मुख्यमंत्री आरोग्य मेले में ३२३० लोगों ने उपचार का लाभ उठाया

युरेशिया संवाददाता    मेरठ। रविवार को जिले के ५७ प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्रों (पीएचसी) पर मुख्यमंत्री आरोग्य स्वास्थ्य मेले का आयोजन किया गया। पूरे जनपद में करीब ३२३० लोगों ने मेले का लाभ उठाया। आरोग्य मेले के लिये १०७ चिकित्सकों ४४३ पैरा मेडिकल स्टाफ की सेवाएं ली गयीं । इस दौरान ५०७ आयुष्मान कार्ड वितरित किये गये।  मुख्यमंत्री आरोग्य मेले में ११७६  पुरुष, ११६७ महिलाओं,  ३८७ बच्चों ने पंजीकरण कराया। मुख्यमंत्री आरोग्य मेले में १४९४ कोरोना (एंटीजन) जांच की गयी। कोविड हेल्प डेस्क पर २०४१ लोगों का परीक्षण किया गया। स्वास्थ्य मेले में सबसे ज्यादा मरीज ७४५ चर्म रोग के आये।  मेले में मौसमी बीमारियों की जांच के अलावा प्रजनन स्वास्थ्य संबंधी सेवाओं के साथ गर्भवती, बाल और किशोर स्वास्थ्य से जुड़ी जांच पर खास जोर रहा। नवदम्पति को परिवार नियोजन के प्रति जागरूक करते हुए उनकी पसंद के परिवार नियोजन के साधन उपलब्ध कराये गये। मेले में कोविड प्रोटोकाल का पूरी तरह से पालन किया गया।   मुख्य चिकित्सा अधिकारी डा अखिलेश मोहन ने बताया सभी पीएचसी पर आयोजित मेले में १२४६ पुरुषों, १४५४ महिलाओं व ४१९ बच्चों का पं

-”धरा बचेगी - तो जीवन बचेगा“ स्लोगन के साथ ”विम्स“ मैडिकल काॅलिज एवं वेंक्टेष्वरा संस्थान में सोषल डिस्टेन्सिंग के साथ वृहद “वृक्षारोपण”



  • पृथ्वी हमारी जननी है, इसे नुकसान पहुँचाने वाले हर कृत्य के विरूद्ध मिलकर आवाज उठायें-डाॅ0 सुधीर गिरि, ग्रुप चैयरमैन वैंक्टेष्वरा समूह मेरठ/गजरौला

  •  वृहद वृक्षारोपण के साथ-2 पर्यावरण संरक्षण एवं सर्वधन की भी शपथ लें - डाॅ0 राजीव त्यागी, प्रतिकुलाधिपति श्री वेंक्टेष्वरा विष्वविद्यालय मेरठ/गजरौला


यूरेशिया संवाददाता


मेरठ। आज बुधवार ”विष्व पृथ्वी दिवस“ (वल्र्ड अर्थ डे-22 अप्रैल) को राष्ट्रीय राजमार्ग स्थित श्री वेंक्टेष्वरा संस्थान में पर्यावरण एवं जल संरक्षण की शपथ के साथ ”वृहद वृक्षारोपण अभियान“ चलाकर विष्व मंगलकामना के साथ हरियाली एवं प्रकृति सर्वधन एवं जगत जननी पृथ्वी को बचाने की अपील की गयी।
कार्यक्रम का शुभारम्भ समूह चैयरमैन डाॅ0 सुधीर गिरि, प्रतिकुलाधिपति डाॅ0 राजीव त्यागी एवं कुलपति प्रौ0 पी.के.भारती ने सोषल डिस्टेन्सिंग अपनाते हुए वृक्षारोपण करके किया।
अपने सम्बोधन में समूह चैयरमैन डाॅ0 सुधीर गिरि ने कहा कि पूरा विष्व इस समय वैष्विक स्वास्थ्य महामारी ”कोरोना“ के संकट से जूझ रहा है। ऐसे में भी प्रकृति के करीब रहने वाले, आॅरगैनिक, आयुर्वेदिक एवं नैचुरल्स उत्पादों के दम पर अपनी प्रतिरोधक क्षमता बढाने वाले लोगो ने रासायनिक /कृत्रिम डिब्बाबन्द खाद्य पदार्थो एवं मांसाहारी लोगो के मुकाबले इस बीमारी को मात देने में या इससे बचे रहने में ज्यादा कारगर सिद्ध हुए है। इसलिए प्रकृति संरक्षण के साथ-2 सभी लोगो को नैचुरल्स तरीकों से अपनी प्रतिरोधक क्षमता बढाने पर काम करना होगा।
प्रतिकुलाधिपति डाॅ0 राजीव त्यागी ने जगत जननी धरा को बचाने के लिए वृक्षारोपण के साथ-2 जल संरक्षण करने एवं प्लास्टिक व पाॅलोथिन पर पूरे विष्व में पूर्णतया प्रतिबन्ध लगाने की अपील की। इस अवसर पर ”विम्स“ मल्टीस्पेषियलिटी हाॅस्पिटल के मुख्य चिकित्सा अधीक्षक डाॅ0 सुषील शर्मा, कुलसचिव डाॅ0 पीयूष पाण्डेय, परिसर निदेषक डाॅ0 राजेष पाठक, डाॅ0 एस.पी.पाण्डेय, डाॅ0 स्मृति श्रीवास्तव, उपनिदेषक दूरस्थ षिक्षा डाॅ0 अल्का सिंह, नर्सिंग हैड पोलीन प्रषासनिक अधिकारी अरूण गोस्वामी, मीडिया प्रभारी विष्वास राणा, सुगन्धा सिन्हा आदि उपस्थित रहें।


Popular posts from this blog

यूपी पंचायत चुनाव : मेरठ में ग्राम प्रधान पदों की आरक्षण सूची जारी, देखें ब्लॉकवार आरक्षण की सूची

मेरठ में महिला ने तीन बेटियों समेत खुद की गर्दन काटी, एक की मौत

मुरादनगर में दर्दनाक हादसा, अंतिम संस्कार में गए लोगों पर गिरने से 23 की मौत, CM ने मांगी रिपोर्ट