द्वारा उसे टोल प्लाजा पर बुला लिया तथा अजय परिहार नामक व्यक्ति को टोल प्लाजा से गिरफ्तार किया गया जिससे पूछताछ पर बताया कि उसका असली नाम गगन गर्ग संजय कुमार गर्ग निवासी स्वामी श्रद्धानंद कॉलोनी भलस्वा डेरी थाना दिल्ली है तथा उसकी निशानदेही पर उसके कब्जे से डीवीआर व अन्य फर्जी सिम डालकर धोखाधड़ी करता था बरामद किया गया है।
बाईट-co डॉक्टर तेजवीर सिंह


Popular posts from this blog

मेरठ में महिला ने तीन बेटियों समेत खुद की गर्दन काटी, एक की मौत

यूपी पंचायत चुनाव : मेरठ में ग्राम प्रधान पदों की आरक्षण सूची जारी, देखें ब्लॉकवार आरक्षण की सूची

मवाना में अवैध मीट कटान रोकने गई पुलिस टीम पर हमला