विम्स मेडिकल काॅलेज में "मिशन शक्ति अभियान एवं महिला सशक्तिकरण" पर दो दिवसीय आत्मरक्षा शिविर का आयोजन

Image
हिमा दास, बछेन्द्रीपाल, मैरीकाॅम, किरन बेदी जैसी विख्यात मातृशक्ति ने केवल मानसिक मजबूती एवं सघर्ष के दम पर पूरी दुनिया में भारत का डंका बजाया- डाॅ सुधीर गिरि, चेयरमैन, वेंक्टेश्वरा समूह अनीस खान यूरेशिया ब्यूरो मेरठ। राष्ट्रीय राजमार्ग बाईपास स्थित श्री वेंक्टेश्वरा विश्वविद्यालय द्वारा संचालित विम्स मेडिकल काॅलेज में मिशन शक्ति अभियान के तहत महिला सशक्तिकरण की दिशा में प्रभावी पहल करते हुए मेडिकल एवं नर्सिंग की छात्राओ के लिए दो दिवसीय आत्मरक्षा शिविर का शानदार आयोजन किया गया। इस अवसर पर अन्तर्राष्ट्रीय महिला दिवस के लिए विभिन्न क्षेत्रो में राष्ट्रीय एवं अन्तर्राष्ट्रीय स्तर पर अपनी शानदार उपस्थिति दर्ज कराने वाली 82 महिलाओ एवं बालिकाओ को लक्ष्मीबाई नारी/बालिका शक्ति सम्मान 2021 से नवाजा गया। विश्वविद्यालय के डाॅ सीवी रमन सभागार में आयोजित दो दिवसीय आत्मरक्षा शिविर एवं लक्ष्मीबाई नारी/ बालिका शक्ति सम्मान-2021 समारोह का शुभारम्भ वेंक्टेश्वरा समूह के चेयरमैन डाॅ सुधीर गिरि, प्रतिकुलाधिपति डाॅ राजीव त्यागी, डीन मेडिकल बिगे्रडियर डाॅ सतीश अग्रवाल, नर्सिंग डीन डाॅ एना ब्राउन, विख्यात स्

आपुर्ति विभाग की लापरवाही से जनता हो रही परेशान

.यूरेशिया संवाददाता


मेरठ। अगर आपुर्ति विभाग समय रह्ते चेत जाता तो शायद सस्ते गल्ले वालो मे आज सुधार होता लॉक डाउन के चलते सरकार भले ही गरीब और जरूरतमंदों की मदद के लिये  सरकारी सस्ते गल्ले की दुकान पर दो रुपये किलो गेन्हु ओर तीन रुपये किलो चावल के साथ साथ फ़्री चावल  का वितरण करा रही है  लेकिन आज भी काफी लोग इस मदद से वंचित हैं। कई बार फ़ार्म भरे गये ओन लाइन भी किया गया लेकिन उनका राशन कार्ड नही बना बावजूद इस्के इस लाभ का फ़ायदा कुछ सरकारी व्यक्ति ओर चार पहिया वाहन. स्वामी  उठा रहे है सरकार ने सभी गरीब परिवार को पेट भर भोजन मिल सके, इसके लिए राष्ट्रीय खाद्य सुरक्षा अधिनियम बनाया है। इसके तहत ग्रामीण क्षेत्रों में दो लाख रुपये और शहरी क्षेत्रों में तीन लाख रुपये सालाना आय वालो को इस का लाभ मिलेगा लेकिन आज भी काफ़ी गरीब, और विधवाओं का राशन कार्ड नहीं बन पाया है।जिनके घर मे ए सी कार है उनके राशन कार्ड बने होने का खुलासा होने पर आपूर्ति विभाग ने  काफ़ी संख्या मे राशन कार्ड निरस्त कर दिए हैं। लेकिन आज भी कुछ ऐसे राशन कार्ड धारक है जिन्की आय तीन लाख सालाना से उपर है उनके घर मे चार पहिया वाहन भी है ओर वो सस्ते गल्ले की दुकान पर अक्सर आराम से खड़े राशन लेते नजर आते है. फ़िल्हाल शासन ने आपूर्ति  विभाग के अफसरों को आदेश दिया है कि गलत सूचना देकर राशन कार्ड बनाने वालों की जांच करेंऔर पकड़े जाने पर संबंधित व्यक्ति का राशन कार्ड निरस्त करने के साथ ही उठाए गए खाद्यान्न की कीमत वसूल करें और कानूनी कार्रवाई भी करें। जिला पूर्ति अधिकारी नीरज सिंह  ने बताया कि गलत सूचना पर बने कुछ राशन कार्ड निरस्त करने की कवायद शुर कर दी गई है।  गलत तरीके से बनाए गए राशन कार्ड को निरस्त किया जाएगा। इसके अलावा नए आवेदनों की गंभीरता से जांच कराई जा रही है।--......


Popular posts from this blog

यूपी पंचायत चुनाव : मेरठ में ग्राम प्रधान पदों की आरक्षण सूची जारी, देखें ब्लॉकवार आरक्षण की सूची

मेरठ में महिला ने तीन बेटियों समेत खुद की गर्दन काटी, एक की मौत

मुरादनगर में दर्दनाक हादसा, अंतिम संस्कार में गए लोगों पर गिरने से 23 की मौत, CM ने मांगी रिपोर्ट