4 दिन से लापता युवक की गुमशुदगी की दी तहरीर

Image
लापता बच्चे का फोटो डॉ असलम/ युरेशिया  बहसूमा। नगर के मोहल्ला चैनपुरा का रहने वाला एक 17 वर्षीय युवक संदिग्ध परिस्थितियों में लापता हो गया। परिजन 4 दिनों से उसकी तलाश में जुटे हुए थे। लेकिन कोई सफलता नहीं मिली। गायब हुए बच्चे के पिता ने थाने पर गुमशुदगी दर्ज कराने के लिए तहरीर दी है। पुलिस मामले की जांच में जुट गई है। थाने पर तहरीर देते हुए लापता हुए एक बच्चे के पिता शकील पुत्र सिराजुद्दीन ने बताया कि उसका पुत्र नईम उम्र 17 वर्ष बीते 28 फरवरी को घर से बिना बताए चला गया। जब 1 मार्च की शाम तक घर नहीं लौटा तो उसकी रिश्तेदारी एवं संबंधियों में तलाश की। लेकिन कोई सफलता नहीं मिली। पीड़ित ने थाने पर गुमशुदगी की तहरीर देते हुए बरामदगी की मांग की है। थाना प्रभारी निरीक्षक मनोज चौधरी का कहना है कि तहरीर के आधार पर जांच कर कार्रवाई की जाएगी।

*मेरठ में कोरोना से तीसरी मौत की पुष्टि, सील किया गया संतोष हॉस्पिटल, अस्पतालकर्मी की कल हुई थी मौत*

यूरेशिया संवाददाता


मेरठ। शहर में कोरोना से तीसरी मौत पर स्वास्थ्य विभाग ने भी मुहर लगा दी। कल देर रात मेडिकल कॉलेज में दम तोड़ने वाले व्यक्ति का कोरोना टेस्ट पॉजीटिव पाया गया है। इसके साथ ही पुलिस प्रशासन ने हापुड़ रोड स्थित संतोष अस्पताल को भी सील कर दिया। मृतक व्यक्ति अस्तपाल में ही अकाउंटेंट थे। वहीं उसके पूरे परिवार को भी क्वारांटाइन किया गया है।
मेडिकल कॉलेज में कोरोना वार्ड के प्रभारी डा. तुंगवीर आर्य ने पत्रकारों से बात करते हुए जानकारी दी कि कल दोपहर को उक्त व्यक्ति को काफी गंभीर हालत में मेडिकल कॉलेज में भर्ती कराया गया था। तभी से उनकी हालत गंंभीर बनी हुई थी। शाम पांच बजे के करीब उन्हें वेंटीलेटर पर रखा गया। जहां रात डेढ़ बजे के करीब उन्होंने दम तोड़ दिया।ण उनकी जांच रिपोर्ट में कोरोना की पुष्टि हुई है। डा. आर्य ने बताया कि मरीज के परिवारवालों से बातचीत करने पर उन्होंने बताया कि वह दो दिन संतोष अस्पताल में भी भर्ती रहे थे, जहां से उनकी छुट्टी कर दी गई थी। उन्हें आराम नहीं लगा तो परिवारवाले कल मेडिकल कॉलेज लेकर आए।
उनके बच्चों ने बताया है कि वह संतोष अस्पताल में ही अकाउंटेंट के तौर पर काम करते थे। अब उनके परिवार का भी टेस्ट कराया जा रहा है। परिवार को क्वारांटाइन कर दिया गया है। उनकी दो बेटियां हैं और एक बेटा है। उनकी पत्नी सहित चारों लोगों को क्वारांटाइन किया जाएगा। डॉक्टर आर्य ने बताया कि उनकी बेटी को भी खांसी की दिक्कत है। जानकारी के अनुसार मृतक गढ़ रोड स्थित राजनगर कॉलोनी का रहने वाला था। वहीं कोरोना पीड़ित की मौत के बाद पुलिस ने संतोष अस्पताल को सील करते हुए पूरे स्टाफ को क्वारांटाइन कर दिया गया है। बताया जा रहा है कि स्टाफ को क्वारांटाइन किया जाएगा। वहीं संतोष अस्पताल के खिलाफ कार्रवाई की बात भी कही जा रही है। कोरोना पीड़ित को दो दिन तक अस्पताल में एडमिट रखने की जानकारी प्रबंधन की ओर से प्रशासन को नहीं दी गई। जिसकी वजह से अस्पताल के बाकी लोगों में कोरोना संक्रमण की आशंका बढ़ गई है।


Popular posts from this blog

मेरठ में महिला ने तीन बेटियों समेत खुद की गर्दन काटी, एक की मौत

यूपी पंचायत चुनाव : मेरठ में ग्राम प्रधान पदों की आरक्षण सूची जारी, देखें ब्लॉकवार आरक्षण की सूची

मवाना में अवैध मीट कटान रोकने गई पुलिस टीम पर हमला