मुख्यमंत्री आरोग्य मेले में ३२३० लोगों ने उपचार का लाभ उठाया

युरेशिया संवाददाता    मेरठ। रविवार को जिले के ५७ प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्रों (पीएचसी) पर मुख्यमंत्री आरोग्य स्वास्थ्य मेले का आयोजन किया गया। पूरे जनपद में करीब ३२३० लोगों ने मेले का लाभ उठाया। आरोग्य मेले के लिये १०७ चिकित्सकों ४४३ पैरा मेडिकल स्टाफ की सेवाएं ली गयीं । इस दौरान ५०७ आयुष्मान कार्ड वितरित किये गये।  मुख्यमंत्री आरोग्य मेले में ११७६  पुरुष, ११६७ महिलाओं,  ३८७ बच्चों ने पंजीकरण कराया। मुख्यमंत्री आरोग्य मेले में १४९४ कोरोना (एंटीजन) जांच की गयी। कोविड हेल्प डेस्क पर २०४१ लोगों का परीक्षण किया गया। स्वास्थ्य मेले में सबसे ज्यादा मरीज ७४५ चर्म रोग के आये।  मेले में मौसमी बीमारियों की जांच के अलावा प्रजनन स्वास्थ्य संबंधी सेवाओं के साथ गर्भवती, बाल और किशोर स्वास्थ्य से जुड़ी जांच पर खास जोर रहा। नवदम्पति को परिवार नियोजन के प्रति जागरूक करते हुए उनकी पसंद के परिवार नियोजन के साधन उपलब्ध कराये गये। मेले में कोविड प्रोटोकाल का पूरी तरह से पालन किया गया।   मुख्य चिकित्सा अधिकारी डा अखिलेश मोहन ने बताया सभी पीएचसी पर आयोजित मेले में १२४६ पुरुषों, १४५४ महिलाओं व ४१९ बच्चों का पं

निबंधन कार्यालयों में लेखपत्रों के पंजीकरण की प्रक्रिया कुछ शर्तों के साथ प्रारंभ- अपर जिला अधिकारी वित्त


  • ई स्टांप के माध्यम से ही स्वीकार किया जाएगा स्टांप शुल्क, ऑनलाइन ही जमा होगा पंजीकरण शुल्क - सुभाष चंद्र प्रजापति


यूरेशिया संवाददाता


मेरठ  जिला अधिकारी वित्त सुभाष चंद्र प्रजापति ने बताया कि प्रदेश के निबंधन कार्यालयों में लेखपत्रों के पंजीकरण की प्रक्रिया कुछ शर्तों के साथ प्रारंभ करने का निर्णय शासन स्तर पर लिया गया है । उन्होंने बताया कि लॉक डाउन की अवधि में केवल ई स्टांप के माध्यम से ही स्टांप शुल्क स्वीकार किया जाएगा, नगद पंजीकरण शुल्क अदायगी प्रतिबंधित रहेगी, पंजीकरण शुल्क केवल ऑनलाइन ही स्वीकार किया जाएगा। उन्होंने बताया कि कार्यालय परिसर में सोशल डिस्टेंसिंग सैनिटाइजेशन एवं मांस्क का प्रयोग अनिवार्य रहेगा, मात्र उन्हीं व्यक्तियों को करा ले आने की अनुमति होगी जिनके पास आरोग्य सेतु एप एक्टिव रूप से उपलब्ध होगा।  
 उन्होंने बताया कि निबंधन कार्यालयों में लेखपत्रों के पंजीकरण की प्रक्रिया के संबंध में शासन से पत्र प्राप्त हुआ है। प्रदेश के जनपदों के निबंधन कार्यालयों में निबंधन प्रक्रिया प्रारंभ किए जाने के निर्देश प्राप्त हुए हैं केवल ई स्टांप के माध्यम से ही स्टांप शुल्क स्वीकार किया जाएगा।उन्होंने बताया कि किसी भी दशा में बिना पूर्व अपॉइंटमेंट के पंजीकरण हेतु कार्यालयों में पक्षकारों की उपस्थिति अनुमन्य नहीं होगी। कर्मचारियों की उपस्थिति रोस्टर के अनुसार निर्धारित की जाएगी।


Popular posts from this blog

यूपी पंचायत चुनाव : मेरठ में ग्राम प्रधान पदों की आरक्षण सूची जारी, देखें ब्लॉकवार आरक्षण की सूची

मेरठ में महिला ने तीन बेटियों समेत खुद की गर्दन काटी, एक की मौत

मुरादनगर में दर्दनाक हादसा, अंतिम संस्कार में गए लोगों पर गिरने से 23 की मौत, CM ने मांगी रिपोर्ट