क्राइम ब्रांच ओर मिर्जापुर पुलिस की 25000 के इनामी बदमाश से मुठभेड़

Image
मुठभेड़ के दौरान घायल बदमाश गिरफ्तार   एक दरोगा भी  घायल युरेशिया संवाददाता सहारनपुर। मिर्जापुर पुलिस ओर क्राइम ब्रांच की सयुक्त कार्यवाही में 25000 का इनामी बदमाश पुलिस की गोली लगने से हुआ घायल फतेहपुर पुलिया हथनीकुंड बैराज क्षेत्र में पुलिस चेकिंग के दौरान मोटरसाइकिल सवार बदमाश से मुठभेड़ गयी आत्मरक्षा में की गई जबाबी फायरिग में मुठभेड़ के दौरान पुलिस की गोली लगने से एक बदमाश घायल हो गया-वही मिर्जापुर थाने के उप नि0 वीरेन्द्र सिंह भी  घायल हो गये मिर्जापुर थाना प्रभारी निरीक्षक अमरदीप लाल ने मुठभेड़ की पुष्टि करते हुए बताया कि 25000 का इनामी बदमाश अफजाल उर्फ नाथी निवासी हुसैनपुरा थाना बेहट  पुलिस की गोली लगने से घायल बदमाश गिरफ्तार कर लिया गया जिसके कब्जे से पुलिस ने बिना नम्बर की मोटरसाइकिल अवैध तमंचा कारतूस बरामद करने में महत्वपूर्ण सफलता हासिल की, घायलों को उपचार हेतु जिला अस्पताल भेजा गया। गिरफ्तार करने वाली पुलिस थाना मिर्जापुर प्रभारी निरीक्षक अमरदीप लाल, जयबीर सिंह प्रभारी स्वाट टीम सहारनपुर, अजब सिंह प्रभारी सर्विलांस टीम सहारनपुर, अजय गौड़ प्रभारी अभिसूचना विंग सहारनपुर, एसएसआई

वेंक्टेश्वरा का ग्रामीण शिक्षा प्रबन्धन के लिए मानव संसाधन विकास के लिए भारत सरकार से करार

यूरेशिया संवाददाता
मेरठ। आदर्श ग्राम परिकल्पना में ग्रामीण विकास प्रबन्धन का शैक्षणिक अनुबन्ध मील का पत्थर साबित होगा। ग्राम्य विकास प्रबन्धन में भारत सरकार के साथ शैक्षणिक करार करने वाला श्री वेंक्टेश्वरा विश्वविद्यालय उत्तर भारत का पहला निजी विश्वविद्यालय हो गया है। उक्त जानकारी विवि के प्रतिकुलाधिपति राजीव त्यागी ने दी।
उन्होंने बताया कि ग्रामीण क्षेत्रो में अन्तोदय तक आदर्श गाँव की परिकल्पना को साकार करते हुए ग्राम्य विकास प्रबन्धन में भारत सरकार के साथ मिलकर जुलाई 2020 से यूजी एवं पीजी पाठ्यक्रम शुरु करेगा। रूरल मेनेजमेन्ट में भारत सरकार के साथ मिलकर पाठ्यक्रम शुरु करने वाला श्री वेंक्टेश्वरा विश्वविद्यालय उत्तर भारत का पहला निजी शिक्षण संस्थान, विश्वविद्यालय है। आयोजित इस ऐतिहासिक अनुबन्ध पर विश्वविद्यालय के कुलपति प्रो. पीके भारती एवं महात्मा गाँधी ग्रामीण शिक्षा परिषद भारत सरकार के निदेशक डा. पी राजेश्वर जोनालगडडा ने हस्ताक्षर कर करार की प्रतिलिपि एक दूसरे को सौंपी।
विश्वविद्यालय के कुलाधिपति डा. सुधीर गिरि ने इसे ऐतिहासिक अनुबन्ध बताते हुए इसका पूरा श्रेय विश्वविद्यालय के योग्य एवं अनुभवी शिक्षको की टीम को दिया है। उन्होने कहा कि इस नवीन पाठ्यक्रम में जहां एक ओर ढेरो रोजगार के अवसर उपलब्ध है, वही दूसरी और इससे गाँवो के विकास एवं सामाजिक व आर्थिक उत्थान के नये आयाम स्थापित होगे। इस मौके पर कुलसचिव प्रो. पीयूष पाण्डे, निदेशक डा. प्रभात श्रीवास्तव, डा. रमेश पाठक, डा. एसपी पाण्डे, अल्का सिंह, शिवी वत्स, मीडिया प्रभारी विश्वास राणा आदि मौजूद रहे।                                                                    

कार्यक्रम में उपस्थित विवि के शिक्षकगण।


Popular posts from this blog

परीक्षितगढ़ क्षेत्र के ग्राम सिखैड़ा में महिला मिली कोरोना पॉजिटिव

मवाना में अवैध मीट कटान रोकने गई पुलिस टीम पर हमला 

माछरा गांव में खुलेआम उड़ाई जा रही हैं लॉक डाउन की धज्जियां